करनाल में होगी चढ़ूनी ग्रुप की बैठक:संयुक्त किसान मोचा ने किसान शहीद यात्रा की स्थगित, चढुनी गुट ने टाली बैठक

करनाल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाकियू नेता दो दिन पहले करनाल गुरुद्वारा में बैठक करते हुए। - Dainik Bhaskar
भाकियू नेता दो दिन पहले करनाल गुरुद्वारा में बैठक करते हुए।

हरियाणा के करनाल शहर में आज गुरनाम सिंह चढ़ूनी ग्रुप के सदस्यों की बैठक इसलिए टाल दी कि संयुक्त किसान मोर्चा ने 24 नवंबर की शहीद किसान यात्रा को स्थगित कर दिया है। इस बैठक में संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से 24 नवंबर को निकाली जाने वाली शहीद किसान यात्रा में शामिल होने या न होने पर चर्चा करके फैसला लिया जाना था। साथ ही दूसरे कार्यक्रम को किए जाने पर भी विचार किया जाएगा। इससे पहले बसताड़ा टोल पर बुधवार को हुई मीटिंग में 25 नवंबर को निकाली जाने वाली यात्रा को रद्द किया जा चुका है। अब संयुक्त किसान मोर्चा ने भी कार्यक्रम रद्द कर दिया।

चढ़ूनी के अनुसार, संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में तय हुआ था कि सभी प्रदेश अपने-अपने एरिया में यात्रा निकालेंगे। इसलिए उन्होंने पहले 25 नवंबर से अंबाला से किसान शहीद यात्रा रखी थी। बाद में एक ग्रुप ने यह कह दिया कि हम 24 को अंबाला से शहीद यात्रा निकालेंगे। वास्तविकता यह है कि मोर्चा वाले मुझे अलग-थलग करना चाहते हैं। लोगों में मैसेज गया की चढ़ूनी की मोर्चा के साथ लड़ाई चल रही है।

ऐसे में हमने इस मसले को समाप्त करना चाहा। अब वे गलती कर रहे हैं तो हम भी गलती क्यों करें। दोनों तरफ से गलती होगी तो इसमें नुकसान हो सकता है। साथियों से विचार विमर्श के बाद फैसला लिया है कि वे जो कर रहे हैं, करने दो। वे राष्ट्र स्तर की यात्रा कर रहे हैं। इसमें पंजाब, यूपी, राजस्थान समेत सभी राज्यों से वीडियो डाल रहे हैं। सभी अपना-अपना ग्रुप लेकर पहुंचेंगे। ऐसे में हम अपने वाली यात्रा रद्द करते हैं।

बसताड़ा टोल पर किसानों से चर्चा करते गुरनाम सिंह चढूनी।
बसताड़ा टोल पर किसानों से चर्चा करते गुरनाम सिंह चढूनी।

यात्रा के टाइम को लेकर माेर्चा ने बोला कोरा झूठ...

मोर्चा अलग करना चाह रहा है या खुद अलग होना चाहते हो, इस पर चढ़ूनी ने जवाब दिया कि हम अलग नहीं, साथ चलना चाह रहे हैं। हमने पहले यात्रा रखी थी। मोर्चा ने झूठ बोला कि पहले हरियाणा कमेटी में पास हुई, फिर दूसरे कमेटी ने पास की, इसके बाद 9 सदस्यीय कमेटी ने पास की। मोर्चा ने फिर टाइम तय किया। ये कोरा झूठ है। किसी ने कुछ नहीं रखा। फिलहाल हम मिलकर चलेंगे। एक ही यात्रा होगी। 25 की यात्रा कैंसिल है। यात्रा में शामिल होने के सवाल पर चढ़ूनी ने कहा कि 18 की मीटिंग तय करेंगे कि यात्रा में शामिल होना है या नहीं है। हम तो अलग से भी एक प्रोग्राम करेंगे।

खबरें और भी हैं...