PhD दुल्हन के फेरे रोकने के मामले में नया मोड़:दूल्हा पक्ष बोला- लड़की वाले ही देना चाहते थे गाड़ी; ऑडियो सौंपने का दावा, पुलिस का इनकार

करनाल6 महीने पहले

शादी के जोड़े में बैठी दुल्हन, मंडप, मेहमान-रिश्तेदारों के तैयार होने के बावजूद दूल्हे के परिजनों के फेरों से इनकार करने के मामले में नया मोड़ आ गया है। अब दूल्हा पक्ष ने दो ऑडियो जारी कर आरोप लगाया है कि उन्होंने दहेज की कोई मांग नहीं की बल्कि दुल्हन पक्ष ने खुद ही उन्हें गाड़ी देने की पेशकश की थी। उन्होंने इससे इनकार कर दिया था।

दूल्हे पक्ष का दावा है कि इन ऑडियो में दुल्हन के पिता और दुल्हन से नसीब की बातचीत है। दूल्हे पक्ष ने इन ऑडियो को पुलिस के सामने पेश करने का भी दावा किया है। वहीं पुलिस ने ऐसा कोई ऑडियो नहीं उपलब्ध करवाने की बात कही है।

पहले ऑडियो में दुल्हन के पिता और दूल्हे नसीब की बातचीत का दावा...

  • दुल्हन का पिता : कल पापा आए थे बातचीत करने... तो कैसे करना है आगे... तो.. वो गाड़ी की बात कर रहे थे... तो कह रहे थे कि अभी रहने देना.. ऐसा कुछ कह रहे थे... तो कैसे करना है..?
  • नसीब : मेरे पापा ने बता ही दिया होगा...
  • दुल्हन का पिता : पापा ने तो बता दिया... मैं यही कह रहा था कि एक बार नसीब से बात करके देखुंगा... उन्होंने यह बताया था कि नसीब कह रहा था कि अभी रहने देना.. एक आध साल बाद नई ले लूंगा... इस तरह की बात कही थी...
  • नसीब : हां... जरूरत पड़ेगी तो खुद ले लूंगा..
  • दुल्हन का पिता : हम्म...
  • नसीब : अगर जरूरत पड़ेगी तो खुद ही ले लूंगा
  • दुल्हन का पिता : हां... नहीं.. वो तो है.. अभी फिलहाल वहां ले जाने की भी प्रॉब्लम होगी न... फिर खड़ी रहेगी..
  • नसीब : मुझे तो अभी जरूरत नहीं है कार का... मुझे तो चलाना भी नहीं आता.. मेरा काम चल रहा है.. तो वही मैं बोला था कल पापा को भी..
  • दुल्हन का पिता : हां वो कह रहे कि वो (नसीब) कह रहा था कि न तो मेरे को आती है चलानी और न कोमल को..
  • नसीब : चलाना तो बड़ी बात नहीं है...
  • दुल्हन का पिता : वो तो सीख लेंगे वो तो कौन सी बड़ी बात है
  • नसीब : लेकिन.. हां जरूरत नहीं है अभी
करनाल में शादी के वेन्यू पर पहुंचे परिजन और रिश्तेदार।
करनाल में शादी के वेन्यू पर पहुंचे परिजन और रिश्तेदार।

वहीं दूसरे ऑडियो के बारे में भी दूल्हे पक्ष का दावा है कि यह दुल्हन कोमल और दूल्हे नसीब के बीच हुई बातचीत का है। उनका दावा है कि इस ऑडियो में लड़की के पिता से नसीब की बात से अगली बातचीत होती है...

  • नसीब : तुम्हारे पापा कार क्यों दे रहे हैं..यार..
  • लड़की : कार्ड..?
  • नसीब : कार... तुम्हारे...मेरे पापा गए थे न उस दिन... मेरे पापा मेरे भाई गए थे

यहां लड़की कुछ कहती है लेकिन समझ नहीं आता... उसके बाद नसीब बोलता है...

  • नसीब : मुझको नहीं चाहिए मैं तुम्हें पहले भी शायद बोला था न.. मेरे पास सब है...
  • लड़की : मुझको चाहिए हो तो..?
  • नसीब : तुमको चाहिएगा न.. तो जो मेरे पास है वही रहेगा... ऐसा नहीं कि मैं यहां से लेके तुमको दूंगा ऐसा नहीं होने वाला है...
  • लड़की : पापा ने बता दिया था.. कि तुमने मना कर दिया है.. और मैं पापा को ऑलरेडी बता चुकी थी...
  • नसीब : क्या..?
  • लड़की : कि... पापा नसीब आपको मना करेंगे.. क्योंकि वो मुझे मना कर चुके हैं... पापा ने कहा मैं एक बार ट्राई करके देख लेता हूं...

