गणेश विसर्जन करने गया 6 बहनों का इकलौता भाई डूबा:पैर फिसलने से हुआ हादसा; परिवार के पास नहीं थे गोताखोर को देने को पैसे, 21 घंटे बाद सामाजिक संस्थाओं ने जुटाकर बुलाए गोताखोर

करनाल8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गणेश विसर्जन के दौरान हादसे का शिकार हुआ युवक सौरभ। - Dainik Bhaskar
गणेश विसर्जन के दौरान हादसे का शिकार हुआ युवक सौरभ।

हरियाणा के कैथल जिले में 17 साल का सौरभ प्यौदा नहर में डूब गया। वो परिवार के साथ नहर में गणेश विसर्जन करने के लिए गया था। लेकिन पांव फिसलने से वह नहर में गिर गया और गहराई में पहुंच गया। 21 घंटे बीतने के बाद भी उसका कोई सुराग नहीं लग पाया है। परिवार वालों के पास पैसे नहीं होने के कारण वो समय रहते गोताखोरों को नहीं बुला पाए।

प्योदा रोड पर हर साल गणेश उत्सव मनाया जाता है। यूपी के मजदूर फ्रेंड्स कॉलोनी कैथल में रहते हैं, जो 11 दिन की पूजा के बाद शनिवार को प्यौदा रोड पर बनी नहर में विसर्जन करने के लिए निकले थे। इसमें परिवार के साथ सौरभ भी शामिल हुआ। जब वे नहर में विसर्जन करने लगे तो प्रतिमा किनारे पर अटक गई।

प्रतिमा को पानी के बहाव की तरफ धकेलने के लिए लिए सौरभ आगे बढ़ा। जैसे ही प्रतिमा को आगे धकेला, उसका पांव फिसल गया और वो गहरे पानी में पहुंच गया। उसे तैरना नहीं आता था, इसलिए वह डूब गया। परिजनों ने अपने स्तर पर उसने तलाशने की काफी कोशिश की, लेकिन पता नहीं चला।

नहर पर पहुंचे सामाजिक संगठन और आसपास के लोग।
नहर पर पहुंचे सामाजिक संगठन और आसपास के लोग।

संस्था ने जुटाए पैसे
जीवन रक्षक दल के प्रधान राजू शर्मा ने बताया कि शहर की सामाजिक संस्थाओं ने पैसे इकट्ठे करके गोताखोरों को बुला लिया। संभावना है कि इतने लंबे समय के बाद युवक का जीवित रहना तो संभव नहीं है, पर परिवार को मृतक का शव तो मिले। मृतक 6 बहनों का अकेला भाई था।

पहले दिन 2 KM के बुलाए गोताखोर
शनिवार को गोताखोर को बुलाकर दो किलोमीटर तक सर्च अभियान चलाया गया था। जिसका उन्होंने प्रति किलोमीटर के लिए 8 हजार रुपए चार्ज लिया। परिवार इससे ज्यादा पैसे देने की हालत में नहीं था। इसलिए इससे आगे तलाश नहीं करवा सका। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। केस दर्ज करके आगे की कार्रवाई की जा रही है।

मौके पर पहुंची पुलिस।
मौके पर पहुंची पुलिस।
खबरें और भी हैं...