पुलिस ने निष्पक्ष कार्रवाई करने का दिया भरोसा:पीडब्ल्यूडी के जेई का डॉक्टरों के बोर्ड से करवाया गया पोस्टमार्टम, एसआईटी करेगी मामले की जांच

करनाल24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जेई दीपक की डेडबॉडी को लेकर जाते हुए पीड़ित लोग। - Dainik Bhaskar
जेई दीपक की डेडबॉडी को लेकर जाते हुए पीड़ित लोग।

पीडब्ल्यूडी विभाग के जेई दीपक का रविवार को डॉक्टरों के बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करवाया गया। पुलिस ने मामले की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया है, जो मामले की गंभीरता के साथ जांच करेगी। एसपी द्वारा निष्पक्ष कार्रवाई करने का भरोसा देने के आश्वासन पर गगसीना गांव के लोग डेडबॉडी को ले गए। पुलिस ने इस मामले में हत्या, अपहरण समेत अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया हुआ है। आगामी कार्रवाई मामले की जांच के आधार पर ही होगी।

गांव गगसीना के दीपक कुमार करनाल पीडब्ल्यूडी विभाग में जेई के पद पर कार्यरत थे। 31 अक्टूबर को चंडीगढ़ मीटिंग में गया था। लेकिन देरशाम तक घर नहीं लौटा। दीपक का फोन बंद आने लगा। 1 नवंबर को दीपक की कार पश्चिमी यमुना नहर के किनारे मिली। कार का एक शीशा टूटा हुआ था। दीपक गायब था। इसके बाद पुलिस ने नहर में दीपक की तलाश की गई। इसके बाद दीपक का शव मिला। पीड़ित परिवार ने हत्या एवं अपहरण का केस दर्ज करवाने के लिए अड़ गए।

जबकि पुलिस भरोसा देती रही कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट और जांच के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी। इसके विरोध में पीड़ित लोगों ने शनिवार को अंबेडकर चौक पर जाम लगा दिया। पुलिस ने पीड़ितों की मांग पर हत्या समेत अन्य धाराएं जोड़ दी गई। कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज में शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

पीड़ित परिवार ने बताया कि पुलिस अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिया कि 16 नवंबर से पहले पूरे मामले की जांच करके दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया जाएगा। इस भरोसे पर उन्होंने अंतिम संस्कार करने का फैसला किया है।

खबरें और भी हैं...