करनाल में युवक का गोली मारकर कत्ल:पूर्व सरपंच के बेटे की शादी में कहासुनी होने पर घर से बुलाकर मारी गोली, नहर किनारे फेंक गए

करनाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में करनाल जिले के गोंदर गांव में 25 वर्षीय युवक गोल्डी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। गांव के पूर्व सरपंच राजेंद्र के बेटे की शादी में गोल्डी और गांव के युवक अजीत के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। उसके बाद लोगों ने मौके पर दोनों में समझौता करवा दिया। मगर शाम को अजीत और उसके साथियों ने पहले गोल्डी को घर से बुलाकर पीटा और फिर गोली मारने के बाद नहर किनारे फेंक दिया।

घायल गोल्डी ने शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। उसकी छाती और पेट के बीच गोली मारी गई। गोल्डी अविवाहित था और खेती-बाड़ी में अपने परिवार का हाथ बंटाता था।

उसके परिवार की शिकायत के बाद पुलिस ने अजीत समेत 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर गोल्डी का शव परिजनों को सौंप दिया। उधर इस घटना के बाद गोंदर गांव में तनाव का माहौल बना हुआ है। ऐसे में करनाल के एसपी गंगाराम पुनिया ने गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दी है।

गोल्डी के मौसा नरेंद्र सिंह ने बताया कि 2 दिसंबर को गांव के पूर्व सरपंच राजेंद्र के बेटे की शादी का प्रोग्राम निसिंग के एक पैलेस में था। वहां गोल्डी और गांव में ही रहने वाले अजीत के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। मौके पर मौजूद लोगों ने उस समय दोनों के बीच समझौता करवा दिया। उसी दिन शाम को अजीत के चाचा के बेटे चरणा और पम्मी बाइक पर गोल्डी के घर पहुंचा और उसे फोन करके बाहर बुलाया। गली में थोड़ी देर बातचीत करने के बाद चरणा और पम्मी बाइक पर गोल्डी को बैठाकर अजीत के घर ले गए। वहां अजीत और उसके परिवार के सदस्यों ने पहले गोल्डी से मारपीट की और फिर उसे गोली मारकर नहर किनारे फेंक दिया।

नरेंद्र सिंह के अनुसार, इस घटना के आधे घंटे बाद उन्हें एक रिश्तेदार ने फोन करके बताया कि गोल्डी को गोली लगी है और वह नहर किनारे पड़ा है। परिवार के सदस्य आनन-फानन मौके पर पहुंचे तो गोल्डी की सांसें चल रही थी। वह तुरंत उसे निसिंग अस्पताल ले गए जहां से उसे करनाल रेफर कर दिया गया। मामले की शिकायत भी पुलिस को दे दी गई।

शुक्रवार को करनाल अस्पताल में गोल्डी के शव के इंतजार में खड़े परिजन।
शुक्रवार को करनाल अस्पताल में गोल्डी के शव के इंतजार में खड़े परिजन।

गोल्डी के परिवार ने पुलिस को दी शिकायत में अजीत, उसके पिता, चाचा संजय, चचेरे भाई चरणा और दो अन्य लोगों के खिलाफ मारपीट और गोली मारने का आरोप लगाया। अजीत के खिलाफ पहले से कई मामले दर्ज हैं। निसिंग थाने के जांच अधिकारी अजायब सिंह ने बताया कि पुलिस ने मरने से पहले गोल्डी का बयान ले लिया। गोल्डी ने पुलिस को बताया कि अजीत ने ही उसे गोली मारी। गोल्डी की मौत के बाद आरोपियों पर हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है।

खबरें और भी हैं...