करनाल में हादसे में मां-बेटे की मौत:ट्राला की टक्कर के बाद पुल से टकराई कार, परिवार के 5 सदस्य घायल

करनाल16 दिन पहले
हादसे के बाद क्षतिग्रस्त हुई कार।

हरियाणा के जिले करनाल में नेशनल हाईवे पर हुए दर्दनाक सड़क हादसे में दो की मौत हो गई। मरने वाले मां और बेटा हैं। दोनों का आज पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। परिवार के 7 सदस्य खाटू श्याम मंदिर पानीपत से अंबाला जा रहे थे। इस बीच नीलोखेड़ी के पास ट्राला ने पीछे से कार को टक्कर मार दी, जिसके बाद कार पुल से जा टकराई।

इलाज के दौरान संदीप व उसकी मां पुष्पा देवी की मौत हो गई। 5 घायलों का शहर के अलग-अलग प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा है। बुटाना थाना पुलिस ने शिकायत के आधार पर कार को टक्कर मारने वाले ट्राला के अज्ञात चालक के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

गांव कमालपुर निवासी बलराम ने बताया कि उसकी माता मामो देवी, उसके मामा वेद प्रकाश के पास अम्बाला गई हुई थी। मामा वेदप्रकाश मामी पुष्पा देवी, संदीप, संदीप की पत्नी रजनी और 2 वर्षीय यश व 3 महीने के लक्ष्य के साथ अपनी कार में सवार होकर सुबह 7 बजे खाटू श्याम मंदिर चुलमना पानीपत में शनिवार को माथा टेकने गए थे। जह बाबा के दर्शन करके वापस जा रहे थे।उसके पास संदीप का फोन आया कि नीलोखेडी आ जा और नीलोखेडी से बुआ को ले जाना।

इलाज के लिए एंबुलेंस में घायलों को लेकर जाते हुए।
इलाज के लिए एंबुलेंस में घायलों को लेकर जाते हुए।

पानीपत से लौट रहे थे अंबाला

बलराम ने कहा कि मैं तरावड़ी गउशाला के पास इनसे मिला। संदीप ने पीछे आने का इशारा किया। वो अपनी मोटर साइकिल पर सवार होकर कार के पीछे-पीछे चल दिया। जब नीलोखेडी काली माता मंदिर के नजदीक समय 1 बजे दिन पहुंचे तो एक ट्राला का चालक अपने ट्राला को बड़ी स्पीड से चलाता हुआ आया।

उसको क्रॉस करके आगे चल रही उसके मामा की कार में साइड मार दी। जो साइड लगते ही कार का बैंलेस खराब हो गया और पुल से जा टकराई। ट्राला चालक ने थोड़ी आगे जाकर ट्राला को रोका और हमारे पास आया। मौके पर काफी आदमी इकट्ठा हो गए। उसने ट्राला का नंबर PB-05-AB-1319 नोट कर लिया। वो अपने मामा व अन्य को कार से निकालने लगा तो ट्राला का चालक ट्राला को लेकर मौका से भाग गया।

घायल बच्चे को इलाज के लिए लेकर जाते राहगीर।
घायल बच्चे को इलाज के लिए लेकर जाते राहगीर।

राहगीरों की मदद से भेजा अस्पताल

इस हादसे में गाड़ी में बैठे सभी को गहरी चोटें आई। राहगीरों की इमदाद से मेरी माता, मामा, मामी को नीलोखेडी अस्पताल में भेजा व दूसरी एंबुलेंस में संदीप, रजनी व छोटे बच्चो को करनाल कल्पना चावला हस्पताल में भेजा। नीलोखेडी अस्पताल से डाक्टर साहब ने करनाल रेफर कर दिया। जो करनाल कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में दाखिल करवा दिया।

इलाज के दौरान संदीप व उसकी मामी पुष्पा देवी की मौत हो गई। फिर वो मामा को कल्पना चावला से अमृतधारा अस्पताल करनाल में दाखिल कर दिया। रजनी, यश, लक्ष्य व मेरी माता को श्रीहरि अस्पताल में दाखिल करा दिया।

घायलों को इलाज के लिए लेकर जाते राहगीर।
घायलों को इलाज के लिए लेकर जाते राहगीर।

ट्राला चालक के खिलाफ केस दर्ज

इंस्पेक्टर कंवर सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि नीलोखेड़ी के पास हुए एक्सीडेंट में दो की मौत हो गई है। दोनों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। शिकायत के आधार पर ट्राला चालक के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है।