करनाल में विदेश से आए 126 के कोरोना टेस्ट:सभी 7 दिन के होम आइसोलेशन में, ओमिक्रॉन को लेकर प्रशासन अलर्ट, जारी किए निर्देश

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मीटिंग लेकर अलर्ट करते हुए सीएमओ डॉ. योगेश शर्मा। - Dainik Bhaskar
मीटिंग लेकर अलर्ट करते हुए सीएमओ डॉ. योगेश शर्मा।

हरियाणा के करनाल जिले में स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के नए खतरे से बचाव की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पिछले 3 दिनों में विदेश से आने वाले 126 लोगों की हिस्ट्री ली है। उनके टेस्ट किए और उनके संपर्क में आए लोगों को 7 दिनों के लिए होम आइसोलेट किया है। इतना ही नहीं लगभग प्रशासनिक अधिकारियों ने दोबारा से मास्क अनिवार्य कर दिया है।

सिविल सर्जन डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कारोना के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन के बारे में स्वास्थ्य अलर्ट जारी किया गया है। दक्षिण अफ्रीका में मिले, कारोना वायरस के नए वैरिएंट स्ट्रेन को ओमिक्रॉन नाम रखा गया है। साउथ अफ्रीका में जो नया स्ट्रेन मिला है वह पिछले सभी स्ट्रेन से काफी अलग है, कारोना वायरस का यह स्ट्रेन तेजी से लोगों को संक्रमित कर रहा है। इसलिए यह चिंता का विषय बनता जा रहा है। उन्होंने ये जानकारी देकर आईएमए मेंबर, सभी प्राईवेट और सरकारी फिजिशियन को अलर्ट किया।

कोरोना के 553 मरीजों की हुई मौत

करनाल जिले में अब तक 593498 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए। इनमें से 550267 व्यक्तियों की रिपोर्ट नेगेटिव है। पिछले 24 घंटे में 1590 सैंपल लिए गए। जिले में अब तक 40039 पॉजिटिव केस सामने आए थे, इनमें से 39485 मरीज ठीक होकर घर चले गए और अब तक 553 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। अब कोरोना वायरस का 1 पॉजिटिव केस एक्टिव है।

ये आदेश दिए

सभी अपने अधिकार क्षेत्रों में लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य करें।

सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाएं।

सभी अपने हाथों की सफाई करें और कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करवाये।

ये है एट रिस्क वाले देश

एट-रिस्क वाले देशों जैसे कि यूनाइटेड किंगडम, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोतवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैड, जिम्बाम्बे, सिगापुर, हांगकाग और इजराइल सहित यूरोप के देशों को शामिल किया है।

राज्य मुख्यालय से विदेशों से आये यात्रियों की सूची प्राप्त होने के उपरान्त सभी को ट्रेस किया जा रहा है। जिला करनाल में अब तक कुल 126 यात्रियों की सूची प्राप्त हुई। जिसमें विदेश से आये यात्रियों और उनके परिवार के सभी सदस्यों के कोविड आरटीपी सीआरआर टेस्ट घर पर जाकर किये जा रहे है तथा सभी को हिदायतें दी जा रही हैं कि वो सात दिनों तक होम आइसोलेशन में रहें। मास्क का उपयोग करें। सोशल डिस्टेसिंग बनाए रखें। अगर किसी को भी खांसी, बुखार, जुखाम इत्यादि लक्षण आते है तो तुरंत स्वास्थ्य विभाग की टीम को सूचित करें।

टीम करेगी ये काम

स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा विदेशों से आये यात्रियों की प्रतिदिन कॉल करके उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली जा रही है। सभी को निर्देश दिए गए की पहले से चल रहे फ्लू कॉर्नर में आए सभी मरीजों का कोविड टेस्ट जरूर करवाएं। सभी प्राइवेट व सरकारी संस्थानों को निर्देश दिए गए की इनफ्लुएंजा इलनेस वाले मरीजों की कोविड टेस्टिंग की जाए, ताकि संक्रमण को बढ़ने से रोका जा सके।

खबरें और भी हैं...