गौरतलब है कि इन ऑडियो को लेकर दूल्हे पक्ष का दावा है कि पुलिस के सामने भी पेश कर दिया है। सिविल लाइन थाना के SI रमेश कुमार ने बताया कि अभी मामले की जांच चल रही है। दूल्हे पक्ष ने ऐसा कोई ऑडियो अभी पुलिस के सामने पेश नहीं किया है। यदि ऐसा कोई ऑडियो वे सामने लाए तो जांच के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।

करनाल में दुल्हन कोमल को सांत्वना देती उसकी जानकार।
करनाल में दुल्हन कोमल को सांत्वना देती उसकी जानकार।

इससे पहले हरियाणा के करनाल जिले में दुल्हन पक्ष ने दूल्हे वालों पर फॉर्च्यूनर कार और 20 लाख कैश की डिमांड कर पूरी रात फेरे ही नहीं होने देने का आरोप लगाया था। लड़की वालों ने सवेरे पुलिस बुला ली थी। पुलिस के सामने सुबह 8:00 बजे दूल्हे वाले फेरों के लिए झट तैयार हो गए। लड़की पक्ष का कहना था कि रात 2 से 3 बजे के बीच फेरे होने थे, लेकिन बार-बार बुलाने पर नहीं आए। अब पुलिस को देखकर माने गए हैं, बाद में कुछ भी कर सकते हैं। दुल्हन पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने दूल्हे नसीब, उसके पिता करतार और भाई प्रीतम के खिलाफ केस दर्ज किया है।

करनाल के एक होटल में LAW DOCTRATE कोमल की शादी थी। ससुरालियों की फॉर्च्यूनर कार और कैश की डिमांड के कारण यह अटक गई। सारी रात दूल्हा और उसके परिजन फेरे लेने के लिए नहीं माने। जींद निवासी दूल्हा नसीब केंद्रीय कृषि विभाग में वैज्ञानिक है। दुल्हन कोमल भी शिक्षा विभाग में कार्यरत है। कोमल को NDRI में कार्यरत बागपत (UP) निवासी उसके ताऊ योगेंद्र तोमर ने गोद ले रखा है। पालन-पोषण के बाद पीएचडी कराने के बाद अब शादी भी वही करवा रहे थे।

दूल्हे के सामने लड़की का ताऊ हाथ जोड़ता हुआ, पर नहीं माने।
दूल्हे के सामने लड़की का ताऊ हाथ जोड़ता हुआ, पर नहीं माने।

लग्न की रस्म के समय दूल्हे ने चेन खींच फेंक दी

लड़की के ताऊ योगेंद्र तोमर ने बताया कि बरात आई तो 80 बारातियों को चांदी का एक-एक सिक्का दिया गया। उसके बाद लग्न की रस्म हुई। उसमें उन्होंने सामर्थ्य के अनुसार होने वाले समधी को अंगूठी और दूल्हे को चेन पहनाई। जब लग्न की रस्म पूरी होने के बाद वहां से उठे तो लड़के ने तुरंत चेन गले से खींचकर फेंक दी। हम हाथ जोड़कर उनसे प्रार्थना करते हुए कारण पूछने लगे। सामने आया कि लड़के के बहनोई और दूसरे भाई के लिए भी चेन की डिमांड थी।

ताऊ ने बताया कि हमने हाथ जोड़कर दो दिन का समय मांगा और प्रार्थना की। दूल्हा पक्ष मना करते हुए गाली-गलौज करने लगा और फेरों के लिए आने से मना कर दिया। इसके बाद दूल्हे पक्ष से बात सामने आई कि गाड़ी भी कहीं नहीं दिख रही। फॉर्च्यूनर गाड़ी की बात कही थी... ऐसे तो रुपए भी नहीं देंगे। लंबे समय तक दूल्हे पक्ष के लोगों में खुसर-फुसर होती रही। हम उन्हें बुला रहे थे और वह हमें लगातार टालते रहे। योगेंद्र तोमर ने बताया कि उनकी बेटी कोमल LLB, LLM, Ph.D. पास है। जॉब करती है। जब दहेज के लोभी किसी की बेटी को ऐसे छोड़ दे तो कोई पिता क्या करे? मंगलवार सुबह तक दोनों पक्षों में मान-मन्नौवल चली। जब नहीं माने तो उन्होंने पुलिस को बुला लिया।

