हरियाणा में ITI में दाखिले के लिए शेड्यूल जारी:ऑनलाइन आवेदन मांगे गए; पोर्टल पर मिलेगी कोर्स की पूरी डिटेल, हेल्प डेस्क से भी संपर्क कर सकते हैं आवेदक

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के ITI संस्थानों में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया आज से शुरू हो रही है। दाखिले के लिए विभागीय पोर्टल पर 30 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन किया जा सकेगा। इसके बाद मेरिट सूची का शेड्यूल जारी होगा। प्रदेश में 414 ITI हैं, 172 राजकीय और 242 प्राइवेट। सभी में दाखिले से संबंधित जानकारियों के लिए हेल्प डेस्क भी स्थापित किए गए हैं।

प्रत्येक कोर्स की जानकारी पोर्टल पर उपलब्ध
इस बार प्रदेश के कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग ने हाईटेक होने का परिचय देते हुए ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल पर प्रत्येक कोर्स से जुड़ी वीडियो मुहैया कराई हैं। विद्यार्थी कोर्स का चयन करने से पूर्व वीडियो देखकर उस कोर्स की क्षमताओं व महता के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।

राजकीय ITI कैथल में बनाया गया हेल्प डेस्क।
राजकीय ITI कैथल में बनाया गया हेल्प डेस्क।

राजकीय ITI पर रहेगा फोकस
हर साल की तरह इस बार भी विद्यार्थियों के दाखिले का मुख्य फोकस राजकीय ITI और महिला ITI रहेंगे। राजकीय ITI में केवल 45 रुपए प्रतिमाह की फीस पर विद्यार्थियों को विभिन्न तरह के आधुनिक इंजीनियरिंग व नॉन इंजीनियरिंग कोर्स करवाए जाते हैं, जबकि इन्हीं कोर्सों के लिए प्राइवेट ITI संचालक मोटी फीस वसूलते हैं।

कम समय में मिलता है रोजगार व स्वरोजगार
ITI के कोर्स एक तथा दो साल में पूरा हो जाता है। सरकारी ITI में फीस नाममात्र है, जबकि लड़कियों की फीस पूरी तरह माफ है। रेलवे ने सभी पदों के लिए ITI को अनिवार्य किया है। इसके अलावा सेना में विभिन्न सरकारी पदों पर ITI कोर्सों की मांग होती है।

12वीं के लिए देनी होगी मात्र एक विषय की परीक्षा
10वीं के बाद दो साल की ITI करने के बाद विद्यार्थी को हिंदी या अंग्रेजी विषय में से किसी एक विषय की परीक्षा देनी होगी। जिसे पास करने पर हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा विद्यार्थी को 12वीं पास का प्रमाण पत्र मुहैया करवाया जाता है।

विद्यार्थियों को मिलेगी हर सहायता
ITI के जिला जिला नोडल अधिकारी एवं राजकीय ITI कैथल के प्रधानाचार्य सतीश मच्छाल ने बताया कि दाखिले की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। 16 से लेकर 30 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेेंगे। विद्यार्थियों की सहायता के लिए हेल्प डेस्क स्थापित किया गया है। ITI की बढ़ती लोकप्रियता के लिए चलते इस बार भी रिकॉर्ड तोड़ आवेदन आने की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं...