पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सड़क हादसा:कोहरे में हादसे से बचने को पढ़ने भेजा था करनाल, दुर्घटना में ही गई जान

करनाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल. मृतक अमित के पिता संजीव कुमार विलाप करते हुए। - Dainik Bhaskar
करनाल. मृतक अमित के पिता संजीव कुमार विलाप करते हुए।
  • यूपी रोडवेज बस से कुचलकर स्कूटी सवार दादुपुर खुर्द के 2 चचेरे भाइयों की मौत, जाना चाहते थे विदेश

शहर के निर्मल कुटिया चौक पर यूपी रोडवेज की बस ने स्कूटी सवार दो चचेरे भाइयों को टक्कर मार दी। हादसे में आशीष (20) और अमित कुमार (19) की मौत हो गई। दादुपुर खुर्द गांव के दोनों बच्चे 12वीं कक्षा के बाद अपने चाचा राजेंद्र की अकादमी दि ब्रिटिश में आइलेट्स कर रहे थे। दोनों का सपना था कि वह विदेश जाकर उन्हें पूरा करेंगे।

माता-पिता ने भी उनकी इच्छाओं को पूरा करने के लिए गांव की बजाए शहर में चाचा के पास छोड़ दिया था, ताकि सर्दी और धुंध के मौसम में इस तरह की दुर्घटनाओं से बचाव रहे। लेकिन जिस अनहोनी का डर था, आखिरकार बचाव करने के बाद भी हो गई। मुज्जफरनगर डिपो की बस चालक पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। बस को कब्जे में लिया गया है। आरोपी ड्राइवर फरार है। कल्पना चावला राजकीय मेडिकल काॅलेज में पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

3 भाइयों के परिवार में दो ही बेटे थे, ऐसा दर्द किसी को न मिले

गांव दादुपुर खुर्द के बलविंद्र सिंह, संजीव कुमार, राजेंद्र तीन भाई हैं। तीनों की ज्वाइंट फैमिली है और इकट्ठा कारोबार है। दो भाई बलविंद्र सिंह और संजीव कुमार खेती करते हैं, जबकि छोटा भाई राजेंद्र कुमार करनाल में कोचिंग अकादमी चलाते हैं। बलविंद्र का एक लड़का आशीष, संजीव कुमार का एक लड़का अमित, एक लड़की है। जबकि राजेंद्र के एक लड़की है। तीन भाइयों में दो बेटे आशीष व अमित थे, दोनों की दुर्घटना में मौत हो गई। इस मार्मिक घटना को जो भी सुनता है, उनकी आंखें नम हो रही हैं।

मेरे दोनों चिराग चले गए, बेटों की पूर्ति कैसे करूंगा, जीते-जी मर गए

जवान बेटों की डेडबॉडी देखकर पिता संजीव कुमार के आंसू नहीं रूक पाए। रोते हुए मृतक अमित के पिता संजीव कुमार ने कहा कि बेबस इतना हूं कि कुछ नहीं कर सकता। मेरे चिराग चले गए। भगवान ऐसा दर्द किसी को न दे। जवान बेटों की पूर्ति कैसे करूंगा। जीते -जी मर गए हैं। इसके बाद ग्रामीण एवं रिश्तेदारों के सामने हाथ जोड़कर रोने लगे। सभी की आंखें नम हो गई।

दूध लेकर कोचिंग लेने जा रहे थे आशीष और अमित

गांव दादुपुर खुर्द हाल अशोका नर्सरी के राजेंद्र कुमार की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की है। राजेंद्र कुमार ने बताया कि मेरी ब्रिटिश अकादमी सेक्टर- 13 में है। शनिवार सुबह मेरे भतीजे आशीष पुत्र बलविंद्र सिंह व अमित पुत्र संजीव कुमार अपनी एक्टिवा पर कोचिंग लेने के लिए अकादमी जा रहे थे। करीब 9 बजे निर्मल कुटिया चौक पर दिल्ली की तरफ से आ रही बस नंबर यूपी 11टी 8464 के चालक ने लापरवाही से चलाते हुए सीधी टक्कर मेरे भतीजों की स्कूटी में दे मार दी। स्कूटी सहित वो सड़क पर जा गिरे, जिनको काफी गहरी चोटें आई। नागरिक अस्पताल में दोनों बच्चों को लेकर पहुंचे, जहां डाॅक्टरों ने मेरे दोनों भतीजों को मृत घोषित कर दिया।

वर्कशॉप में बस खड़ी करके फरार हुआ ड्राइवर

यूपी रोडवेज बस चालक की लापरवाही रही कि वह हादसे को अंजाम देकर मौके पर रूका तक नहीं। वह तेज स्पीड से आईटीआई चौक से होकर पुराने बस स्टैंड पर बस ले गया। बस स्टैंड की वर्कशॉप में बगैर एंट्री करवाकर ही बस खड़ी करके फरार हो गया। रोजाना यूपी की यह बस मुज्जफरनगर से करनाल आती है। शनिवार को भी मेरठ रोड होकर निर्मल कुटिया, आईटीआई चौक होकर पुराने बस स्टैंड जाती है। लेकिन चालक ने लालबत्ती को क्रॉस करके एक बड़ी घटना को अंजाम दे दिया।

दोनों बच्चों की मां भी हैं सगी बहनें

जिन माताओं एवं पिता की जवान संतान चली जाएं, उनके दु:खों को बयां नहीं किया जा सकता। इसलिए बच्चों की डेडबॉडी देखकर न पिता के मुंह से शब्द निकल रहे थे और न ही माताएं बोल पा रही थीं। बार-बार बेसुध हो रही थीं, जिन युवकों की मौत हुई हैं, उनकी माताएं भी सगी बहनें हैं। मृतक बच्चों के मामा जसमेर चौधरी ने कहा कि मेरी दो बहनें हैं और इनके एक-एक बेटा था। हम उजड़ गए हैं। बस चालक को सख्त सजा मिले, ताकि आगे किसी के चिराग न बुझे।

बस चालक पर केस दर्ज किया

^यूपी रोडवेज के बस चालक पर केस दर्ज कर लिया है। बस को कब्जे में लिया हुआ है। निर्मल कुटिया चौक पर दर्दनाक हादसे में आशीष और अमित की मौत हुई है। बस चालक को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा। -एएसआई जितेंद्र कुमार, इंचार्ज सेक्टर 13 पुलिस चौकी करनाल।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें