पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Students Will Be Able To Choose The Subject From 9th, Along With Arts, They Can Now Study Science And Commerce Too.

नई शिक्षा नीति:9वीं से विद्यार्थी चुन सकेंगे विषय, आट्‌र्स के साथ अब पढ़ सकेंगे साइंस और कॉमर्स भी

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टीचर्स को पढ़ाने के रोचक तरीकों से लगातार अपडेट करने के लिए दी जाएगी ट्रेनिंग

नई शिक्षा नीति से भविष्य में एजुकेशन सिस्टम में कई बड़े बदलाव नजर आएंगे। 34 साल बाद बनाई गई नई नीति के तहत विद्यार्थी अब नौवीं में सब्जेक्ट चुन सकेंगे। जबकि इससे पहले साइंस, कॉमर्स व ह्यूमेनिटीज जैसी स्ट्रीम ही विद्यार्थियों को लेनी पड़ती थी। स्ट्रीम सिस्टम को अब खत्म कर विद्यार्थी अपनी इच्छा अनुसार स्ट्रीम चुनने का माैका मिलेगा। आर्ट्स के साथ साइंस, कॉमर्स के साथ आर्ट्स जैसे कोई भी मनपसंद विषय लेकर पढ़ाई कर सकेंगे।

अपनी पसंद के सब्जेक्ट लेने पर विद्यार्थियों का सीधा असर उसकी परफार्मेंस पर पड़ेगा। मनपसंद विषय में विद्यार्थी के अंक से परफॉर्मेस में सुधार होगा। वर्तमान में विदेशों में अमेरिका सहित कई देशाें में इसी शिक्षा नीति से पढ़ाई हो रही है। नई शिक्षा नीति के तहत 6 से आठवीं के विद्यार्थियों को वोकेशनल ट्रेनिंग दी जाएगी। प्ले स्कूलों में किताबों की बजाए खेल-खेल में पढ़ाई कराई जाएगी। नई शिक्षा नीति में टीचर्स को केंद्र में रखकर भी बदलाव किए गए हैं। टीचर्स को अब हर एकेडमिक ईयर में 50 घंटे की ट्रेनिंग लेनी होगी। इसका उद्देश्य टीचर्स को पढ़ाने के रोचक तरीकों से लगातार अपडेट रखना है।

इस प्रकार लागू होगी नई शिक्षा नीति
नई शिक्षा नीति में 10+2 के फार्मेट को पूरी तरह खत्म कर दिया गया है। अब इसे 5+3+3+4 फार्मेट में ढाला गया है। इसका मतलब है कि अब स्कूल के पहले पांच साल में प्री-प्राइमरी स्कूल के तीन साल और कक्षा एक और कक्षा 2 सहित फाउंडेशन स्टेज शामिल होंगे। फिर अगले तीन साल को कक्षा 3 से 5 की तैयारी के चरण में विभाजित किया जाएगा। इसके बाद में तीन साल मध्य चरण (कक्षा 6 से 8) और माध्यमिक अवस्था के चार वर्ष (कक्षा 9 से 12)। इसके अलावा स्कूलों में कला, वाणिज्य, विज्ञान स्ट्रीम का कोई कठोर पालन नहीं होगा, छात्र अब जो भी पाठ्यक्रम चाहें, वो ले सकते हैं।

नई शिक्षा नीति में ऑनलाइन शिक्षा को महत्व दिया जाएगा
एक प्राध्यापिका के रूप में मैं हमारे केंद्रीय मंत्रिमंडल के इस निर्णय से बिल्कुल सहमत हूं। मैं सोचती हूं कि हमारे देश का प्रत्येक विद्यार्थी, शिक्षक और हमारी शिक्षा व्यवस्था से जुड़ा हर व्यक्ति इस शिक्षा नीति को लेकर बहुत ही उत्साहित होगा। मेरे नजरिए में इस नीति का सबसे मुख्य बिंदु यह है कि यह नीति आज की इस महामारी के परिवेश को ध्यान में रखकर बनाई गई है। जिस में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को भी महत्व दिया जाएगा ताकि हम भविष्य में इसी तरह की परिस्थितियों का सामना कर पाए।-रिचा रानी, प्राध्यापिका-वाणिज्य राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गुढा, करनाल।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें