पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • 20 Thousand Commercial Establishments In CM City, Only 309 Have Trade Licenses; Every Year Municipal Corporation Lost Crores

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निर्देश:सीएम सिटी में 20 हजार व्यावसायिक प्रतिष्ठान, सिर्फ 309 के पास ट्रेड लाइसेंस; हर साल नगर निगम को करोड़ाें का नुकसान

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल. निगम कार्यालय में ट्रेड लाइसेंस का रिकॉर्ड चेक करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
करनाल. निगम कार्यालय में ट्रेड लाइसेंस का रिकॉर्ड चेक करते कर्मचारी।
  • नगर निगम के पास नहीं विकास कार्यों के लिए पैसा, कोष में नहीं आ रही आमदनी

नगर निगम का हर माह करोड़ों रुपए का खर्चा है, लेकिन आमदनी में निगम पिछड़ा हुआ है। अधिकारी विकास कार्यों के प्लान तो बनाते हैं, लेकिन निगम के पास विकास कार्यों के लिए बजट ही नहीं बचा है। कोरोना काल की शुरूआत से ही नगर निगम सरकार की ग्रांट पर निर्भर चल रहा है। निगम की आमदनी बढ़ाने की कोशिशें नाकाफी चल रही हैं।

ट्रेड लाइसेंस के मामले को ही लें तो चालू वर्ष में अभी तक मात्र 10 लाख 18 हजार रुपए ही हासिल किए जा सके हैं। सीएम सिटी में 20 हजार से अधिक व्यवसायिक प्रतिष्ठान संचालित हो रहे हैं। लेकिन इनमें से मात्र 309 लोगों ने ही ट्रेड लाइसेंस हासिल किया है। शहर में सैकड़ों की संख्या में स्पा सेंटर खुल गए हैं, जो अधिकतर बैगर ट्रेड लाइसेंस के संचालित हो रहे हैं।

20 हजार से अधिक व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में से मात्र 309 द्वारा ट्रेड लाइसेंस लिया जाना अपने आपस में सवाल है। व्यवसायिक लोगाें द्वारा ट्रेड लाइसेंस न लिया जाने से नगर निगम को हर साल करोड़ों रुपए राजस्व की चपत लग रही है।

लेकिन नगर निगम फिर भी ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने में ढील बरत रहा है। नगर निगम आर्थिक संकट में डूबा हुआ है, लेकिन तो भी सरकारी ग्रांट पर ही निर्भरता बढ़ा ली गई है। नगर निगम की ओर से खर्चों पर तो जोर दिया जाता है, लेकिन खर्चों के लिए आमदनी में बढ़ोतरी हो इस पर खास ध्यान नहीं जा रहा है। यही कारण है कि नगर निगम वित्तीय खोष रिक्तप्राय हो गया है।

व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के लिए लाइसेंस लेना जरूरी

नगर निगम की हद में आने वाले सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को संचालित करने के लिए ट्रेड लाइसेंस लेना जरूरी है। लेकिन न तो दुकानदार अपनी मर्जी से ट्रेड लाइसेंस ले रहे हैं और न नगर निगम के अधिकारी इस मामले में अपनी जिम्मेदारी को अदा कर रहे हैं। इस तरह से हर साल ट्रेड लाइसेंस फीस से होने वाली नगर निगम की आमदनी पर पानी फिर रहा है।

सात दिनों में मिल जाता है ट्रेड लाइसेंस

नगर निगम को आवेदन व फीस जमा कराने पर सात दिनों में ट्रेड लाइसेंस मिल जाता है। आवेदन के साथ आधार कार्ड, पैन कार्ड, प्रॉपर्टी टैक्स रसीद व रेंट एग्रीमेंट या रजिस्ट्री की फोटोकापी लगानी पड़ती है। इसके साथ ही फर्म संबंधित विभाग से रजिस्टर्ड होनी चाहिए। यह सबसे कार्रवाई पूरी कर लेने के बाद नगर निगम की ओर से आईडी जनरेट की जाती है और सात दिनाें में आवेदक को ट्रेड लाइसेंस उपलब्ध हो जाता है।

नगर निगम नहीं चलाया कोई अभियान
नगर निगम की ओर से बैगर ट्रेड लाइसेंस संचालित होने वाले प्रतिष्ठानों के खिलाफ कोई अभियान नहीं चलाया गया है। हर साल सैकड़ों की संख्या में नए व्यवसायिक प्रतिष्ठान स्थापित हो रहे हैं, लेकिन नगर निगम जैसे हाथ पर हाथ धरे बैठा है। ट्रेड लाईसेंस को लेकर नगर निगम के अधिकारी बिलकुल भी गंभीर नहीं हैं। अगर शहर में सभी प्रतिष्ठानों के ट्रेड लाइसेंस जारी होते हैं तो सालाना करोड़ों रुपए की आमदनी होगी।

दुकानदारों पर एक करोड़ रुपए किराया बकाया

नगर निगम की ओर से शहर में तकरीबन 653 दुकानों किराए पर दी गई है। इनमें से बहुत से दुकानदार किराया डिफाॅल्टर बने हुए हैं। दुकानदारों की तरफ नगर निगम का तकरीबन एक करोड़ रुपए किराया बकाया है।

एमसी फंड में बचे 20 करोड़

नगर निगम के अपने एमसी फंड में तकरीबन 20 करोड़ ही बचे हैं। इस हाल में नगर निगम संकट की स्थिति में है। पिछले साल कोरोना काल की शुरुआत से नगर निगम के कर्मचारियों की सेलरी के लिए सरकार ही पैसा दे रही है। इस हाल में शहर के विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। पिछले तकरीबन एक साल से नगर निगम कोई नया बड़ा विकास कार्य शुरू नहीं करा सका है।

नगर निगम 3 और दुकानें किराए पर देगा

नगर निगम की ओर से 21 जनवरी को दोपहर दो बजे नगर निगम कार्यालय में शहर की तीन दुकानों को किराए पर देनी की कार्रवाई आयोजित होगी। इनमें से दो दुकानें कंुजपुरा रोड पर तथा एक दुकान कर्ण ताल पर स्थित है।

नगर निगम की ओर से बैगर ट्रेड लाइसेंस संचालित होने वाली दुकानों को नाेटिस जारी किए जाएंगे। इसके बाद कार्रवाई शुरू की जाएगी। निगम की आमदनी को बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। विक्रम, कमिश्नर, नगर निगम करनाल।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें