करनाल की घरौंडा मंडी में गेट पास में धांधली:SDM ने खंगाला रिकॉर्ड, दो फर्मों को नोटिस जारी, अधिकारी बोले- कार्रवाई होगी

करनाल4 महीने पहले

हरियाणा के करनाल की सभी अनाज मंडियों में धान सीजन की शुरुआत से ही अधिकारियों की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में रही है। प्रदेश सरकार की ओर से फसल खरीद में पारदर्शिता लाने के लिए कई योजनाएं बनाई गईं। DC अनीश यादव ने भी खरीद और मंडी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने लिए जिले भर की मंडियों के ताबड़तोड़ दौरे किए।

अधिकारियों को व्यवस्था दुरुस्त रखने के भी निर्देश दिए हैं। पहले दिन से ही बेशक अधिकारी बेहतर व्यवस्थाओं का दावा कर रहे हों, लेकिन जमीनी हकीकत ने कुछ और ही बयां किया है। अगर अधिकारी व कर्मचारी सतर्क रहते तो आज SDM को जांच के लिए मंडियों में न जाना पड़ता। पहले दिन से जिले भर की मंडियों में पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन और गेट पासों में बड़े झोल की आशंकाओं की खबरें सामने आ रही थी। अब जब धान का सीजन खत्म होने जा रहा तो प्रशासनिक अधिकारी मंडियों में गड़बड़ियों जांच करने में लग गए हैं।

जानकारी के अनुसार घरौंडा मंडी से आ रही शिकायतों के बाद SDM प्रदीप सिंह जांच के लिए पहुंचे। जिसके बाद मार्केट कमेटी के अधिकारियों और आढ़तियों में हड़कंप मच गया है। गुरुवार को पूरा दिन SDM ने न सिर्फ मार्केट कमेटी के रिकॉर्ड को खंगाला बल्कि अधिकारियों और कर्मचारियों से भी पूछताछ की। साथ ही गेट पासों में गड़बड़ी के चलते प्रशासन के रडार पर आई फर्मों को नोटिस भी जारी हो चुके हैं, लेकिन फर्म मालिकों की तरफ से देर रात 11 बजे तक तक कोई जवाब दाखिल नहीं किया गया।

घरौंडा मंडी में SDM की कार्रवाई को देखते लोग।
घरौंडा मंडी में SDM की कार्रवाई को देखते लोग।

धान की खरीद में किसी तरह की गड़बड़ी न हो, इसके लिए ऑनलाइन गेट पास प्रक्रिया शुरू की, लेकिन घोटालेबाजो ने ऑनलाइन तरीके से भी गड़बड़ी करना सीख लिया और वह भी इतने शातिर तरीके से की किसी को भनक भी ना लगे।

तो इस वजह से लगी दूसरे जिले के धान पर रोक
घरौंडा मंडी में अशोक एंड सन्स, जय मां दुर्गा ट्रेडिंग कंपनी, गुरु नानक ट्रेडिंग, सतपाल पंकज कुमार व अन्य फर्मों पर सोनीपत समेत कई जिलों के गेट पास से धान पहुंची। सबसे ज्यादा गेट पास अशोक एंड सन्स के बताए जा रहें। बाहरी पोर्टल के गेट पासों का वजन भी हैरान करने वाला है। अब अशोक एंड संन्स के गेट पास संदेह उत्पन्न कर रहे हैं। क्योंकि बाहरी पोर्टल के एक-एक गेट पास 200 से 300 क्विंटल से ज्यादा का है।

गेट पासों में झोल की परतें उखड़ने लगीं तो कहीं ना कहीं बाहरी राज्यों व अन्य जिलों से पीआर धान की आवक बढ़ी। इस पर आनन फानन में मंडी अधिकारियों ने बाहरी जिलों की धान पर भी रोक लगा दी। सूत्रों के मुताबिक मंडी में ट्रेडिंग का खेल बड़े पैमाने पर चल रहा है यदि निष्पक्ष तरीके से जांच की जाए तो फर्म मालिकों के साथ साथ अधिकारी व कर्मचारी तथा खरीद एजेंसियां भी लपेटे में आ सकती हैं। साथ ही किसान भी जिन्होंने आढ़तियों के साथ मिलीभगत कर बड़ा खेल खेला है। जिन सोनीपत के किसानों के गेट पास पर धान मंडी में पहुंची है उन फर्मों से पोर्टल पर रजिस्टर्ड भूमि के कागजात व खरीद के दस्तावेज लेकर जांच की जाए तो मामले का पटाक्षेप हो सकता है।

SDM गंभीरता से ले रहे है पूरा मामला
गेट पासों के मार्फत गड़बड़ी के संदेह का मामला उजागर होने के बाद एसडीएम प्रदीप सिंह ने मामले पर कड़ा संज्ञान लिया है। मंडी में कई घंटों तक एसडीएम ने रिकॉर्ड खंगाला। साथ ही सीसीटीवी कैमरों को भी चेक किया। इसके बाद उन्होंने मंडी अधिकारियों से पूरे मामले की जानकारी ली। इतना ही नहीं मंडी से जाने के बाद कुछ अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने कार्यालय में भी बुलाया और पूछताछ की।

दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई
एसडीएम प्रदीप सिंह ने बताया कि घरौंडा मंडी में गेट पास को लेकर कुछ इशू है। जिसको लेकर गहनता से जांच की जा रही है। सभी अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि गेट पास से संबंधित रिकॉर्ड पेश किया जाए और जो भी गलती पाई जाएगी नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके अलावा कुछ फर्मों को भी नोटिस जारी किए गए हैं।