अब 17 अक्टूबर तक हो सकेगा फसल पंजीकरण:रजिस्ट्रेशन न होने पर 250 रुपये प्रति क्विंटल वसूला जा रहा था चार्ज, शिकायत होने पर सरकार ने 4 दिनों के लिए खोला पोर्टल

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा सरकार द्वारा किसानों के लिए मेरी फसल, मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करने का एक और मौका दिया है। यह पोर्टल 14 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक खुलेगा। दरअसल, जिन किसानों ने किसी कारण से फसल पंजीकरण नहीं करवाया था उनसे 250 रुपये तक प्रति क्विंटल चार्ज लेने के मामले सामने आ रहे थे। ऐसे में कुछ किसानों ने इसकी शिकायत की तो सरकार ने 4 दिनों के लिए पोर्टल खोल दिया। ताकि योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसान पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करें।

डीसी निशांत यादव ने बताया कि पंजीकरण के लिए https://fasal.haryana.gov.in/ पर लॉग इन करें। इस पोर्टल के माध्यम से फसलों की बुआई से लेकर मंडियों में फसल की बिक्री तक सहायता मिलेगी।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के फायदे
अगर किसी प्राकृतिक आपदा में फसल को नुकसान होगा तो आसानी से मुआवजा मिलेगा। क्योंकि सरकार के पास उस किसान का पूरा ब्यौरा पहले से दर्ज होगा। कृषि से जुड़े उपकरणों पर सब्सिडी भी आसानी से मिल जाएगी। कृषि से संबंधित जानकारियां समय पर मिलेंगी। बीज सब्सिडी और कृषि लोन (Agri Loan) लेने में भी आसानी रहेगी। फसल की बिजाई-कटाई का समय व मंडी संबंधित जानकारी मिलेगी।

इन दस्तावेजों की होगी जरूरत
हरियाणा का स्थायी निवासी होने का प्रमाण पत्र।
परिवार पहचान पत्र
आवेदक का आधार कार्ड
मोबाइल नंबर जरूरी है
निवास प्रमाण पत्र, पहचान पत्र।
जमीन से जुड़े कागजात।
बैंक अकाउंट की जानकारी और मोबाइल नंबर।

कैसे करें आवेदन
मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के किसान अनुभाग में क्लिक करें। इसके बाद किसान पंजीकरण कॉलम में जाएं। यहां पर मोबाइल नंबर और कैप्चा भरकर लॉगिन करें। यहां जो-जो ब्यौरा मांगा जाएगा उसे भरकर सेव कर दें। कोई दुविधा है तो इसके टोल फ्री नंबर (1800 180 2060) पर संपर्क करें।

प्रति क्विंटल कर रहे थे मांग
किसान मामू राम ने बताया कि उसने अपनी फसल का पंजीकरण नहीं करवाया था। उससे प्रति क्विंटल पैसों की मांग की। जो मांग कर रहे थे। उनके पास कोई जमीन नहीं है। फिर की पंजीकरण की व्यवस्था किए हुए है। इसका पता लगाना चाहिए। ऐसा कैसे संभव है।

खबरें और भी हैं...