दुल्हन बोली- ऐसे दहेज लोभियों से शादी नहीं करना चाहती

दुल्हन बनी कोमल ने कहा कि पापा ने आकर बताया कि दूल्हे ने चेन और अंगूठी उतार कर फेंक दी। दूल्हे ने कहा कि उसके दो बहनोई और बड़े भाई के लिए कुछ नहीं दिया। समाज में बेइज्जती कर दी। वह लॉ में पीएचडी हैं, जो उसके साथ ऐसा कर सकता है, वह आम लड़की के साथ कैसा व्यवहार करेंगे।

कोमल ने बताया कि वह हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट में लीगल लॉयर हैं। यहां CM सिटी में पढ़े-लिखे के साथ ऐसा हो रहा है। ऐसे दहेज लोभियों के साथ बिल्कुल शादी नहीं करना चाहती। दूल्हा पक्ष ने कहा कि आप सामान की बजाय कैश दे दो। पिता यूपी के किसान हैं। 8 साल से उन्हें गन्ना का पैसा नहीं मिला। वह ब्याज पर पैसे उठाकर शादी कर रहे थे। उन्होंने चार-पांच दिन का टाइम मांगा कि सब अरेंज कर देंगे।

दूल्हे का भाई और पिता नहीं माने

कोमल ने बताया कि दूल्हे का भाई प्रीतम और पिता बिल्कुल भी नहीं माने। इसके बाद नसीब, प्रीतम और उनके पिता के खिलाफ शिकायत दी है। लड़के के बहनोई ने उन्हें कहा कि वह दिल्ली क्राइम ब्रांच में है। जल्दी बताओ जो गाड़ी की बात हुई थी, कहां है गाड़ी। जल्दी-जल्दी फैसला करो। जब हमने पुलिस बुलाई तो बोला- मैं चुटकियों में, 2 मिनट में बेल करवा लूंगा।

दुल्हन की मां ने पकड़े दूल्हा पक्ष के पैर

कोमल की मां ने कहा कि उसने लड़के पक्ष के लोगों के पैर भी पकड़े। कोई मानने को तैयार नहीं हुआ। वह कह रहे थे तुम लोगों ने चेन और फॉर्च्यूनर गाड़ी नहीं दी। उनका जमाई भी गाड़ी की मांग कर रहा था। दूल्हे का बहनोई दिल्ली पुलिस में है। वह आकर कह रहा है कि आपने फॉर्च्यूनर कहा था, अब क्यों मुकर रहे हो।

मौके पर दोनों पक्षों की सुनने पहुंची पुलिस।
मौके पर दोनों पक्षों की सुनने पहुंची पुलिस।

दूल्हा बोला-उसकी डिमांड नहीं, परिवार की MISUNDERSTANDING

दूल्हे नसीब ने दावा किया कि उनकी तरफ से कोई डिमांड नहीं की गई। परिवार की आपसी बातचीत के कारण MISUNDERSTANDING हो गई। बात की जा रही है। बहनोई ने कहा कि उसकी भी बहन है, उसकी भी शादी हुई है। बेटी भी है। कोई भी बाप-भाई लोभियों को अपनी बहन-बेटी को नहीं देना चाहेगा। लड़के और उसके परिवार की तरफ से कोई डिमांड नहीं की गई। लड़के ने तो अपनी चेन उतारकर दी थी कि उसे चेन नहीं चाहिए।

पुलिस सुन रही है दोनों पक्षों की बात

SI निरंजन ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को सुना। लड़की पक्ष ने फॉर्च्यूनर गाड़ी, 20 लाख रुपए और गहनों की मांग करने का आरोप लगाया। लड़के पक्ष ने दावा किया कि दहेज लेने से मना किया और चेन उतार कर दी थी कि 10 दिन बाद दे देना। उनके घर में झगड़ा नहीं होगा। इसी बात पर उनका झगड़ा हो गया। सिविल लाइन थाने के SI रमेश ने बताया कि लड़की वालों की शिकायत पर दूल्हे, उसके पिता और भाई के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं...