CM मनोहर पहुंचे करनाल, सुबह कपालमोचन जाएंगे:चौटाला के वोट खरीदने के बयान पर किया पलटवार, हुड्‌डा के 'विपक्ष आपके समक्ष' पर भी साधा निशाना

करनाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीएम मनोहर लाल शाम सवा छह बजे करनाल के PWD रेस्ट हाउस में पहुंचे। रात्रि विश्राम के बाद सुबह कपालमोचन मेले के लिए रवाना होंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत की। सीएम मनोहर लाल से विपक्ष, ऐलानाबाद, किसान आंदोलन, प्रदूषण और पंजाब चुनाव को लेकर सवाल जवाब हुए। करनाल आने पर सीएम ने कहा कि करनाल मेरी विधानसभा है। यहां आने के लिए विशेष योजना नहीं बनानी पड़ती। जब दिल करता है तब आ जाता हूं। मेरे पास थोड़ा समय था। इसलिए थोड़े समय के लिए आया हूं।

सवाल - दिल्ली सीएम केजरीवाल ने आरोप लगाया कि हरियाणा के कारण प्रदूषण फैला है?

सीएम - ये आरोप प्रत्यारोप हैं, ऐसे विषयों पर किसी को भी शोभा नहीं देता। ये सारे समाज से जुड़ा विषय है। अगर इसका जवाब दिया है तो सुप्रीम कोर्ट ने दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हर बार सरकारें कहती थी कि किसानों के कारण ऐसा हो रहा है। उसमें इंडस्ट्री भी है, फैक्ट्री भी है, ऑटो मोबाइल कंपनी भी है। किसान के पराली जलाने से प्रदूषण फैलता है, लेकिन हमने बहुत हद तक कंट्रोल कर लिया है। अब इतना ज्यादा नहीं है। प्रति एकड़ 1000 रुपये किसानों को इन्सेंटिव दिया जा रहा है। कुछ मशीनों पर भी सब्सिडी पर उपलब्ध करवाई है। हमने भी एनसीआर के लिए कुछ शर्ताें लागू की हैं। ऑड-ईवन पर विचार किया जा रहा है।

सवाल - पंजाब चुनाव में किसान आंदोलन का क्या प्रभाव पड़ेगा?

सीएम - चुनाव पर किसानों का कोई असर नहीं पड़ेगा। अगर असर होता तो ऐलानाबाद में दिखता। वहां पर पहले से ज्यादा वोट भाजपा को मिले हैं। कांग्रेस को पूरे वोट मिल जाते तो रिजल्ट कुछ और ही होता

सवाल - कपालमोचन पर जो जाता है वो चुनाव में हारता है?

सीएम - मुझे बताया कि पहले ये मधुबन के बारे में कहा जाता था, ऐलानाबाद के बारे में कहा जाता था। पहले सत्र में तीन बार मधुबन गया। इस बार ऐलानाबाद में रहा और अब कपालमोचन जाउंगा। मैं इस तरह के अंधविश्वास को नहीं मानता। ऐसा जिस भी जगह के बारे में है वो मुझे बताओ मैं वहां पर जरूर जाउंगा। ऐसी धारणाओं पर चलेंगे तो जनता को क्या बताएंगे।

सवाल - पूर्व सीएम भूपेंद्र हुडा के 'विपक्ष आपके समक्ष' कार्यक्रम कर रहे हैं। इसको कहां देखते हो?

सीएम - यदि ऐसा वो कर रहे तो उन्होंने दो महीने में दो विधानसभा की हैं। यदि सभी विधानसभाओं को करना पड़ा तो 90 महीने लग जाएंगे। 90 महीने में तो देरी हो जाएगी। मेरा कहना है कि ऐसे कार्यक्रम जल्दी जल्दी करें। ताकि उनको पता चले कि हम कैसे लोगों में विश्वास बनाकर आगे बढ़ रहे हैं। ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी से फायदा दिया। परिवार पहचान पत्र के माध्यम से लोगों को सुविधा दी जा रही है। किसानों को समय पर पैसा चुकाया है। कौशल विकास के काम किए हैं। हमने कितने काम किए हैं।

सवाल - पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला ने आरोप लगाया कि भाजपा ने 10 से 15 हजार रुपये में वोट खरीदे हैं?

सीएम - ये विषय या तो वो जानते हैं। या उसके कार्यकर्ता जानते हैं। ऐसा वो करते रहे होंगे। वो ही जानते हैं। हमारे संगठन ने पूरा जोर लगाया। कांग्रेस को वोट कम मिले। इसलिए इनेलो जीती, कांग्रेस को पूरे वोट मिलते तो रिजल्ट कुछ और होता है।

खबरें और भी हैं...