पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसानो का चक्काजाम:11 स्थानों पर लगे जाम से हैवी व्हीकलों की लगी कतारें, 3 घंटे रोडवेज बसें बंद रही

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नेशनल हाईवे 709ए पर जींद चौक पर जाम लगाकर बैठे किसान। - Dainik Bhaskar
नेशनल हाईवे 709ए पर जींद चौक पर जाम लगाकर बैठे किसान।
  • बसताड़ा टोल पर छोटे व्हीकलों को रोका तो हुई बहस, पुलिस की गाड़ी भी नहीं जाने दी

तीन कृषि कानूनाें के खिलाफ किसानों ने जिले में 11 स्थानों पर तीन घंटे जाम लगाकर विरोध जताया। जाम के दौरान हैवी व्हीकलों की लंबी कतारें लगी रही। तीन घंटे तक रोडवेज बस सर्विस बंद रही। डायवर्ट किए गए वाहनों से भी 10 किलोमीटर का अतिरिक्त चक्कर लगा। इससे पब्लिक परेशान हुई। जाम के दौरान हाईवे स्थित बसताड़ा टोल तक पहुंचे छोटे वाहन चालकों को रोका गया।

पुलिस की गाड़ी को भी नहीं जाने दिया गया। जिसके बाद वाहन चालकों और आंदोलनकारियों के बीच बहस होती रही। हालांकि आंदोलनकारियों ने आपातकालीन वाहनों को जाने से नहीं रोका। दूसरी तरफ, पुलिस प्रशासन की तरफ से मोर्चा संभाला गया। विभिन्न स्थानों पर नाके लगाकर वाहनों को रूट डायवर्ट किया।

आंदोलनकारी किसानों ने अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत बसताड़ा टोल प्लाजा पर नेशनल हाईवे-44 को जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने ट्रैक्टर-ट्राॅली लगाकर पानीपत-करनाल साइड को राेका। इसके बाद पानीपत-करनाल साइड में टोल प्लाजा की लेनों पर कारें, ट्रैक्टर-ट्राॅली, बाइकें व मोबाइल बैरियर लगाकर रास्ता रोका।

धरनास्थल पर कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विरेंद्र राठौर भी पहुंचे और किसानों को हौसला बढ़ाया। राठौर ने कहा कि जाम के माध्यम से आम लोगों को तीनों कृषि कानूनों के बारे में बताया था कि कानून किसी के भी हित में नहीं है। इस चक्का जाम में जनता ने भी स्पष्ट कर दिया है कि वह किसान के साथ खड़ी है।

वहीं हाईवे जाम होने की सूरत में पुलिस प्रशासन ने भी मोर्चा संभाला और वाहनों को दूसरे रास्तों से डायवर्ट किया। इसके अलावा मेरठ रोड नगला चौक पर लगाए गए जाम के दौरान भारतीय किसान मजदूर नौजवान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र आर्य दादूपुर ने कहा कि सड़कें रोकना लोकतंत्र में प्रदर्शन का अंतिम विकल्प बचता है। जब सरकार बड़े- बड़े आंदोलनों की अनदेखी करती है तो आंदोलनकारियों को मजबूरन सड़क जाम करनी पड़ती है।

डायवर्ट रूट्स से भी पब्लिक परेशान, पांच से दस किलोमीटर का अतिरिक्त चक्कर काटना पड़ा, 3 घंटे तक किसानों ने शांतिपूर्वक लगाया जाम
असंध में किसान आंदोलन के चलते संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर दाेपहर 12 बजे से लेकर दाेपहर 3 बजे तक किसानों ने शहर में नेशनल हाईवे ‌709ए स्थित जींद चौक, असंध उपमंडल के पक्काखेड़ा मोड़, गांव शेखुपुरा और गांव बल्ला में असंध- कोहंड पर जाम लगाकर रोष जताया। वहीं सालवन रोड पर गांव दुपेड़ी अड्डे पर महिलाओं ने जाम लगाकर नारेेबाजी की।

दोपहर 2 बजे धरने पर बैठी संगत ने लंगर चखा। जींद चौक पर धरने की अध्यक्षता किसान यूनियन के ब्लॉक प्रधान जीवन सिंह ने की। इन तीन घंटों में विभिन्न मार्गों से 169 वाहन चौक तक पहुंचे और फिर दूसरों रास्तों से होते हुए अपने गंतव्य की ओर पहुंचे।

किसान नेता सुखविंद्र झब्बर, छत्रपाल सिंधड़, जा‌ेगिंद्र झींडा, मास्टर जीत सिंह झींडा, एडवोकेट कुलदीप राणा, दलविंद्र मट्टू, मंडी के पूर्व प्रधान रामनिवास जिंदल, सतबीर सिंधड़ सहित अन्य नेताओं ने किसानों से लंबे संघर्ष के लिए तैयार रहने बारे सचेत किया। इसके अलावा बल्ला में कोहंड -असंध मार्ग पर ट्रैक्टर ट्राॅली खड़ा करके लगाए गए जाम में किसान नेता कृष्ण मान, रामपाल मान व राममेहर शर्मा ने कहा कि जाम में फंसे लोगों के लिए जाम स्थल पर चाय पकौड़े का इंतजाम किसानों की तरफ से किया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें