ओमिक्रॉन को लेकर बरती जा रही लापरवाही:कल्पना चावला अस्पताल में बिना मास्क घूम रहा स्टाफ और मरीजों के परिजन, CMO कर रहे बड़ा दावा

करनाल8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के करनाल शहर में नागरिक अस्पताल व कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में ओमिक्रॉन का कोई डर नजर नहीं आ रहा। मरीज, उनके संबंधी, आधे से ज्यादा स्टाफ बिना मास्क इधर-उधर घूमते नजर आ रहे हैं। जब इन स्थानों पर यह हाल है तो आम जगहों से सुधार की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। उधर सीएमओ डॉ. योगेश शर्मा ने सभी व्यवस्थाओं के पूरा होने का दावा करते हुए कहा कि विभाग पूरी तरह से अलर्ट है। जरूरत पड़ते ही सुविधाएं शुरू कर दी जाएंगी। कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए बेड, दवा और वेंटिलेटर की व्यवस्था है। कोरोना की जांच का दायरा भी बढ़ा दिया गया है।

चेन को ट्रेस कर रहा विभाग

पुर्तगाल से लौटे गांव बरानी खालसा निवासी 35 वर्षीय व्यक्ति में ओमिक्रॉन के लक्षण मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने गांव को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया है। साथ ही टीम को आदेश दिए हैं कि व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों की चेन को ट्रेस किया जाए। उनकी कोरोना टेस्टिंग की जाए। परिवार के 4 सदस्यों में से भी दो पॉजिटिव पाए गए हैं।

विभाग ने इन व्यवस्थाओं का किया दावा

कोरोना के मरीजों के लिए जिले में करीब एक हजार बेड की व्यवस्था है। हर पीएचसी, सीएचसी, नागरिक अस्पताल में, कल्पना चावला मेेडिकल कॉलेज में भी बेड की व्यवस्था है। नागरिक अस्पताल में 23 वेंटिलेटर दिए गए हैं। ऑक्सीजन प्लांट भी नागरिक अस्पताल में लगाया गया है। जिले में 400 के करीब कंसंट्रेटर मशीनें हैं। हर पीएचसी में 10 कंसंट्रेटर मशीनें दी गई हैं। इससे अलग ऑक्सीजन सिलिंडर की भी पूरी व्यवस्था है, ताकि ग्रामीण क्षेत्र में ही कोरोना पॉजिटिव को समय पर ऑक्सीजन दी जाए।

ग्रामीण क्षेत्र में दो ऑक्सीजन प्लांट शुरू

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन को लेकर काफी परेशानी आई थी। इसलिए मेडिकल कॉलेज, नागरिक अस्पताल के साथ ग्रामीण क्षेत्र में घरौंडा और नीलोखेड़ी सीएचसी में ऑक्सीजन प्लांट शुरू कर दिया है। असंध व इंद्री सीएचसी में प्लांट शुरू करने का कार्य चल रहा है।

बचाव के लिए दोनों डोज लगवानी जरूरी

सीएमओ ने कहा कि कोरोना को खत्म करने के लिए टीका लगाना बेहद जरूरी है। फिलहाल 17 लाख 33 हजार 172 डोज लग चुकी हैं। इनमें से 10 लाख 55 हजार 937 को पहली तो 6 लाख 77 हजार 235 को दूसरी डोज लगी हैं। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण कराने के लिए हर घर दस्तक कार्यक्रम शुरू किया गया है। जिन लोगों ने दूसरी डोज नहीं लगवाई है, जल्द लगवाएं।

खबरें और भी हैं...