करनाल में युवक से धोखाधड़ी:ऑनलाइन कंपनी से दवाई मंगाई, नहीं की असर, पैसे मांगने पर जाने से मारने की धमकी

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घरौंडा थाना के बाहर का दृश्य। - Dainik Bhaskar
घरौंडा थाना के बाहर का दृश्य।

हरियाणा में करनाल के गांव पुंडरी निवासी एक युवक से ऑनलाइन मेडिसन की आड़ में हजारों रुपए की धोखाधड़ी व जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है। पीड़ित ने दवा विक्रेता कंपनी के खिलाफ पुलिस को लिखित शिकायत दी है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार, पुंडरी निवासी अमित किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित था। उसके दोस्त ने उसे एक दवाई कंपनी का नंबर दिया था और उसकी बात किसी डॉक्टर आरके जोशी के साथ हुई थी। उसने संबंधित नंबर पर बात करके दवाई का ऑर्डर किया। दवा की कीमत साढ़े 15 हजार रुपए थी। उसने बीती 23 मार्च को संबंधित नंबर पर साढ़े 15 हजार रुपए की पेमेंट थर्ड पार्टी पेमेंट ऐप से कर दी।

29 मार्च को उसे दवाई मिल गई, लेकिन डॉक्टर ने उसे दवाई लेने का तरीका नहीं बताया। बाद में उसने फिर डॉक्टर को कॉल किया और दवा लेने का तरीका पूछा तो डॉक्टर ने बताया कि दवा लेने के लिए एक मशीन लेनी होगी। उसके बाद ही दवा का सेवन करना है। घर में कोई समस्या होने के कारण वह दोबारा उस नंबर पर फोन नहीं कर पाया।

फिर आया धमकी भरा कॉल

अमित को उसके साथ हुए धोखे के बारे में कुछ नहीं पता था। अमित ने बताया कि 17 अप्रैल को उसके पास किसी एडवोकेट एस.के. त्यागी का कॉल आया और कहा कि तेरे ऊपर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है और तू कंपनी वालों से बात कर ले, वरना तुझे पुलिस से उठवा देंगे। अगर कोई हल निकलता हो तो कंपनी से बात करके अपना हल निकाल लें।

अमित ने बताया है कि उसने डॉक्टर आर. के जोशी से फोन किया। उसने उसे बताया कि मेरे सीनियर ने रिपोर्ट की होगी, तो उसने मुझे कहा कि मैं बात कर लेता हूँ, तू मुझे मशीन के पैसे और भेज दे। अमित ने बताया है कि डॉक्टर ने उसे किसी राजबाला खत्री का नंबर दिया। जिसके बाद उसने 17 से 19 अप्रैल के बीच किश्तों में साढ़े 22 हजार रुपए अकाउंट में जमा करवा दिए।

रिफंड के नाम पर फिर की धोखाधड़ी

अब तक अमित 38 हजार रुपए कंपनी को दे चुका था। उसने 15 दिन तक दवा का सेवन किया, लेकिन कोई फर्क नहीं लगा। जिसके बाद उसने कंपनी को कॉल किया। आरके जोशी ने कहा कि वे उसके पैसे रिफंड करवा देंगे, जिसके बाद उसने टोटल अमाउंट की डिटेल मांगी और 8900 रुपए फाइल चार्ज के मांगें अमित ने 26 मई को वह पैसे भी भेज दिए और कहा कि ये सभी पैसे निकलवाने के लिए टोटल अमाउंट 65 हजार रुपए होना चाहिए।

इसके बाद फिर 10100 रुपए, सात हजार रुपए और जीएसटी नंबर ना होने की एवज में 21 हजार रुपए मांगें। अमित ने सारे पैसे भेज दिए। इसके बाद डॉलर में एक्सचेंज करवाने के लिए चार हजार रुपए की डिमांड की गई। जब तक उसे समझ में आया कि उसके साथ धोखाधड़ी हुई है तब तक उसके मेहनत के पैसे जा चुके थे। जब वह फोन करके अपने पैसे मांगने लगा तो उसे जान से मारने की धमकी मिली।

घरौंडा थाना के IO रोहताश बताया कि मॉडल टाउन दिल्ली के जोशी दिव्य प्राश आयुर्वेदा के डॉक्टर आरके जोशी के खिलाफ धोखाधड़ी व जान से मारने की धमकी की शिकायत आज पुलिस को मिली थी। पीड़ित की शिकायत के आधार पर आज मामला दर्ज आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...