पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शुभ कार्य:जून-जुलाई में शादी के केवल 13 शुभ मुहूर्त, 16 जुलाई से अक्टूबर के अंत तक चतुर्मास रहेगा

करनाल24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन की गाइडलाइन अनुसार विवाह समारोह में पहले की तरह केवल 11 लोग ही शामिल होंगे
  • लॉकडाउन के चलते इस साल भी नहीं हो सके शादी विवाह समारोह, लोगों को विवाह के कार्यक्रम करने पड़े रद्द

कोरोना महामारी के चलते मई का महीना पूरा लॉकडाउन में बीत चुका है। सरकार की ओर से एक बार फिर सात जून तक एक सप्ताह का ओर लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। शादी- विवाह समारोह करने वाले व्यक्तियों को एक बार फिर से लॉकडाउन में कोई राहत नहीं दी गई है। विवाह समारोह में पहले की तरह केवल 11 लोग ही शामिल हो सकेगें।

कर्णेश्वर मंदिर के पंडित षष्ठी वल्लभ पांडेय ने बताया कि जून व जुलाई माह में कुल 13 ही विवाह के शुभ मुहूर्त है। जिसके कारण गर्मियों में शादी विवाह समारोह के शुभ मुहूर्त काफी कम है। क्योंकि 16 जुलाई से अक्टूबर के अंत तक चतुर्मास रहेगा। उसके बाद वैवाहिक कार्यक्रम नहीं होगें। उसके बाद सीधा नवंबर में शादियों के शुभ मुहूर्त शुरु होगें। लॉकडाउन की गाइडलाइन अनुसार बारात नहीं जाएगी, बल्कि घर या कोर्ट में ही विवाह कार्यक्रम संपन्न करना होगा।

करना पड़ेगा इंतजार : नवंबर से फिर से शुरू होंगे शुभ कार्य के लिए दिन

16 जुलाई से अक्तूबर के अंत तक चतुर्मास रहेगा। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार मान्यता है कि चतुर्मास में भगवान विष्णु चिर निद्रा में चले जाते हैं और कार्तिक शुक्ल एकादशी को जागते हैं। इसलिए 16 जुलाई से अक्तूबर के अंत तक रहेगा। तब तक मांगलिक कार्य नहीं किए जाते। इसलिए विवाह भी नहीं होते, नवंबर से फिर से विवाह शुभ मुहूर्त में हो सकेंगे। इन तारीखों के शुभ मुहुर्त : जून- 3, 4, 5, 16, 20, 22, 23, 24 जुलाई-1, 2, 7, 13, 15

संकट : पिछले साल भी रद्द करने पड़े थे विवाह के आयोजन

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते पिछले साल भी अप्रैल व मई का वैवाहिक सीजन लॉकडाउन में ही निकल गया था। लोगों को शादियां कैंसिल करनी पड़ी थी। इसके बाद नंवबर दिसंबर में शादियां हुई थी। जिसमें 100 से ज्यादा लोगों को शादी में नहीं बुलाना था। विवाह शुभ मुहूर्त कम होने के कारण कई लोगों ने अप्रैल व मई 2021 में शादी करने की तैयारियां की थी। लेकिन इस साल भी कोरोना से शादी विवाह समारोह भी प्रभावित हुए है।

खबरें और भी हैं...