PM मोदी के खिलाफ गुरनाम चढ़ूनी का बयान:बोले- ऐसा करके पंजाब चुनाव में लाभ लेना चाहते प्रधानमंत्री, किसान हर सीट पर कड़ी टक्कर देंगे

करनाल4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के करनाल जिले के दरड़ गांव में भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा मामले को ड्रामा बताया। उन्होंने कहा कि वे ऐसा करके पंजाब चुनाव में लाभ लेना चाहते हैं। पंजाब चुनाव में किसानों के चुनाव लड़ने और हरियाणा में पंचायत चुनाव पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। चढ़ूनी गांव दरड़ में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे थे। वे सिख गुरु के सामने नत्मस्तक होने आए थे। चढ़ूनी ने कहा कि सतगुरु ने समाज के लिए पूरा परिवार कुर्बान किया था। इस आंदोलन में दरड़ गांव का पूरा सहयोग था। अहम भूमिका रही थी। सबसे ज्यादा भूमिका करनाल की ही रही है।

सवाल : प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कमी पर क्या कहेंगे।

चढ़ूनी : यह उनका एडवरटाइजमेंट करना का अच्छा तरीका है। वे हेलिकॉप्टर में जा सकते थे। उनके जाने से पहले कोई सड़क रुक जाए। ऐसा संभव नहीं है। वह ऐसा करके चुनाव में फायदा उठाना चाहते हैं।

सवाल : संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक कब होगी।

चढ़ूनी : 15 जनवरी को समीक्षा बैठक है। इसमें चर्चा करेंगे कि अब तक किस मांग पर क्या हुआ। कितना आगे बढ़ा। कितना बाकी है।

सवाल : पंजाब चुनाव में क्या मुद्दा रहेगा।

चढ़ूनी : पंजाब में चुनाव को लेकर संयुक्त संघर्ष पार्टी बनाई है। हमारा मकसद है, जो कानून के हिसाब से जनता को लूट रहे हैं, उनका पर्दाफाश करना। हम कुछ ऐसा करेंगे, जिससे निचले आदमी को ज्यादा पैसा मिले। आमदन बढ़े। देश की अर्थव्यवस्था सुधरे। पढ़ाई फ्री की बात है, इलाज फ्री की बात है।

सवाल : पंजाब चुनाव में कांग्रेस व आप पार्टी ने कई योजनाएं फ्री देने घोषणा की है।

चढ़ूनी : देखिए हम कहते हैं आमदन दो। वे कहते हैं पहले गरीबी दो, फिर भीख दो। पहले लोगों को गरीब बनाते हैं और फिर 5 किलो चावल देते हैं।

सवाल : चुनाव में किसान किसे वोट देंगे।

चढ़ूनी : किसानों को 6 हजार रुपए एक साल में दिया जा रहा है। मक्का में एक एकड़ से 22 हजार रुपए का नुकसान होता है। 6 हजार रुपए देकर हमें दया दिखा रहे हैं। किसान ऐसे वोट देने वाले नहीं है।

सवाल : पंजाब में चुनाव कैसे लड़ा जाएगा।

चढ़ूनी : देखिए कोशिश तो इकट्‌ठे करने की है। बाकी ऊपर वाले की मर्जी है। मैं चुनाव नहीं लडूंगा। चुनाव लड़वाएंगे।

सवाल : हरियाणा के चुनाव को लेकर क्या निर्णय रहेगा।

चढ़ूनी : हरियाणा में पंचायती चुनाव हैं। जिसने आंदोलन में ज्यादा हिस्सा लिया, उसको जिला परिषद का चुनाव लड़वाया जाएगा। जिसने आंदोलन में सहयोग नहीं किया उसको वाेट नहीं देंगे।

सवाल : पंजाब में राष्ट्रपति शासन लागू करना कहां तक ठीक है।

चढ़ूनी : सरकार है। मर्जी है। कुछ भी कर सकती है। राष्ट्रपति शासन लागू करे। ड्रामा किया गया है। सुरक्षा में कोई चूक नहीं है। सिर्फ दिखावा है कि प्रधानमंत्री रोक दिया। प्रधानमंत्री रोक दिया।