500 किसानों का जत्था सिंघु बॉर्डर रवाना:51 फीट लंबी ट्रॉली लेकर कारसेवा हुजूर साहिब वाले बाबा हुजूर सिंह बसताडा टोल से निकले

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
51 फीट लंबी ट्रॉली आकर्षण का केंद्र रही। - Dainik Bhaskar
51 फीट लंबी ट्रॉली आकर्षण का केंद्र रही।

हरियाणा के करनाल जिले के सैकड़ों किसान गुरुवार को आंदोलन में शामिल होने के लिए सिंघु बॉर्डर रवाना हुए। एक तरफ तो आंदोलन खत्म होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं, वहीं दूसरी तरफ आए दिन किसानों की संख्या बॉर्डर की तरफ पहले से भी ज्यादा हो रही है।

गुरुवार को रवाना हुए जत्थे में 51 फीट लंबी ट्रॉली आकर्षण का केंद्र रही। ट्रॉली में हर प्रकार की सुविधा तैयार करने के लिए 15 लाख रुपए खर्च हुए हैं। ट्रॉली में सुविधाएं निसिंग के कारसेवा हुजूर साहिब वाले बाबा हुजूर सिंह ने तैयार करवाई है। चढ़ने-उतरने के लिए सीढ़ियां, 12 टायर लगे हैं। किसान नेताओं का कहना है कि जब तक किसानों की सभी मांगों को नहीं माना जाता तब तक किसान निरंतर रवानगी करते रहेंगे।

सिंघु बॉर्डर पर जाने की तैयारी करते हुए किसान।
सिंघु बॉर्डर पर जाने की तैयारी करते हुए किसान।

प्रदेश कोर कमेटी सदस्य जगदीप औलख ने बताया कि विश्व की सबसे लंबी 51 फीट की ट्रॉली ​​​​​में ​​कारसेवा हुजूर साहब वाले बाबा हुजूर सिंह के नेतृत्व में एक जत्था निसिंग से सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना हुआ। इस ट्रॉली को करीब 15 लाख रुपये खर्च कर तैयार किया है। जत्थे में 500 के करीब लोग पहुंचे हैं। ट्रॉली के अलावा 20 गाड़ियां, दो बसें भी रवाना हुईं हैं। वहां पर लोग खुशी मनाने जा रहे हैं। जब तक आंदोलन जारी रहेगा, तब तक किसान बॉर्डर पर जाते रहेंगे।

आईटी सेल के जिला प्रधान बहादुर मैहला ने बताया कि जब से आंदोलन चल रहा है तब से भोजन, रहने व अन्य सुविधाओं के लिए संतों से सहयोग मिलता रहता है। आज भी बड़ी संख्या में जत्था बॉर्डर के लिए रचाना हुआ है।

करनाल से सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना होता किसानों का जत्था।
करनाल से सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना होता किसानों का जत्था।