पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसान आंदोलन:फार्मेसी सिविल इंजीनियरिंग, बीएससी के छात्रों ने लंगर सेवा करने वाले किसानों को परिवार से मिलने घर भेजा

राईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राई. भंडारे में खाना परोसता फार्मेसी का छात्र रीतिक। - Dainik Bhaskar
राई. भंडारे में खाना परोसता फार्मेसी का छात्र रीतिक।
  • पंजाब यूनिवर्सिटी से पहुंचे 63 विद्यार्थी लंगर में पका रहे राजमा-चावल व दाल-रोटी
  • आंदोलन में आए पीयू के विद्यार्थी किसानों से बोले- जब तक आप वापस नहीं आओगे, हम यहां खाना बनाएंगे, आंदोलन अभी लंबा चलेगा

किसान आंदोलन जैसे-जैसे आगे बढ़ रहा है, वैसे-वैसे यहां सेवा करने वालों की तादाद भी बढ़ रही हैं। अब पंजाब यूनिवर्सिटी के 63 विद्यार्थियों की टीम ने कुंडली बॉर्डर पर अलग- अलग लंगरों में खाना पकाने की सेवा शुरू कर दी है। इन छात्रों ने उन किसान भाइयों को घर अपने परिवार से मिलने के भेजा है, जो यहां पिछले 54 दिन से लंगरों में खाना पकाने की सेवा कर रहे थे।

जब इन छात्रों से बात हुई तो बोले कि हम किसान के बेटे हैं। हमें खबर मिल रही थी कि पंजाब के जो किसान लंगर सेवा कर रहे हैं, वे पिछले 54 दिन से अपने घर नही गए थे। वे कुछ दिन अपने परिवार से मिलने गए हैं। हम छात्रों की टीम ने यहां लंगर सेवा संभाल ली है। अभी तो केवल पढ़ाई कर रहे थे।

यहां आकर पता लगा कि आखिर खेत में काम करने वाले किसान के सामने कैसी- कैसी समस्या आती हैं। जब जमीन नही बचेगी तो फिर किसान कैसे बचेगा। यहां लंगर सेवा करने में एक तो किसान भाइयों की मदद हो रही है और दूसरा मन को अटूट शांति मिल रही है। लंगर सेवा में खुद हलवाई बनकर काम कर रहे ये युवा किसान आंदोलन में चर्चित हो रहे हैं।

रीतिक : छात्र फार्मेसी

मैं रीतिक जम्मू सिटी का निवासी हूं। मैं पंजाब यूनिवर्सिटी से फार्मेसी कर रहा हूं। मेरे पिता एक बिजनेस मेन हैं। मैं अपने दोस्तों के साथ कुंडली बॉर्डर पर आंदोलन देखने के लिए आया था। जब यहां आकर देखा तो किसानों के लिए सैकड़ों लंगर लगे हुए मिले। हम दोस्तों ने पहले सोचा कि लंगर सेवा प्रोफेशनल हलवाई कर रहे होंगे।

लेकिन जब ब्रिटिश सिख कांउसिल के लंगर स्थल पर पहुंचे और बात की तो पता चला कि यहां किसान की हलवाई हैं। उन्होंने भी यहां सेवा करने की ठान ली। पिता से फोन पर बात की। उन्होंने भी हामी भर ली। अब तीन दिन से इसी लंगर में भोजन पकाने से लेकर भोजन खिलाने तक की सेवा कर रहा हूं। मन को अटूट शांति मिली है।

मनजिंद्र सिंह : छात्र बीटेक सिविल

मैं मनजिंद्र सिंह पंजाब यूनिवर्सिटी पटियाला से बीटेक सिविल इंजीनियरिंग कर रहा हूं। मेरे पिता परमजीत सिंह संगरूर में 15 एकड़ के जमीदार हैं। मैं भी अपने दोस्तों के साथ यहां आंदोलन आया था। यहां आने से पहले सोचा था कि शाम को वापस आ जाएंगे। यहां आकर मन बदल गया। पापा से फोन पर बात की और बताया कि वह यहां सेवा करना चाहता है। पापा ने हां कर दी।

यहां अब अपने दोस्तों के साथ डेली रसोई में काम कर रहा हूं। मनजिंद्र सिंह ने कहा कि उनके सेमेस्टर के पेपर नजदीक हैं, लेकिन उन्हें पढ़ाई की कोई टेंशन नही है। जब किसान यहां अपने परिवार को छोड़कर आए हुए हैं तो उनकी पढ़ाई को किसानों के संघर्ष के सामने कुछ भी नही है। यदि पेपर न दे सके तो भी कोई मलाल नही होगा। पेपर तो अगले साल दे लेंगे, लेकिन ऐसी सेवा करने का मौका जीवन में बार- बार नही मिलता।

हरविंद्र सिंह गिल : छात्र बीटेक सिविल

मैं हरविंद्र सिंह गिल पटियाला जिला के गांव पातड़ा का रहने वाला हूं। मैं बीटेक सिविल कर रहा हूं। मैं अपने 17 दोस्तों के साथ यहां आया था। जब यहां आया तो पता चला कि कई किसान भाई हैं जिन्हें अपने परिवार से मिलने पंजाब जाना हैं, लेकिन वे यहां लंगर सेवा कर रहे हैं। उन्होंने अपने दोस्तों से बात की और सभी ने लंगर सेवा करने की इच्छा प्रकट की।

अब अपने दोस्तों के साथ 3 दिन से लंगर सेवा कर रहा हूं। हरविंद्र सिंह गिल ने कहा कि जब यहां आकर देखा कि महिलाएं, बच्चे, बूढ़े टेंटों में हैं। कड़ाके की ठंड में भी वे जमीन पर सोने पर मजबूर हैं। यह देखकर दिल को गहरी चोट लगी। ऐसा लग रहा है कि अपने ही देश में किसान बेगाना का सा हो गया हैं। किसान की सुनवाई नही हो रही है और आंदोलन कब समाप्त होगा, इस पर तो अभी कोई विचार तक नजर नही आ रहा है।

पीयू के 63 विद्यार्थी लंगर सेवा कर रहे

किसान नेता गुरतेज सिंह गिल ने कहा कि पंजाब यूनिवर्सिटी के 63 विद्यार्थियों का एक दल 17 जनवरी को यहां आया था। किसान आंदोलन में अब ये विद्यार्थी यहां लंगर सेवा कर रहे हैं। कई विद्यार्थी मुख्य मंच पर व्यवस्था का काम भी देख रहे हैं। कई विद्यार्थी यहां महिला सुरक्षा को लेकर लगी टीम में काम कर रहे हैं। ऐसे भी छात्र हैं जो यहां आईटी विंग को देख रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें