SP अंबाला के आश्वासन पर माने किसान:बंद कमरे में चली मीटिंग में बनी सहमति, BJP सांसद नायब सैनी पर कार्रवाई की है मांग; DSP पुलिसवालों से बोले- इंतजार मत करना ऑर्डर पहले से हैं

अंबाला10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के अंबाला में गाड़ी से टक्कर मारने के मामले में रविवार को कार्रवाई की मांग पर अड़े किसानों और प्रशासन के बीच बंद कमरे में मीटिंग हुई। मीटिंग में फोन पर SP अंबाला से मिले आश्वासन के बाद किसानों ने घेराव का फैसला टाल दिया। पुलिस ने किसानों की दी शिकायत को पक्के में दर्ज कर मुहर लगाकर कॉपी वापस सौंप दी। साथ ही किसानों पर दर्ज तीनों मुकदमे तीन दिन में रद्द करने की मांग भी मान ली। भाकियू जिलाध्यक्ष मलकीत सिंह ने मीटिंग से लौटकर मौजूद सभी किसानों से घर लौटने की अपील। उन्होंने साथ ही कहा कि तय समय में यदि मांगें पूरी नहीं हुईं तो दोबारा इकट्ठे हो जाएंगे। किसान BJP सांसद नायब सैनी और उसके चालक पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

इससे पहले किसानों के जुटने की सूचना पर नारायणगढ़ थाने में DSP ने पुलिसकर्मियों की क्लास ली और कहा कि किसी ऑर्डर का इंतजार मत करना, ऑर्डर पहले ही हैं। गौरतलब है कि इससे पहले भी बसताड़ा टोल पर किसानों के प्रदर्शन के दौरान करनाल के तत्कालीन SDM का किसानों पर लाठीचार्ज का आदेश देते वीडियो सामने आया था।

नारायणगढ़ में घेराव को पहुंचे किसान नेता अपनी बात रखते हुए।
नारायणगढ़ में घेराव को पहुंचे किसान नेता अपनी बात रखते हुए।

5 किसानों का दल भाकियू जिला प्रधान मलकीत सिंह के नेतृत्व में दोपहर 1:30 बजे DSP से मिला। किसानों ने BJP सांसद नायब सैनी और उसके ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज करने के लिए पुलिस को 15 मिनट का समय दिया था। किसानों का कहना था कि अगर 15 मिनट में कार्रवाई नहीं हुई तो किसान अपनी अगली रणनीति बनाएंगे। इसके बाद स्पेशल DSP अमित भाटिया भी किसानों से मिलने पहुंचे। किसानों को कुछ देर बाद दोबारा बैठक के लिए बुलाया गया। बंद कमरे में 5 किसानों, डीएसपी अनिल, एसडीएम नीरज, स्पेशल डीएसपी अमित भाटिया से बैठक हुई। बैठक में SP अंबाला ने किसानों उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। किसानों का साथ देने के लिए महिलाएं भी मार्केट कमेटी परिसर पहुंचीं। किसान को टक्कर मारने के मामले में BJP सांसद नायब सिंह सैनी और उनके चालक के खिलाफ कार्रवाई के लिए दिया समय रविवार को खत्म हो गया। मार्केट कमेटी में जुटे किसानों ने बताया कि थाने का घेराव करने के लिए सभी को सुबह ही कॉल कर दिया गया था।

नारायणगढ़ थाने में पुलिसकर्मियों की क्लास लेते DSP अनिल कुमार।
नारायणगढ़ थाने में पुलिसकर्मियों की क्लास लेते DSP अनिल कुमार।

