पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Target To Bring Karnal To Top 10 In Cleanliness Survey 2021, Municipal Corporation Officials Know Ways To Make The City Clean

तैयारियां शुरू:स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में करनाल को टॉप-10 में लाने का टारगेट, नगर निगम अधिकारियों ने जाने शहर को स्वच्छ बनाने के तरीके

करनाल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को बेहतर बनाने को वर्कशॉप, 6 नपा के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के नतीजों में राष्ट्रीय स्तर पर विशेषकर उत्तर भारत में उत्कृष्टता हासिल करने पर करनाल ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 को लेकर अपनी तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। सोमवार को शहर के डॉ. मंगलसेन ऑडिटोरियम में नगर निगम की ओर से स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 व सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को बेहतर बनाने के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें नगर निगम सहित जिले की सभी 6 नगर पालिकाओं के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

वर्कशॉप में गुरुग्राम स्थित फीडबैक फाउंडेशन के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर अजय सिन्हा ने दो सत्रों में तैयारियों को लेकर क्या-क्या किया जाना है, इस बात की जानकारी दी। पहला सत्र सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को सैद्धांतिक बनाने, दूसरे सत्र में इसकी व्यवहारिकता पर 32 इंडीकेटर्स के माध्यम से समझाने का प्रयास किया गया। वर्कशॉप में डीसी एवं नगर निगम कमिश्नर निशांत कुमार यादव, महापौर रेणु बाला गुप्ता, एसीयूटी नीरज कादियान, ज्वाइंट कमिश्नर गगनदीप सिंह, मुख्य अभियंता रामजी लाल व डीएमसी धीरज कुमार शामिल हुए।

अपने अभिभाषण में अजय सिन्हा ने बताया कि हरियाणा सरकार की ओर से इस तरह की कार्यशालाएं प्रदेश के सभी जिलों में आयोजित की जाएंगी। इससे पूर्व गुुरुग्राम और पलवल में ऐसे आयोजन किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि आगामी स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए मात्र तीन महीने का समय बचा है, इस अवधि में करनाल के लोगों को एकजुट होकर पहले से बेहतर प्रदर्शन कर टॉप 10 में अपना स्थान बनाना है। उन्होंने सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट के सैद्धांतिक पहलू पर बोलते हुए वेस्ट को बेकार की चीज न मानते उसका विस्तृत महत्व समझाया और कहा कि इसी वेस्ट से जुड़े देश के 40 लाख कूड़ा बीनने वालों को रोजगार उपलब्ध हो रहा है।

उन्होंने एक चार्ट के माध्यम से करनाल शहर से प्रतिदिन निकलने वाले कूड़े-कचरे की अलग-अलग रूप में कैल्कुलेशन करते हुए बताया कि प्रतिदिन शहर से निकलने वाले करीब 180 टन कचरे में करीब 90 टन सूखा व 86 टन के करीब गीला कचरा शामिल होता है। डोमेस्टिक, हैजर्ड और ई-वेस्ट कचरा मात्र 2 से 3 टन ही होता है। उन्होंने कहा कि इसके बेहतर प्रबंधन के लिए घर से ही अलग-अलग किया जाना चाहिए, जिसके लिए हरा और नीला दो नहीं, बल्कि लाल और काले रंग के डस्टबिन भी होने चाहिए। सोर्स सैग्रीगेशन से एकत्रित कूड़े-कचरे का ही उचित निस्तारण किया जा सकता है।

सिन्हा ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के तीन घटकों की जानकारी दी, जिसमें बताया कि सर्विस लेवल प्रोग्रेस के 2400, सिटीजन्स वायस (फीडबैक व एंगेजमेंट) के 1800 तथा तीसरे घटक सर्टिफिकेशन (ओडीएफ व गारबेज फ्री स्टार रेटिंग) के भी 1800 यानि सर्वेक्षण के कुल 6000 नंबर निर्धारित किए गए हैं। वर्कशॉप में नगर निगम की ओर से वेस्ट प्रबंधन के तहत रिसाईकिल से तैयार वस्तुओं की एक प्रदर्शनी भी लगाई गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें