हरियाणा में ओमिक्रॉन की एंट्री:प्रदेश में 4 केस मिले; पानीपत में 2 और फरीदाबाद-करनाल में 1-1 मरीज, इनमें से 3 विदेश से लौटे

करनाल/पानीपत5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की एंट्री हो गई है। बुधवार को एक ही दिन में प्रदेश में ओमिक्रॉन के 4 केस सामने आए। इनमें से 2 मरीज पानीपत और एक-एक मरीज करनाल व फरीदाबाद में मिला। ओमिक्रॉन वैरिएंट वाले 4 मरीजों में से तीन इंग्लैंड, कनाडा और पुर्तगाल से लौटे हैं जबकि चौथा मरीज इंग्लैंड से लौटी युवती का पिता है।

पानीपत में बुधवार को मिले ओमिक्रॉन वैरिएंट वाले 2 मरीजों में इंग्लैंड से लौटी 22 साल की स्टूडेंट और उसके पिता शामिल हैं। यह दोनों पानीपत सिटी के मॉडल टाउन एरिया के रहने वाले हैं। बुधवार शाम को जीनोम सिक्वेसिंग की रिपोर्ट में दोनों में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हो गई। दोनों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है। ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि के दौरान पिता-पुत्री को शहर के बिशन स्वरूप कॉलोनी स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पानीपत सिविल सर्जन जितेंद्र कादयान का कहना है कि इन दोनों की भी रिपोर्ट नेगिटिव आने के बाद इन्हें अस्पताल से छुट्टी दे गई और 14 दिन के होम आइसोलेशन में अंडर ऑब्जर्वेशन में रखा गया है। जिले में फिलहाल ओमिक्रॉन का कोई केस पॉजिटिव नहीं है।

16 दिसंबर को ही इंग्लैंड से पानीपत लौटी युवती

पानीपत जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार, 16 दिसंबर को मॉडल टाउन में रहने वाली 22 साल की युवती इंग्लैंड से लौटी। नई दिल्ली एयरपोर्ट पर हुई कोरोना जांच में उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। पानीपत पहुंचने के बाद सेहत विभाग ने उसका RT-PCR टेस्ट किया तो उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आई। इसके बाद उसके पिता समेत परिवार के 11 लोगों के RT-PCR टेस्ट किए गए। इनमें उसके पिता की रिपोर्ट पॉजिटिव और 10 अन्य लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। वहीं, इन दोनों की भी दूसरी रिपोर्ट नेगिटिव आने के बाद 14 दिन के लिए होम आइसोलेट कर दिया गया है।

करनाल में मिला मरीज बरानी खासला गांव का

उधर करनाल में मिला ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीज नीलोखेड़ी एरिया के बरानी खासला गांव का रहने वाला है। 11 दिसंबर को पुर्तगाल से लौटे इस व्यक्ति की उम्र 35 साल है। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत वह 7 दिन गांव में स्थित अपने घर में ही आइसोलेट रहा। 18 दिसंबर को RT-PCR रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में शिफ्ट कर दिया गया। उसके बाद उसका सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए दिल्ली भेजा गया। 22 दिसंबर की शाम तकरीबन साढ़े 6 बजे आई रिपोर्ट में उसमें कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हो गई।

बेटा भी कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में शिफ्ट किया

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, ओमिक्रॉन संक्रमित पाए गए व्यक्ति के परिवार में उसकी मां, पत्नी और 6 साल का बेटा शामिल है। 18 दिसंबर को उसके कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद विभाग ने इन तीनों के भी RT-PCR टेस्ट किए थे। इनमें उसका 6 साल का बेटा कोरोना पॉजिटिव पाया गया। उस समय उसे घर में ही आइसोलेट किया गया। बुधवार शाम को परिवार के मुखिया में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि होते ही उसके बेटे को भी कल्पना चावला मेडिकल अस्पताल में आइसोलेट कर दिया गया। सेहत महकमे ने उसका सैंपल भी जीनोम सिक्वेसिंग के लिए दिल्ली भेज दिया। इसके अलावा गुरुवार को उसकी पत्नी और मां का भी दोबारा RT-PCR टेस्ट किया जाएगा।

गांव में बनाए 4 माइक्रो कंटेनमेंट जोन

बरानी खासला गांव में ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने यहां 4 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना दिए हैं। घर-घर जाकर सैंपलिंग शुरू कर दी गई। स्वास्थ्य महकमा इस व्यक्ति के संपर्क में आने वाले लोगों की डिटेल जुटा रहा है।

फरीदाबाद में कनाडा से लौटे शख्स में नया वैरिएंट

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के अनुसार, फरीदाबाद में भी एक शख्स में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई है। यह शख्स पिछले दिनों ही कनाडा से लौटा। RT-PCR टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने उसका सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भिजवाया था। इसकी रिपोर्ट में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हो गई। संबंधित मरीज को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आइसोलेट कर दिया गया। उसकी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है।