DSP बोले- चाय की दुकान पर बैठकर कोई ऑर्डर नहीं दे सकता
उधर, DSP अनिल कुमार ने नारायणगढ़ थाना में पुलिसकर्मियों की क्लास ली। उन्होंने कहा कि आप लोगों ने कहीं भी पब्लिक का विरोध नहीं करना है। अपनी जिम्मेदारी समझो। कहीं भी कोई आ रहा है जा रहा है, किसान आंदोलन कर रहे हैं। कहीं कोई चाय की दुकान पर बैठे सोचता रहे कि आप लोगों को ऑर्डर देगा या कुछ कहेगा, ये ड्रामा खत्म करो। ऑर्डर देने का इंतजार नहीं करना। ऑर्डर पहले से ही है। हमारी सेक्शन 100 यही बताती है कि आत्मरक्षा का अधिकार है। सेल्फ डिफेंस बोलते हैं। इसमें हम इतनी काेशिश कर सकते हैं जो सामने वाले के अनुसार काम करना होगा।

सरकार के प्रपंचों से डरेंगे नहीं किसान
अंबाला जिला प्रधान मलकीत सिंह ने बताया कि नारायणगढ़ में 10 बजे इकट्‌ठा होने के लिए कॉल की गई थी। हमने जो शिकायत दी थी, उस पर कार्रवाई के संबंध में पुलिस-प्रशासन हमें जानकारी देगा। किसानों की शिकायत पर तो कार्रवाई नहीं हुई पर उल्टा उन पर ही तीन केस दर्ज कर दिए गए। जिस किसान को चोट लगी उस पर तीन केस दर्ज हुए हैं। सरकार यूपी के लखीमपुर वाली घटना अंबाला के नारायणगढ़ में दोहराना चाहती थी। सरकार के ऐसे प्रपंचों से किसान डरने वाले नहीं है।

चार दिन पहले घटना के बाद नारायणगढ़ में प्रदर्शन करते हुए किसान।
चार दिन पहले घटना के बाद नारायणगढ़ में प्रदर्शन करते हुए किसान।

संयुक्त किसान मोर्चा के निर्देश पर चलेंगे
मलकीत सिंह ने कहा कि चार दिन पहले दी शिकायत पर पुलिस ने उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। किसान अपने ऐलान के मुताबिक, घेराव करेंगे। घेराव के बाद थाने के बाहर ही धरना देंगे। उसके बाद संयुक्त किसान माेर्चा के आदेश के पर अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

किसानों पर तीन केस दर्ज
पुलिस ने किसानों पर तीन एफआईआई दर्ज की हैं। इनमें एक केस पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर दर्ज किया है। थाना प्रभारी धूम सिंह के मुताबिक अभी किसानों की शिकायत की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वायरल वीडियो के आधार पर किसानों के खिलाफ केस दर्ज किया है। साथ ही उनके पास आई राजीव सैनी की शिकायत के आधार पर भी केस दर्ज किया है। तीसरा केस गांव संगोर जिला कुरुक्षेत्र निवासी अनिल कुमार की शिकायत पर दर्ज किया है।

नारायणगढ़ थाने का घेराव करने के लिए इकट्‌ठे हुए किसान।
नारायणगढ़ थाने का घेराव करने के लिए इकट्‌ठे हुए किसान।

DSP बोले- किसानों के सवालों का देंगे जवाब
नारायणगढ़ DSP अनिल कुमार ने कहा कि पुलिस कोई गलत काम नहीं करेगी। हमारे पास सबूत लेकर आएं। मेडिकल दें, ऑडियो-वीडियो दें। उनके आधार पर ही काम करेंगे। शिकायत के आधार पर धाराओं को लगाया जाता है। पुलिस की अपनी धारा नहीं है। हालात, बयानों और सबूत के आधार पर धारा लगाई जाती है। किसानों के बीच हम जाएंगे। किसान हमसे जो सवाल करेंगे, हम उसका जवाब देंगे। सबूत देंगे तो उसके आधार पर कार्रवाई करेंगे।

चार दिन पहले नारायणगढ़ में हुई थी घटना
गौरतलब है कि नारायणगढ़ में 4 दिन पहले एक कार्यक्रम से लौटते समय BJP सांसद नायब सैनी की गाड़ी ने किसान को टक्कर मार दी थी। इस मामले में किसानों ने सांसद और उसके चालक के खिलाफ शिकायत दी थी। किसानों ने चार दिन का समय दिया था लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। वहीं किसानों के खिलाफ तीन-तीन केस दर्ज कर दिए।

खबरें और भी हैं...