पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिश्वत दे-देकर तंग हुए पेट्रोल पंप मालिक ने खाया जहर:मरने वाले का पंप कैथल में; सुसाइड नोट में लिखे एचपी कंपनी के सेल्स अफसर समेत 3 के नाम, हर टैंकर के बदले में लेते थे 10 हजार रुपए

कैथल/करनाल18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पेट्रोल पंप संचालक अशोक का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
पेट्रोल पंप संचालक अशोक का फाइल फोटो।

हरियाणा के कैथल जिले में खनौरी रोड स्थित एचपी पेट्रोल पंप के संचालक अशोक ने पंप पर ही जहर निगलकर आत्महत्या कर ली। मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने पेट्रोल पंप कंपनी के सेल्स अफसर सहित तीन लोगों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप लगाए। आरोप है कि सेल्स अफसर रिश्वत मांगता था। बार-बार रिश्वत देकर वह परेशान हो गया था, जिस कारण उसने यह कदम उठाया। पुलिस ने अशोक के बेटे सार्थक की शिकायत पर सेल्स अफसर सुनील चावला व बलजीत शर्मा नाम के व्यक्ति के खिलाफ आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है।

सार्थक ने शिकायत में आरोप लगाया कि पिता अशोक गर्ग का एचपी ऑयल कंपनी पानीपत से ऑयल लाने का कॉन्ट्रेक्ट था। ऑयल कंपनी के सेल्स मैनेजर सुनील चावला द्वारा पिता को ऑयल लेते समय कहा जाता था कि कंपनी में आपकी इमेज अच्छी नहीं है। मैं कंपनी से आपको ऑयल दिलवाता रहूंगा। इसकी एवज मे प्रति टैंकर 10 हजार रुपए अलग से लेता था। करीब 2-3 साल से इस एवज मे सुनील चावला उसके पिता से लगभग 35 लाख रुपए ले चुका है। ये रुपए सुनील चावला ने कंपनी के सेल्स मैनेजर बलजीत शर्मा के माध्यम से लिए हैं। इन रुपए की लेन-देन के कारण उसके पिता परेशान रहते थे।

1 लाख लिया, 50 हजार की मांग
आरोप है कि करीब एक सप्ताह पहले उसके पिता से सुनील चावला ने बलजीत शर्मा के माध्यम से एक लाख रुपए कंपनी में डीडी ऑन साइड के लिए मांगे थे और 50 हजार रुपए मांग रहा था। रविवार सुबह 10:30 बजे पिता पेट्रोल पंप पर गए। करीब 1:45 बजे पेट्रोल पंप से सूचना प्राप्त हुई कि आपके पिता ने कोई जहरीली वस्तु खा ली है। उन्हें निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

शिकायत के आधार पर किया केस दर्ज
सिटी थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि मृतक के बेटे सार्थक की शिकायत पर सुनील चावला व बलजीत शर्मा के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि मृतक से प्रत्येक गाड़ी पर 10 हजार की रिश्वत मांगी जा रही थी।

सुसाइड नोट में जो लिखा, पढ़िए...
मृतक अशोक चावला की जेब से सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट में लिखा है कि मेरी मृत्यु का कारण एचपीसीएल सेल्स अफसर सुनील चावला व बलजीत शर्मा और सुरेंद्र मित्तल हैं। सुनील चावला मेरे से पंप चलाने के नाम पर 35 लाख की रिश्वत ले चुका है। यह उसने बलजीत के जरिए ली है। अगर रिश्वत न दो तो पंप बंद करने की धमकी दे रहा है। मेरे को हर रोज मानसिक तनाव दिया जा रहा है। पंप पर किसी का कोई पैसा नहीं देना है। जो मांग रहा है, वह गलत है। सारे पैसे जा चुके हैं ब्याज समेत। सुसाइड नोट में अशोक ने आई एम सॉरी लिखकर आगे 3 नाम लिखें। सुसाइड नोट में आगे लिखा कि मेरे बच्चे जिन्होंने कुछ भी नहीं देखा उनका मैं गुनहगार हूं। मेरे बच्चों के लिए मैं कुछ नहीं कर सका। मेरे भाई जिन्होंने सारी प्रॉपर्टी अपने नाम करवा ली है। कर्ज की चीज मेरे नाम से है। पंप पर सेल्स अफसर व बलजीत शर्मा ने मुझे इतना टॉर्चर कर रखा है कि 35 लाख देने के बाद भी हर रोज रिश्वत मांग रहा है। हर महीने मैं पैसा कहां से लाऊं।

खबरें और भी हैं...