करनाल में भाजपा की विशेष बैठक, मनोहर ने ली रिपोर्ट:एंट्री बंद होने से विरोध करने नहीं पहुंच पाए किसान; सांसद-विधायकों और जिलाध्यक्षों से ली गांवों की रिपोर्ट, एक-एक हलके के बारे में जाना

करनालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक की अध्यक्षता करने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल। - Dainik Bhaskar
बैठक की अध्यक्षता करने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल।

हरियाणा के करनाल जिले में स्थित प्रेम प्लाजा में पंचायत, नगरपालिका व निगर निगम चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश स्तरीय बैठक हुई। वहीं भाजपा की संगठनात्मक मीटिंग के कारण शहर की सभी एंट्री बंद कर दी गई। एंट्री न होने पाने के कारण किसान भी इकट्ठे नहीं हो सके। पुलिस ने हाईवे पर ही किसानों को रोके रखा। शहर में जगह-जगह नाकेबंदी की गई।

मनोहर ने पूछा - भाजपा से कौन से गांव खुश, कहां विरोध
प्रदेशभर से आए नेताओं और पदाधिकारियों से सीएम मनोहर लाल ने विस्तार से गांवों की रिपोर्ट ली। उन्होंने एक-एक करके सभी हलकों के बारे में जाना कि किस क्षेत्र में कितने गांवों के लोग सरकार से खुश हैं और कितने गांवों के लोगों में विरोध है। सभी नेताओं ने अपनी-अपनी रिपोर्ट पेश की। इसके अलावा चुनाव होने पर क्या स्थिति हो सकती है इस पर भी ग्राउंड स्तर पर काम करने के लिए लक्ष्य दिया है।

निकाय चुनाव सिंबल पर लड़ेगी भाजपा
प्रदेशाध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड ने बताया कि चुनावों को लेकर भाजपा ने सीनियर नेताओं को दो-दो जिलों की जिम्मेदारी दी है। आज की अच्छी कामकाजी बैठक हुई है। पंचायती राज चुनाव और स्थानीय निकाय के चुनाव पर चर्चा हुई। भाजपा स्थानीय निकाय चुनाव सिंबल पर लड़ेगी। नगर पालिका और नगरपरिषद में चेयरमैन का चुनाव सिंबल पर लड़ेंगे। पंचायत चुनावों में सिंबल पर लड़ने के लिए आगामी कोई भी फैसला भाजपा की चुनाव कमेटी के पास है। जब चुनावों की घोषणा होगी तब समिति निर्णय करेगी।

50 फीसदी गांवों में हो महिलाओं का प्रतिनिधित्व
धनखड ने कहा कि सरकार 50 फीसदी गांवों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व चाहती है। इसके लिए सरकार कानून भी लाई है। ये मामला कोर्ट में विचाराधीन है, उसका निर्णय आने पर ही कुछ किया जाएगा। महिलाएं तो 50 फीसदी होनी चाहिए। 50 फीसदी प्रतिनिधित्व महिलाओं को और 50 फीसदी में पुरुष हों। साथ ही सरकार से कहा है कि वे पुराने नियमों पर चुनाव करवा सकते हैं।

करनाल में भाजपा नेताओं को रोक रहे किसानों पर लाठीचार्ज:बसताड़ा टोल पर पुलिस ने भांजी लाठियां, कई के सिर फूटे; विरोध में प्रदेशभर में किसानों ने जाम किए हाईवे

बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे भाजपा नेता।
बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे भाजपा नेता।

मेयर रेणुबाला ने किया मुख्यमंत्री का स्वागत

बैठक में शामिल होने के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल का फूल-गुलदस्तों के साथ मेयर रेणुबाला गुप्ता ने स्वागत किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया। फिर वंदे मातरम के गान के साथ बैठक शुरू हुई। मीटिंग में सीएम मनोहर लाल, मंत्री कंवर पाल गुर्जर, मंत्री संदीप सिंह, मंत्री कमलेश ढांडा, प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़, मंत्री मूल चंद शर्मा, मंत्री डॉ. बनवारी लाल, विधायक प्रवीन डागर, विधायक दीपक मंगला, विधायक सत्यप्रकाश, विधायक सुधीर तंवर, सांसद नायब सिंह सैनी, सांसद संजय भाटिया, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, प्रदेश महामंत्री वेदपाल एडवोकेट, प्रदेश महामंत्री पवन सैनी, विधायक घनश्याम अरोड़ा, विधायक लीला राम गुर्जर, विधायक रामकुमार कश्यप, विधायक हरविंदर कल्याण, विधायक प्रमोद विज, विधायक विनोद भ्याना, विधायक रणबीर गंगवा, विधायक दूडाराम बिश्नोई, विधायक लक्ष्मण नापा, पूर्व विधायक भगवान दास कबीरपंथी, मेयर रेणुबाला गुप्ता पहुंचे।

बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे सुभाष बराला।
बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे सुभाष बराला।

पुलिस लाठीचार्ज से हरियाणा में किसान आगबबूला, देखिए तस्वीरें:करनाल में बसताड़ा टोल प्लाजा पर बहा खून, चढ़ूनी के आह्वान पर प्रदेशभर में हाईवे और सड़कों पर लगाया जा रहा जाम

पुलिस का कड़ा पहरा

30 से ज्यादा जगहों पर नाके लगाए गए थे। लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी रही। ढांड से आने वाले वाहनों को काछवा पुल पर शहर से डेढ़ किलोमीटर पहले ही रोका गया। कैथल की बसों को वाया सीतामाई तरावड़ी होते हुए भेजा। चिड़ाव मोड़ से आगे तक असंध-कैथल बसों को आने दिया गया।बाइकों को भी अंदर नहीं आने से रोका गया। करनाल में एंट्री करने वालों पर नजर रखने के लिए पुलिस का कड़ा पहरा लगाया गया है। आने-जाने वालों से पूछताछ व चेकिंग के बाद ही शहर में आने दिया जाएगा। रात से ही पुलिस ने रास्तों को बंद करना शुरू कर दिया था। रेलवे रोड को पूरी तरह से बंद किया हुआ है। आंसू गैस गोले वाली गाड़ी को मौके पर लाया गया है। रेलवे रोड को सभी रास्तों से सील कर दिया गया है, ताकि बाहरी व्यक्ति, प्रदर्शनकारी व किसान संगठन इस ओर न आ सकें। बड़े ट्रकों को बुलाकर रास्तों को बंद कर दिया गया है। आमजन की एंट्री को भी बैन कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...