दिल्ली में सीएम ने की उड्‌डयन मंत्री से मीटिंग:करनाल में बनने वाले एयरपोर्ट पर चर्चा, 2014 के लोकसभा चुनाव में था भाजपा का एजेंडा, एयरपोर्ट के लिए 38 एकड़ भूमि मिली, 29 एकड़ बाकी

करनाल8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम मनोहर लाल उड्डयन मंत्री से मुलाकात करते हुए। - Dainik Bhaskar
सीएम मनोहर लाल उड्डयन मंत्री से मुलाकात करते हुए।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल दिल्ली दौरे के दौरान नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से हरियाणा में हिसार एयरपोर्ट के विस्तार व करनाल में एयरपोर्ट बनाने को लेकर चर्चा की। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने करनाल में एयरपोर्ट बनाने के नाम पर वोट लिए थे। जिसको सात साल बीतने के बाद भी पूरा नहीं किया गया। इसमें भूमि रोड़ा बने हुए हैं। 67 एकड़े में बनने वाले एयरपोर्ट के लिए अभी 38 एकड़ ही मिली है।

दिल्ली में हुई इस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए। मीटिंग में यह फैसला लिया गया कि गुरुग्राम में हेली हब का निर्माण किया जाएगा, जहां उड़ानों की संख्या बढ़ाने के लिए वेट चार्ज कम किया जाएगा। इसके अलावा प्रदेश में सिविल एविएशन यूनिवर्सिटी बनाने को लेकर भी विचार विमर्श किया गया।

मीटिंग के दौरान करनाल में एयरपोर्ट की संभावना को लेकर भी चर्चा हुई। हरियाणा सरकार चाहती है कि हिसार के बाद करनाल में भी सिविल एविएशन से संबंधित सुविधाएं बढ़ाई जाएं। वहीं मीटिंग के दौरान ड्रोन स्कूल और सेटेलाइट सेंटर बनाने पर भी चर्चा की गई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में एयरपोर्ट विस्तारीकरण समेत अन्य कई मुद्दों पर नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से विस्तार से चर्चा की गई है। जल्द ही प्रदेश में इसका प्रभाव भी देखने को मिलेगा।

करनाल का एयरपोर्ट।
करनाल का एयरपोर्ट।

67 एकड़ में बनना है एयरपोर्ट

करनाल में 67 एकड़ में एयरपोर्ट बनाने का प्रोजेक्ट लंबे समय से चल रहा है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी अश्वनी चोपड़ा ने करने में डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनाने के नाम पर वोट लिए थे। तब से अब तक यहां पर प्रशासन व सरकार मात्र 38 एकड़ जमीन ही खरीद पाई है। 29 एकड़ जमीन के मालिकों ने कोर्ट में केस किया हुआ है। जहां पर उन्होंने सरकार द्वारा उनकी जमीन के भाव बहुत कम आंके हैं। रेट बढ़ाने की मांग को लेकर किसानों ने कोर्ट का सहारा लिया है।

दो घंटे का बचेगा समय

शहरवासी आजाद शर्मा ने बताया कि करनाल से एयरपोर्ट शुरू होने से दो घंटे का समय बचेगा। साथ ही दिल्ली तक पहुंचने के दौरान लगने वाले जाम में फंसने की टेंशन खत्म होगी। उन्होंने बताया कि करनाल से दिल्ली एयरपोर्ट तक करीब साढ़े का समय लगाता है, लेकिन जाम के डर से चार घंटे पहले चलते हैं।

खबरें और भी हैं...