पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मरीजों ने बताई परेशानी:ट्रॉमा सेंटर में तैनात स्टाफ नर्स ड्यूटी छोड़कर पार्टी में हुई शामिल, दर्द से कराहते रहे मरीज

करनाल15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल. नागरिक अस्पताल में स्टाफ नर्स नहीं होने पर परेशानी जताते मरीज।
  • पीएमओ ने कहा- मंगलवार को स्टाफ नर्स से मांगा जाएगा स्पष्टीकरण

31 जुलाई को नागरिक अस्पताल के कर्मचारी की रिटायरमेंट पार्टी में ट्राॅमा सेंटर में तैनात स्टाफ नर्स के चले जाने पर मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा। एक घंटे तक ट्राॅमा सेंटर में कोई नहीं था। यहां पर तैनात डाॅ. आशीष ने ही करीब 25 मरीजों का चेकअप किया, लेकिन इंजेक्शन समेत अन्य कागजी प्रक्रिया के लिए मरीजों को इंतजार करना पड़ा। मरीजों ने इसका विरोध भी किया और इस तरह स्टाफ नर्स की लापरवाही पर कड़ी कार्रवाई की मांग की गई। विरोध बढ़ने पर स्टाफ नर्स पहुंची और इलाज शुरू किया।

नागरिक अस्पताल के पीएमओ डॉ. अश्विनी आहुजा ने बताया कि रिटायरमेंट पार्टी में ड्यूटी छोड़कर स्टाफ नर्स के जाने की सूचना मिली है। मंगलवार को ऑफिस खुलने के बाद इनसे स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। डाचर गांव से पूजा ने बताया कि उसके बुजुर्ग पिताजी को झगड़े में चोट लगी है। वह डेढ़ बजे ट्राॅमा सेंटर पहुंची, लेकिन दो बजे तक भी उसके पिता का इलाज नहीं किया गया। स्टाफ नर्स नहीं मिली। डॉक्टर ने उसको जवाब दिया कि निसिंग में ही इलाज करवाओ।

झगड़े के केस को सीधे तौर पर अटेंड नहीं करते। करनाल से आए मरीज हंसराज ने बताया कि उसको पीलिया हो रखा है। उसके पांव में स्वेलिंग आ चुकी है। दर्द बहुत ज्यादा है। डॉक्टर ने चेकअप कर लिया और इंजेक्शन लिख दिया है। स्टाफ नर्स के आने के बाद ही वह इंजेक्शन लगवा पाएगा। उसको भी 40 मिनट परेशानी का सामना करना पड़ा। असंध से आए विनोद ने बताया कि असंध से रेफर होकर करनाल ट्राॅमा सेंटर में पहुंचे।

उसके चाचा के पेट में बहुत दर्द है। वह दर्द से करहा रहा है, लेकिन स्टाफ नर्स नहीं होने के कारण उनको इलाज नहीं मिल पाया। वह डेढ़ बजे ट्रामा सेंटर पहुंचे और सवा दो बजे तक उनको इलाज नहीं मिला। शहर से सावित्री ने बताया कि उसके नवजात पौते को इंजेक्शन लगवाने के लिए आई है। स्टाफ नर्स का इंतजार कर रहे हैं।

लोग बोले- दोपहर का रखा पार्टी टाइम, मरीजों की परेशानी नहीं समझी
नागरिक अस्पताल की महिला कर्मचारी की रिटायरमेंट पार्टी के कारण स्टाफ को बुलाया हुआ था। इसलिए ट्राॅमा सेंटर में तैनात दोनों नर्सें भी पार्टी में एक साथ चली गईं। लोग बोले कि उन्होंने मरीजों की परेशानी को नहीं समझा। ड्यूटी दे रहे डॉ. आशीष ने बताया कि स्टाफ नर्स उसको 10 मिनट के लिए बोलकर गई हैं। सभी मरीजों का चेकअप किया है।

स्टाफ नर्स के पार्टी में जाने की सूचना मिली है
ट्राॅमा सेंटर में तैनात स्टाफ नर्स ड्यूटी के दौरान पार्टी में जाने की सूचना मिली है। उसने पता किया है, उसमें बताया गया है कि वह जल्दी ही आ गई थी। फिर भी ऑफिस मंगलवार को ओपन होंगे, उनसे स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। -डॉ. अश्विनी आहूजा, पीएमओ, नागरिक अस्पताल करनाल ।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें