पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:पार्षद को गिरफ्तार करने के विरोध में तीन घंटे तक पुलिस और सैकड़ों लोगों के बीच रहा तनाव

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल. पार्षद की गिरफ्तारी के विरोध में लघु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठे महिलाएं व व्यक्ति। - Dainik Bhaskar
करनाल. पार्षद की गिरफ्तारी के विरोध में लघु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठे महिलाएं व व्यक्ति।
  • कोर्ट ने पार्षद को भेजा न्यायिक हिरासत में, बूढ़ाखेड़ा में अवैध काॅलोनी तोड़ने गई डीटीपी टीम पर हमलेे का आरोप
  • सेक्टर-32-33 थाना पुलिस ने पार्षद बलविंद्र पर किया केस दर्ज
  • पीड़ितों का आरोप जब पुलिस गिरफ्तार करने गई तो उनकी बहू बेटियों के साथ बदसलूकी की गई

बूढ़ाखेड़ा के नजदीक अवैध काॅलोनी में िजला योजनाकार द्वारा तोड़फोड़ कार्रवाई को रुकवाने, सरकारी कार्य में बाधा डालने, अधिकारी को जान से मारने की धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किए गए पार्षद बलविंद्र सिंह के पक्ष में सैकड़ों लोग लघु सचिवालय पहुंचे। पुलिस की कार्रवाई को लेकर लेकर प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की गई।

प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों लोगों ने आरोप लगाया कि इस अवैध काॅलोनी काे टारगेट करके तोड़ा जा रहा है। शहर में दर्जनभर कालोनियां हैं, उनमें तोड़फोड़ कार्रवाई नहीं की जाती। सरकार के नुमाइंदे अवैध काॅलोनियों का विस्तार कर रहे हैं। विरोध बढ़ने के कारण लघु सचिवालय के गेट बंद कर दिए गए और तीन घंटे तक पुलिस फोर्स पब्लिक के सामने खड़ी रही।

पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ ज्ञापन देने जा रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने रोक लिया। इससे तनाव की स्थिति बनी रही। पांच से छह लोगों को लघु सचिवालय के अंदर भेजा गया, जो डीसी के नाम डीआरओ को ज्ञापन सौंपकर आए। गिरफ्तार किए गए पार्षद बलविंद्र को बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। पार्षद के पक्ष में तीन से चार पार्षदों को छोड़कर कोई भी मौके पर नहीं पहुंचा।

विरोध जता रहे पार्षद की पत्नी बेअंत कौर, कांग्रेसी नेता विरेंद्र राठौर, त्रिलोचन सिंह, पंकज पुनिया, बसंत राणा, इंद्रपाल सिंह, राज करण, दीपक घरौंडा, सुनील पंवार, गोल्डी, नरेंद्र जोगा, मनिंद्र सिंह, नरेंद्र ने कहा कि पार्षद काे सजा इसलिए मिली कि उसने गरीब लोगों की मदद की। गरीब लोगों के मकान तोड़ दिए गए। वार्ड के पार्षद के नाते बलविंद्र का मौके पर जाना जरूरी था।

इस तरह लोगों की मदद करने में सरकार इस तरह सजा देगी तो वह भी भुगतने को तैयार हैं। लेकिन सरकार ने चुनाव में इसका परिणाम मिलेगा। इस तरह की तानाशाही सरकार हमने कभी नहीं देखी। शहर के विधायक समेत कोई जनता की आवाज सुनने वाला नहीं है। अफसरशाही हावी है। जो गरीबों के मकान पर पंजा चला रही है।

अवैध काॅलोनी की रजिस्ट्री हो रही हैं। बिजली कनेक्शन मिले हुए हैं। वोट कार्ड बने हुए हैं। रजिस्ट्री करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं है। काॅलोनाइजर के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है। मकान बनने पर लोगों के मकान तोड़ने पहुंच जाते हैं। बुढ़ाखेड़ा में जिस कालोनी में तोड़फोड़ की गई है। इस बार इसको टारगेट किया जा रहा है।

जिला योजनाकार के खिलाफ केस दर्ज करवाने की मांग को लेकर थाने में हंगामा : गांव बुढाखेड़ा में अवैध काॅलोनी तोड़ने के दौरान जिला योजनाकार विक्रम सिंह पर भी जातिसूचक शब्द बोलने के आरोप लगे हैं। लोगों ने जिला योजनाकार के खिलाफ सेक्टर-32-33 थाने में शिकायत दी है, लेकिन पुलिस द्वारा केस दर्ज नहीं करने के विरोध में लोगों ने हंगामा किया।

विरोध जता रहे एडवोकेट सोनिया तंवर ने कहा कि जब पार्षद के खिलाफ तुरंत केस दर्ज करके गिरफ्तारी हो सकती है तो जिला योजनाकार के खिलाफ क्यों नहीं केस दर्ज किया जाता। वह थाने से तब तक नहीं जाएंगे, जब तक केस दर्ज नहीं हो जाता। थाने में विरोध जताया जा रहा है। दूसरी तरफ थाना के एसएचओ कंवर सिंह का कहना है कि जिला योजनाकार विक्रम सिंह के खिलाफ शिकायत ले ली है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस कर्मचारी एवं अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग
डीसी के नाम दिए गए ज्ञापन में लिखा है कि पुलिस की तरफ से पार्षद को गिरफ्तार करने का तरीका बिल्कुल गलत था। आधी रात को उनकी बहु-बेटियों के साथ बदसलूकी करके पुलिस ने गुंडागर्दी दिखाई है। पार्षद की पत्नी, बेटियों के साथ पुरुष पुलिस कर्मचारियों द्वारा अमानवीय व्यवहार, मारपीट की गई। मांग की गई है कि इस कार्रवाई में शामिल सभी पुलिस कर्मचारी, अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। निष्पक्ष जांच होने तक इन्हें तुरंत प्रभाव से सस्पेंड किया जाए। ऐसा नहीं किया गया तो करनाल के लोग आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे।

पुलिस ने इन आरोपों में किया पार्षद पर केस दर्ज
जिला योजनाकार विक्रम सिंह की तरफ से शिकायत दी गई है कि बुढ़ाखेड़ा में 6.5 एकड़ में बनी अवैध काॅलोनी में तोड़फोड़ की कार्रवाई की गई। कार्रवाई शुरू की तभी मौके पर पार्षद बलविंद्र सिंह कुछ शरारती तत्वों के साथ तोड़फोड़ की कार्रवाई को रोकने लगे। जब कार्यालय द्वारा तोड़फोड़ की कार्रवाई नहीं रोकी तो पार्षद व उसके साथ मिले हुए शरारती तत्वों ने पहले तो गाली गलाैज की।

उसके पश्चात कार्यालय की टीम व पुलिस फोर्स के ऊपर पत्थर बाजी शुरू कर दी। पत्थरबाजी के दौरान जेसीबी के शीशे भी तोड़े तथा जेसीबी को क्षति पहुंचाई। आरोप लगाया कि पार्षद बलविंद्र सिंह द्वारा आम जन को भड़काना जारी रखा गया। जिससे कार्यालय टीम मुश्किल से अपनी जान बचा पाई। पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा डालने, जिला योजनाकार को जान से मारने की धमकी देना, पब्लिक को भड़काया गया समेत अन्य आरोपों के आधार पर केस दर्ज किया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें