पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Cleanliness Survey To Be Held In March For Municipal Corporation, You Can Give Your City Feedback By Calling Online And Also

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वच्छता सर्वेक्षण:नगर निगम के लिए चुनौती बना मार्च में होने वाला स्वच्छता सर्वेक्षण, ऑनलाइन व काॅल करके भी दे सकते हैं अपने सिटी का फीड बैक

करनाल9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना वायरस संक्रमण की वजह से स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 जनवरी की बजाए इस बार मार्च में होगा। लेकिन यह र्स्वेक्षण नगर निगम के लिए पिछले साल से बेहतर रैंक हासिल करने के लिए चुनौती बनेगा। क्योंकि शहर में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन, कूड़ा लिफ्टिंग और सार्वजनिक शौचालयों की हालात सही नहीं हैं। इस बार सिटी वॉयस एवं फेस टू फेस फीडबैक का मुख्य आधार रहेगा। इस वर्ष नागरिकों के सामने फीडबैक देने के लिए पांच ऑनलाइन माध्यम हैं, जिनके जरिए वे अपने शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर फीडबैक दे सकते हैं। ऐसे में नागरिकों का फीडबैक अर्थात सिटीजन वाॅयस की स्वच्छता रैंकिंग में अहम भूमिका अदा करेगा। यह फीडबैक का छटा माध्यम होगा।

वर्ष 2020 में करनाल शहर को 5 लाख तक की आबादी वाले देशभर के शहरों में 17वां रैंक मिला था, लेकिन इस बार पिछली रैंकिंग में सुधार के लिए और बेहतर कार्य करने की जरूरत है। लेकिन जिस तरह से लोगों को ऑनलाइन फीडबैक के लिए पांच ऑनलाइन विकल्प उपलब्ध कराए हैं, उनके प्रचार प्रसार के लिए खासा काम करने की जरूरत है। स्वच्छ भारत मिशन में टीम लीडर प्रशांत त्यागी के अनुसार इन पांचों ऑनलाइन माध्यम से शहरवासी 31 मार्च तक शहर की सफाई को लेकर अपना फीडबैक दे सकते हैं।

नगर निगम के सामने अच्छी रैंकिंग के लिए चुनौतियां
कूड़ा लिफ्टिंग की समस्या दे सकती है झटकाशहर की कूड़ा लिफ्टिंग की समस्या बनी हुई है। पिछले साल सड़कों किनारे कचरे की ढेरी नहीं दिखती देती थी जो इस बार दिखाई दे रही हैं। इस समस्या के समाधान के लिए कूड़ा लिफ्टिंग की व्यवस्था में सुधार करने की जरूरत है।

घर से ही गीले व सूखे कचरे का सेग्रीगेशन करके देना
नगर निगम को शहर के लोगों को घर से ही गीले व सूखे कचरे को अलग-अलग देने के लिए पूरी तरह से जागरूक किया जाना है। जो लोग अभी पूरी से जागरूक नहीं है। बहुत से लोग दोनों तरह के कचरे को इकट्‌ठा ही डाल रहे हैं।

नाइट स्वीपिंग न होने से मार्केट में सफाई का चैलेंज
शहर में पिछले कई सालों से मार्केट एरिया में नाइट स्वीपिंग होती रही है जो इस बार नहीं हो रही है। इसलिए मार्केट में सफाई व्यवस्था को बहाल रखना नगर निगम के सामने चैलेंज रहेगा। शहर को स्वच्छ बनाए रखने में नाइट स्वीपिंग का कॉन्सेप्ट भी सकारात्मक परिणाम वाला रहा है।

सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर कूड़े को नियमित प्रबंध
करनाल को स्वच्छता रैंकिंग में अव्वल रखने में सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट का भी अहम स्थान रहा है। लेकिन इस बार सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट ठीक से नहीं किया जा रहा है। अगर समय रहते इसकी रिपेयर या कैपेसिटी बढ़ाकर कूड़े का नियमित प्रबंध नहीं होता है तो यह भी एक निगेटिव प्वाइंट में आ जाएगा। शहर प्रतिदिन 200 टन कचरा उगल रहा है।

शौचालयों को रखना होगा साफ
नगर निगम की ओर से शहर में बनाए गए शौचालयों को साफ रखना होगा। हालात ये है कि किसी की टोंटी टूटी हुई है तो किसी में फ्लैस टूटी पड़ी है। शौचालयों में नियमित सफाई न होने से गंदगी का आलम रहता है। अकेले गूगल पर टॉयलेट की लोकेशन देने से काम नहीं चलेगा। स्वच्छ व सुंदर शहर के लिए शौचालयों को साफ रखना जरूरी है।

डोर टू डोर कूड़ा लिफ्टिंग में करना होगा सुधार
डोर टू डोर कूड़ा लिफ्टिंग की व्यवस्था में सुधार करना होागा। क्योंकि अभी भी शहर के लोगों की शिकायत रहती है कि उनके यहां एरिया में कचरा लेने के लिए टिप्पर आया ही नहीं है। इसलिए सड़कों पर कचर के ढेर लग जाते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser