• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Gate Passes Were Issued But There Was No Arrival Of Paddy In The Market; Marketing Board's CA Has Done Checking In His Own Market, Will Fall On The Scammers

24 हजार क्विंटल धान का फर्जीवाड़ा:करनाल की घीड़ मंडी में गेट पास तो जारी हुए पर नहीं पहुंची फसल; मार्केटिंग बोर्ड के जोनल इंचार्ज ने सौंपी रिपोर्ट

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल की कुंजपुरा अनाज मंडी। - Dainik Bhaskar
करनाल की कुंजपुरा अनाज मंडी।

हरियाणा के करनाल जिले में दो मंडी सचिवों को सस्पेंड किए जाने के बावजूद धान खरीद में फर्जीवाड़ा रुक नहीं रहा। अब कुंजपुरा के अंतर्गत आने वाली घीड़ मंडी में नया घपला सामने आया है। यहां राज्य कृषि विपणन बोर्ड के अफसरों ने 24 हजार क्विंटल का फर्जीवाड़ा पकड़ा। मामला सामने आने के बाद मार्केटिंग बोर्ड के CA ने खुद मंडी में पहुंचकर चेकिंग की।

घीड़ मंडी में गेट पास के अनुसार जो धान आया, उसमें से लिफ्ट होने के बाद बचा धान मंडी में नहीं मिला। ऐसा तकरीबन 24 हजार क्विंटल धान है। फसल मंडी में नहीं होने से विभाग के अधिकारी भी हैरान हैं। मामले की जांच कर जोनल इंचार्ज ने रिपोर्ट हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के चीफ एडमिनिस्ट्रेटर को सौंप दी। मामले में जिन लोगों के नाम सामने आए हैं, उन पर जल्द ही सस्पेंशन सहित कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

ऐसे चल रहा खेल
घीड़ मंडी में धान की आमद के बिना ही गेट पास काटे जाते हैं। इसके एवज में 30 रुपए प्रति क्विंटल से लेकर 100 रुपए तक वसूले जाते हैं। इस तरह गेट पास तो कट जाते हैं लेकिन धान की फसल मंडी में नहीं आती। सरकारी पोर्टल पर ऐसे किसानों, जिनके नाम पर धान खड़ा होता है, उनके नाम से गेट पास कटवा लिए जाते हैं। फर्जी धान की एवज से सरकार से पैसा वसूल लिया जाता है। इसके बाद बाहरी राज्यों से घटिया चावल लाकर सरकारी कोटे में जमा करवा दिया जाता है। इस पूरे खेल में कई राइस मिलर्स अपने आढ़तियों के साथ मिलकर मोटा मुनाफा कमाते हैं।

अनाज मंडी में धान लेकर पहुंचे किसान।
अनाज मंडी में धान लेकर पहुंचे किसान।

फर्जीवाड़ा सामने आने से विभागीय अधिकारी सकते में
खरीद प्रक्रिया में सख्ती के बाद भी 24 हजार क्विंटल धान का फर्जीवाड़ा सामने आने से विभागीय अधिकारी भी सकते हैं। ऐसे मामले अन्य मंडियों में तो नहीं चले, इसके लिए सभी मंडियों के बारे में अन्य लोगों से भी फीड बैक लेकर रिपोर्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू की है।

करनाल की मंडियों में कोटा पूरा करने की जद्दोजहद
CA विनय सिंह के दौरे के साथ मंडी अधिकारियों पर की जा रही कार्रवाई को देखते हुए करनाल की मंडियों में हड़कंप मचा हुआ है। इस कारण सरकार ने राइस मिलों को जो निर्धारित कोटा दिया है, उसे पूरा करने के लिए राइस मिलर्स में प्रतिस्पर्धा दिख रही है।

गलत करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई
हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के चीफ एडमिनिस्ट्रेटर विनय सिंह ने बताया कि घीड़ मंडी में जांच रिपोर्ट मिल चुकी हैं। रिपोर्ट देखने के बाद जानकारी दी जा सकती है। मंडी में 24 हजार क्विंटल का अंतर मिला है, ये धान मंडी में नहीं मिला जबकि गेट पास कटे हैं। गलत कार्य करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...