• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Karnal News, So Far 71 Cases Of Dengue Have Been Reported In Karnal, There Has Been A Stir In The Health Department

करनाल में 71 पहुंचा डेंगू केसों का आंकड़ा:पिछले 4 दिनों में मामले बढ़े, स्वास्थ्य विभाग ने शहर को 7 जोन में बांटा

करनाल4 महीने पहले

हरियाणा के करनाल में बढ़ते डेंगू के मामलों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। त्योहारी सीजन के बीच डेंगू लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की भी नींद उड़ी हुई है। डेंगू से निपटने के लिए करनाल सिटी को सात जोन में बांटा गया है। सातों जोन में स्वास्थ्य अधिकारियों की देखरेख में चेकिंग अभियान चलाया हुआ है। अधिकारियों की माने तो तीन चार दिन में ही डेंगू के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट है।

CMO डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि करनाल में अभी तक 71 केस सामने आ चुके हैं। ओवरऑल स्थिति नियंत्रण में है। बीते तीन-चार दिन में डेंगू के मामलों में थोड़ी बढ़ोतरी हुई है, जो एक चिंता का विषय है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें अलर्ट मोड पर हैं। सभी अधिकारियों और कर्मचारियों की बैठक ली गई है। साथ ही यह भी निर्देश दिए गए हैं कि कोई फीवर का केस आ रहा है तो उसकी सही तरीके से जांच करवाई जाए और डेंगू के लक्षण है तो एलाइजा टेस्ट हो।

जानकारी देते CMO योगेश।
जानकारी देते CMO योगेश।

रिपोर्ट के बाद ही होगा डेंगू कंफर्म
उन्होंने बताया कि एलाइजा टेस्ट की रिपोर्ट आने के बाद ही डेंगू कंफर्म होगा। हालांकि डेंगू के जो केस आए हैं उनमें ऐसा कोई केस नहीं पाया गया है, जो ज्यादा सीरियस हो। इन्हें अस्पताल में ही रिकवर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि त्योहारों के सीजन में मूवमेंट ज्यादा हो जाती है। सुबह और शाम के समय डेंगू का मच्छर ज्यादा एक्टिव रहता है। इसलिए जब भी घर से बाहर आ रहे हैं तो पूरी बाजू के कपड़े पहनकर आएं। मच्छर भगाने वाली दवाइयों का इस्तेमाल करें। इसके साथ ही अपने आसपास के एरिया में पानी एकत्रित ना होने दें। वहीं फ्रिज व कूलर की सही तरीके से सफाई रखें। घर की छत पर पानी रखा हो, तो उसे समय समय पर बदलते रहें।

चेकिंग अभियान चलाया
उन्होंने बताया कि डेंगू व मलेरिया को देखते हुए करनाल को सात जोन में बांटा गया है और सभी जगह पर स्वास्थ्य विभाग की टीमें अलर्ट है। घरों में जाकर भी चेकिंग अभियान चलाए हुए है। इसके अतिरिक्त यदि कहीं पर पानी ठहराव दिखाई देता है वहां पर एंटी लार्वा दवाइयों का भी छिड़काव किया जा रहा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम अलर्ट है, लेकिन लोगों को भी सहयोग करने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...