134A लागू करवाने के लिए हाईकोर्ट जाने की तैयारी:बैठक में फैसला, 28 को CM, मंत्री और विधायक निवास पर करेंगे प्रदर्शन

करनाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में नियम 134A को बहाल करवाने के लिए हाईकोर्ट जाने की तैयार की जा रही है। इसके अलावा प्रदेशभर में जागरूकता रैली निकाली जाएगी और 28 मई को सीएम, मंत्री, विधायक निवासों पर प्रदर्शन किया जाएगा। डीसी को काले झंड़े दिखाए जाएंगे। ये फैसले प्रदेश के प्रतिनिधियों की एक बैठक लिए गए। इसकी अध्यक्षता सतवीर सिंह हुड्डा ने की। वर्चुअल चर्चा में जिला जींद अध्यक्ष सुमन चौहान, करनाल से विनोद शर्मा, देवराज नांदल शामिल हुए।

2003 के नियम को 2011 में करवाया था लागू

हुड्डा ने बताया कि प्रदेश में गरीब परिवारों के बच्चों की शिक्षा निजी स्कूलों में हो। 134A के तहत 25 प्रतिशत दाखिले प्राइवेट स्कूलों में होने चाहिए। इसके लिए काफी संघर्ष किया है। इससे पहले उन्होंने हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ी थी। तब जाकर 2003 का नियम 134A वर्ष 2011 में लागू करवाया गया।

इसके बाद 2014 में हुड्‌डा सरकार ने नियम को 25 फीसदी से घटाकर 10 प्रतिशत का नोटिफिकेशन जारी कर दिया था, परन्तु विधानसभा में पारित नहीं किया। इस सरकार ने भी कुछ वर्ष तक 10 प्रतिशत दाखिलों का शेड्यूल रखा।

अब भाजपा सरकार ने 2022 में इसे खत्म करने का नोटिस जारी कर दिया। विरोध को देखते हुए बहाल तो कर दिया। अभी नए दाखिलों का शेड्यूल जारी नहीं किया। इसलिए सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट की अवमानना बनती है।

बैठक में 3 अहम फैसले लिए

बैठक में 3 अहम निर्णय लिए गए 28 मई 2022 को हरियाणा के प्रत्येक जिला में प्रदर्शन किया जाएंगे। डीसी को काले झंडे दिखाए जाएंगे। इसके बाद अगस्त माह में यात्रा निकाली जाएगी। साथ ही पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में नियम 134A लागू करने के लिए जनहित याचिका डाली जाएगी।