पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से लड़ाई:आईटीआई छात्र चलाएंगे ऑक्सीजन प्लांट, दी जा रही ट्रेनिंग

करनाल9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के पास आउट छात्र कोरोना महामारी के दौरान ऑक्सीजन प्लांट को चलाएंगे। इसके लिए संस्थान को पत्र जारी कर दिया है। सरकारी अस्पतालों में पीएसए (प्रेशर स्विंग एडजॉर्प्शन टेक्नोलोजी) ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसकी चलाने और देखरेख के लिए आईटीआई के छात्रों को दी जाएगी।

आईटीआई के अनुदेशक सतीश गहलोत ने बताया कि बाबू मूलचंद जैन राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान से 10 विद्यार्थियों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। जबकि अन्य बैच ट्रेनिंग के लिए तैयार किए जा रहे हैं। एक प्लांट पर चार विद्यार्थियों की ड्यूटी होगी। विद्यार्थियों को 80 घंटे ऑनलाइन, 100 घंटे प्लांट पर ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके लिए फिटर, इलेक्ट्रीशियन वेल्डर व अन्य ट्रेड के भी विद्यार्थियों को मौका मिलेगा।

जिले में इस प्रकार हुआ ऑक्सीजन प्लांट का कार्य
सिविल अस्पताल नीलोखेड़ी व करनाल में ऑक्सीजन प्लांट लग चुका है। असंध में काम चल रहा है। घरौंडा व इंद्री में ऑक्सीजन प्लांट अभी लगाया जाना है। सिविल अस्पताल करनाल में एक और ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाना है। कल्पना चावला में दो ऑक्सीजन प्लांट चल रहे है। जबकि एक और लगाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...