करनाल में महर्षि कश्यप रैली:CM ने कहा- जुंडला के सरकारी कॉलेज का नाम महर्षि कश्यप पर; KU में पीठ बनेगी

करनाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महर्षि कश्यप रैली का शुभारंभ करते हुए सीएम मनोहर लाल। - Dainik Bhaskar
महर्षि कश्यप रैली का शुभारंभ करते हुए सीएम मनोहर लाल।

आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के तहत हरियाणा सरकार की ओर से 24 मई को महर्षि कश्यप जयंती पर करनाल में प्रदेशस्तरीय रैली की गई। इस रैली में पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

सीएम ने कहा कि करनाल में महर्षि कश्यप सभा का ये कार्यक्रम प्रेरणा देने वाला है। सप्तऋषि में एक नाम महर्षि कश्यप का है। सभा की मांगों पर विचार करके उन्हें पूरा किया जा रहा है। जुंडला के राजकीय कॉलेज का नाम महर्षि कश्यप के नाम पर होगा। इसी तरह सेक्टर-14 की मेरठ रोड पर डीसी कॉलोनी क्रॉसिंग वाले चौक का नाम महर्षि कश्यप के नाम पर रखा जा रहा है। इसके अलावा धर्मशाला के विकास के लिए 44 लाख रुपये अनुदान दिए हैं। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय (KU) में महर्षि कश्यप पीठ भी स्थापित की जाएगी।

करनाल के डीसी अनीश यादव ने बताया कि इस प्रोग्राम के बाद मुख्यमंत्री पंचायत भवन में 88 करोड़ 29 लाख रुपए की लागत वाली 4 परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास भी करेंगे।

रैली में मौजूद प्रदेशवासी।
रैली में मौजूद प्रदेशवासी।

आप पर साधा निशाना

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार के सेहत मंत्री के टेंडर में 1% कमीशन मांगने पर चुटकी लेते हुए सीएम मनोहर लाल ने कहा कि AAP ऐस ही पार्टी है। इनके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। इनका कोई बैकग्राउंड नहीं है। मुफ्त की चीजें बांटना अच्छी पॉलिसी नहीं है। दूसरी तरफ भाजपा सरकार लोगों को रोजगार मुहैया करवाकर उन्हें पैरों पर खड़ा करने का काम कर रही है ताकि लोग स्वाभिमान से जी सकें।

एसटीपी के पानी का खेतों में करेंगे प्रयोग

सीएम ने कहा कि प्रदेशभर में माइक्रोइलिगेन का कार्यक्रम पहले से चल रहा है। इसमें टयूबवैल का पानी, एसटीपी भी शामिल है। प्रोसेस के बाद जो पानी मिलेगा, उसे ड्रेनआउट नहीं करेंगे। इसका कमांड एरिया बढ़ाकर उसे आसपास के खेतों में इस्तेमाल करेंगे। इससे खेतों की पैदावार अच्छी होगी।

रैली में मौजूद प्रदेशवासी।
रैली में मौजूद प्रदेशवासी।

प्रोजेक्ट-1; श्रीघंटा कर्ण महावीर मनोहर द्वार का उद्घाटन

करनाल नगर निगम ने करनाल-इंद्री रोड पर बलड़ी बाइपास के पास श्री आत्म मनोहर मुनी महाराज की स्मृति में श्रीघंटा कर्ण महावीर मनोहर द्वार बनाया है। सीएम उद्घाटन करके इसे भी जनता को समर्पित करेंगे। यह द्वार करनाल नए बस स्टैंड और नेशनल हाईवे-44 के पास है। इस गेट पर भव्य धौलपुर स्टोन लगाया गया है। इस पर 67 लाख 69 हजार रुपए खर्च हुए हैं।

व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए डीसी अनीश यादव।
व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए डीसी अनीश यादव।

प्रोजेक्ट-2; दो STP का शिलान्यास

मुख्यमंत्री सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के तहत शिव कॉलोनी में बनाई जा रही 8 एमएलडी क्षमता वाले सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (STP) और हकीकत नगर में 10 एमएलडी क्षमता के STP पर, कृषि सूक्ष्म सिंचाई के लिए समुदाय आधारित सौर ग्रिड संचालित एकीकृत सूक्ष्म सिंचाई बुनियादी ढांचे की स्थापना की परियोजना का शिलान्यास करेंगे। इस परियोजना पर करीब 13 करोड़ 29 लाख रुपए की लागत आने का अनुमान है।

प्रोजेक्ट-3; एसटीपी का होगा शिलान्यास

मुख्यमंत्री नाबार्ड माइक्रो इरिगेशन के तहत करनाल शहर में मौजूदा 50 एमएलडी क्षमता के एसटीपी पर भी सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग द्वारा किए जाए वाले सौर ग्रिड संचालित एकीकृत सूक्ष्म सिंचाई बुनियादी ढांचे की स्थापना का शिलान्यास करेंगे। इस परियोजना पर अनुमानित 65.29 करोड़ रुपए खर्च होने की संभावना है। इस परियोजना के शुरू होने से गांव रांवर, शेखपुरा, गंगोगढ़ी, ऊंचा समाना, बजीदा जटान, कुटैल, कैरवाली, अमृतपुर कलां, मुबारकाबाद, अलीपुर माजरा, कलरों, चौरा की लगभग 6400 एकड़ कृषि भूमि को फायदा होगा।

व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए डीसी अनीश यादव।
व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए डीसी अनीश यादव।

प्रोजेक्ट-4; बाढ़ बचाव के लिए ड्रेन

मुख्यमंत्री मनोहर लाल सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अन्य प्रोजेक्ट कैरवाली से मुंडोगढ़ी तक ड्रेन का पुनर्निर्माण और इंद्री एस्केप की बुर्जी नम्बर 145000 से बुर्जी नम्बर 159000 तक खुदाई के लिए परियोजना का शिलान्यास करेंगे। इस परियोजना के लिए अनुमानित 903.48 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। इस परियोजना के पूरा होने से गांव कैरवाली, फाजिलपुर, माजरा, चौरा, दारूलामा, तात्तरपुर और बहलोलपुर की कृषि भूमि को बाढ़ की समस्या से बचाया जा सकेगा। इस परियोजना के तहत गांव चौरा में जल निकाया का भी पुनर्निर्माण किया जाएगा, जिससे पुनर्भरण में सहयोग होगा।