पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • 2 Billion 8 Crore 34 Lakh Rupees Fraud From 921 People In The District In Two And A Half Years, 68.29% Case Trace

साइबर क्राइम:जिले में ढाई साल में 921 लोगों से दो अरब 8 करोड़ 34 लाख रुपए की धोखाधड़ी, 68.29% केस ट्रेस

करनाल9 दिन पहलेलेखक: अनिल भारद्वाज
  • कॉपी लिंक
  • वर्ष 2019 से अब तक 629 केसों को ट्रेस कर 377 आरोपियों को पकड़ा गया, लेकिन रिकवरी नाममात्र
  • जांच में सामने आया; आरोपी सारी रकम आवारागर्दी में करते हैं खर्च, नहीं मिला कोई बैंक बैलेंस

लोगों के साथ हो रही धोखाधड़ी में रिकवरी नाममात्र है। बदमाश पकड़े जाने के बाद भी रिकवरी नहीं हो रही है। ढ़ाई साल में करनाल जिले में 921 लोगों के साथ 2 अरब 08 करोड़ 34 लाख 43 हजार 883 रुपए की धोखाधड़ी हुई है। इसमें पुलिस ने 629 केसों को ट्रेस करते हुए 377 आरोपियों को पकड़ भी लिया है। लेकिन इन आरोपियों ने लूटे गए पैसों को आवारागर्दी में लगा दिया।

आरोपियों के पास कोई बैंक बैलेंस नहीं है। जिसके माध्यम से पुलिस रिकवरी करके पीड़ित लोगों को दे सके। ऐसे में लोगों की जमा पंूजी जा रही है, पुलिस केस करने से भी लोगों को पैसे वापस नहीं आ रहे हैं। पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक धोखाधड़ी के 68.29 प्रतिशत केसों को ट्रेस जरूर कर दिया है।

लेकिन रिकवरी नाममात्र होने से पब्लिक को इसका फायदा नहीं मिला है। ज्यादातर आरोपी अपनी गर्लफ्रेंड और अपने नशे में धोखाधड़ी के पैसे को खर्च कर चुके हैं। ज्यादातर आरोपी पहले से ही अपने परिजनाें से अलग रहते हैं और इनके पास कोई प्रॉपर्टी या बैंक बैलेंस नहीं है।

एटीएम से पैसे निकालते समय रहें सचेत, कार्ड स्वैप करते वक्त बना लेते हैं क्लोन

साइबर अपराधी इतने हैवी हो चुके हैं कि वह बगैर ओटीपी नंबर भी बैंक खातों से पैसे निकाल लेते हैं। ऐसे में लोगों की चिंता बढ़ी है कि वह पैसा सुरक्षित कहां पर रखें। असल में आरोपी लोग एटीएम के पास सक्रिय रहते हैं। जो लोग एटीएम कार्ड से पैसे निकालते हैं उनके कार्ड के नंबर को जांच लेते हैं।

उन नंबरों के हिसाब से एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार करते हैं। उस क्लोन के अनुसार वह नया कार्ड बनाकर पैसा निकाल लेते हैं। इसलिए लोगों को भी अलर्ट रहने की जरूरत है कि वह मशीन में पैसे निकालते हुए अलर्ट होकर पैसे निकालें। ताकि साथ वाले व्यक्ति को कोई पता नहीं चल सकें।

मेडिकल स्टोर संचालक के बैंक खाते से 42 हजार 856 निकाले

गांव गोंदर के गौरव शर्मा ने शिकायत दी कि उसका बसंत विहार में शर्मा मेडिकल स्टोर है। उसका बैंक ऑफ बड़ौदा ब्रांच नजदीक देवी लाल चौक में सेविंग अकाउंट है। उसके बैंक खाते से 26 मई को 6 बार में 42 हजार 856 रुपए निकल गए। उक्त राशि उसके बैंक खाते से निकालकर बैंक खाता बुक में गए।

उसके पास मोबाइल नंबर पर मैसेज आया कि आपके खाता से उपरोक्त राशि कट गई है। जबकि उसने किसी को कोई ओटीपी आदि नहीं बताया और न ही उसके पास कोई ओटीपी आया। इस बाबत बैंक में जाकर बैंक कर्मचारियों से भी शिकायत की, लेकिन उन्होंने उसे यह कहा कि हम इसमें क्या कर सकते हैं।

लोगों से अपील, किसी के झांसे में न आएं : एसपी

धोखाधड़ी करने वाले केसों में पुलिस ने काफी केसों को ट्रेस कर दिया है। आरोपियों को पकड़ा भी जा चुका है। वर्ष 2019 से अब तक 629 केसाें को ट्रेस करते हुए 377 आरोपियों को पकड़ चुके हैं। आरोपियों से पूरे पैसे की रिकवरी नहीं हो रही है। आरोपी लोग ठगी किए गए पैसों को आवारागर्दी में खर्च किए होते हैं। पुलिस की स्पेशल टीमें कार्रवाई में लगी हुई हैं। लोगों से अपील है कि वह अलर्ट रहें और किसी लालच के झांसे में न आएं। गंगाराम पूनिया, एसपी करनाल

खबरें और भी हैं...