पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

घर में रहें सुरक्षित रहें:547 नए केस, 12 की मौत, रिकवरी रेट में आई गिरावट, माह पहले थी 87.55, अब 80.43%

करनाल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक माह में 14563 हुए संक्रमित, 10670 ने दी कोरोना को मात
  • 18 अस्पतालों में ऑक्सीजन आईसीयू बेड 205, जिनमें एक भी खाली नहीं
  • एक माह में पॉजिटिविटी रेट 7.05 रहा, 124 मरीजों की हुई मौत

जिले में काेरोना का कहर जारी है। मंगलवार को 12 लोगों की कोरोना से मौत हो गई, जबकि 547 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले। एक दिन में सर्वाधिक मौत का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। अब तक के कुल 29768 कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा देखें तो इनमें से आधे केस पिछले एक माह में आ चुके हैं। पिछले एक माह में 14563 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं।

एक माह पहले जिले में कुल मौत का आंकड़ा 172 था जो अब 296 पर पहुंच गया है। अर्थात पिछले अकेले माह में 124 लोगों की कोरोना ने जान ले ली है। जिले में कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद ठीक होने वालों की बात की जाए तो अब तक 24055 लोग ठीक हो चुके हैं, जिनमें से 10670 पिछले एक माह में ठीक हुए हैं।

कोरोना से एक्टिव लोगों का एक माह पहले का आंकड़ा 1648 था, लेकिन अब बढ़ोतरी के साथ 5417 पर पहुंच गया है। अर्थात एक माह में 3769 कोरोना पॉजिटिव लोगों की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि पिछले दो दिनों से कोरोना संक्रमितों की कुछ संख्या कम आ रही है, लेकिन मौत का ग्राफ बढ़ता जा रहा है।

मंगलवार को 12 लोगों की मौत हुई, जबकि कोविड श्मशान घाट में कोविड प्रोटोकॉल के तहत 26 लोगों की अंत्येष्टि की गई। कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना संक्रमण के मामले में करनाल ने रिकाॅर्ड कायम किया है। पिछले एक माह पहले पॉजिटिविटी रेट 4.07 प्रतिशत से बढ़कर 7.05 प्रतिशत पर पहुंच गया है।

ठीक होने के प्रतिशत में भी पिछले एक माह में गिरावट

जिले में कोरोना से संक्रमित मरीजों के ठीक होने के प्रतिशत में भी पिछले एक माह में गिरावट आई है। एक माह पहले जहां कोरोना से संक्रमित होकर रिकवरी होने का रेट 100 पर 87.55 प्रतिशत दर्ज था, वहीं अब यह 80.43 प्रतिशत लाेग रिकवर हो रहे हैं।

जिले में कोरोना संक्रमण के केस एकदम बढ़ गए

जिले में कोरोना संक्रमण के केस यकायक बढ़ गए हैं। जिसकी वजह से डेथ रेट में गिरावट दर्ज हुई है। चार अप्रैल को डेथ रेट 1.01 प्रतिशत था जोकि अब 0.97 पर पहुंच गया है। पॉजिटिव रेट बढ़ने से भले ही डेथ रेट के आंकड़े में गिरावट दर्ज हुई है, लेकिन कोरोना से डेथ की संख्या दिनों दिनों बढ़ती जा रही है। मंगलवार को 12 लोगों की मौत हुई, जोकि एक दिन में अभी तक की सबसे बड़ी संख्या है।

मरने वालों में ऑक्सीजन आईसीयू बेड वाले 90 प्रतिशत

जिले में अभी तक 296 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से अकेले पिछले एक माह में 124 लोगों की मौत हुई है। अब तक पूरी मौत के पिछले एक माह में हुई मौत के आंकड़े की तुलना की जाए तो यहां संख्या आधे से थोड़ा पीछे रह गई है। मरने वाले में 90 प्रतिशत ऑक्सीजन आईसीयू बेड वाले मरीज हैं।

पोर्टल पर 12 बेड नोन आईसीयू ऑक्सीजन बेड खाली दिखाए गए

सीएमओ डॉ. याेगेश शर्मा के अनुसार जिले में अब तक 29768 लोग कोरोना से पीड़ित हो चुके हैं। इनमें से आधे लोग अकेले पिछले एक माह में पॉजिटिव निकल गए हैं। पिछले एक माह में 14563 लोग कोरोना से पीड़ित हुए, जिनमें से 10670 ने दी कोरोना को मात दी है।

जिले में प्रशासन की ओर से कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज समेत 18 अस्पतालों में ऑक्सीजन आईसीयू 205 बेड रखे हैं, जिनमें से खाली कोई नहीं है। पोर्टल पर 12 बेड नोन आईसीयू ऑक्सीजन बेड खाली दिखाए गए हैं।

3341 युवाओं को लगी पहली डोज

स्वास्थ्य विभाग की ओर से मंगलवार को तीसरे दिन 20 सेंटरों पर 18-44 साल के युवाओं को कोरोना वैक्सीन दी गई। युवा वर्ग के लोगों ने वैक्सीन लगवाने के लिए उत्साह दिखाया। सिविल अस्पताल के वैक्सीनेशन सेंटर पर लाभार्थियों को अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा।

सीएमओ डॉ. याेगेश शर्मा व डॉ. अभय अग्रवाल के अनुसार वैक्सीनेशन के तीसरे दिन 3341 युवाओं को पहली डोज दी गई। अब तक युवा वर्ग से 7462 लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है। इसके अलावा 45 साल से ऊपर के आयु वर्ग में तकरीबन पहली व दूसरी 2300 डोज दी गई।

मंगलवार को कोरोना से पीड़ित 550 मरीज ठीक होकर घर गए, जबकि 547 और लोग संक्रमित पाए गए। जिले का एक माह का पॉजिटिविटी रेट 7.05 है और रिकवरी रेट 80.43 था, मृत्यु दर 1 प्रतिशत से भी कम हो गई है। अब तक 296 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। वर्तमान में 5417 एक्टिव केस हो गए हैं।
निशांत कुमार यादव, डीसी करनाल।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें