ठगी का मामला:विदेश भेजने का झांसा देकर 17.27 लाख रुपए की ठगी

करनाल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पुर्तगाल भेजने का झांसा देकर दो युवकों से 17 लाख 27 हजार 565 रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी गुरमुख सिंह, सुरमुख सिंह उर्फ इम्पैक्स सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच जारी है। रायफार्म काछवा वासी सुरेंद्र कौर ने शिकायत दी कि उसका लड़का मनप्रीत सिंह व उसका भतीजा विक्रमजीत सिंह वासी राजीव कॉलोनी जोकि बेरोजगार थे। उन्हें पता चला कि गुरमुख सिंह व सुरमुख सिंह लड़कों को पुर्तगाल व यूरोप के अन्य देशों में वर्क वीजा पर भेजने का काम करता है।

आरोपी गुरमुख सिंह 15 मार्च 2020 को काछवा में उनके घर आया और उसने दोनों लड़कों को पुर्तगाल में वर्क वीजा पर भेजने के लिए कुल 20 लाख रुपए खर्चा बताया। 5 फरवरी 2020 को आरोपी ने वीजा की कार्रवाई शुरू करन के लिए दो लाख रुपए मांगे। उसने व उसके भाई जरनैल सिंह ने उसी दिन आराेपियाें काे एक-एक लाख रुपए दिए गए। आरोपियों ने फोन करके बताया कि दोनों लड़कों का आॅनलाइन वीजा आ गया है। 9 सितंबर 2020 को दिल्ली से पुर्तगाल की फ्लाइट है। जिसके लिए उस दिन 10 लाख रुपए की जरूरत है, जिसमें से विदेशी डालर भी खरीदने हैं।

इसलिए सुबह 10 लाख रुपए नकद इंतजाम करके रखना है। उन्होंने इसके लिए 10 लाख रुपए दे दिए। अगले दिन उसके लड़के मनप्रीत सिंह ने उसे फोन किया कि उनका वीजा तो दुबई तक का था, एजेंट ने उन्हें झूठ बोला था कि उनका पुर्तगाल का वीजा लग गया है। उन्हें इसकी जानकारी दुबई पहुंचकर मिली।

आरोपियों को कहा कि आपने तो हमारे लड़कों का वीजा पुर्तगाल का लगाने की बात कही थी, लेकिन हमारे लड़कों का वीजा दुबई तक का लगाया हुआ है, जिस पर आरोपी ने कहा कि कोई बात नहीं। हम पांच सात दिन में दुबई से पुर्तगाल का वीजा लगवा देंगे। आपके लड़के पुर्तगाल पहुंच जाएंगे। लड़कों वहीं दुबई में फंसे रहे। जबकि आरोपी हमसे अलग-अलग टाइम में लगभग 17 लाख 27 हजार 500 रुपए ले चुके हैं। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं...