• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • The Father And Daughter Who Came To Demand Justice Were Pushed By The Police In A Private Vehicle, The Video Went Viral

ये कैसा व्यवहार:इंसाफ मांगने आए पिता-पुत्री को धक्के मार पुलिस ने निजी गाड़ी में बैठाया, वीडियो वायरल

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल. लघु सचिवालय से पुलिस जबरदस्ती पिता और बेटी को ले जाते हुए। - Dainik Bhaskar
करनाल. लघु सचिवालय से पुलिस जबरदस्ती पिता और बेटी को ले जाते हुए।
  • एसपी कार्यालय में अपना पक्ष रखने आए पीडि़तों से बदसलूकी
  • एसपी ने दिए जांच के आदेश- पुलिस का ऐसा रवैया विभाग की कार्यशैली पर लगा रहा प्रश्नचिह्न

लघु सचिवालय स्थित एसपी कार्यालय में मारपीट के केस में अपना पक्ष रखने आए एक पिता और उसकी बेटी को पुलिस जबरन धक्के देते हुए गिरफ्तार करके ले गई। लघु सचिवालय में निजी गाड़ी में दोनों को बैठाया गया। इससे पहले पुलिस जवानों की तरफ से सख्ती से पकड़ा गया व्यक्ति इंसाफ की गुहार लगाता रहा और उसकी बेटी इस क्रूरता पर रोती रही, लेकिन पुलिसकर्मियों ने उनकी एक न सुनी और निजी कार में जबरदस्ती बैठाकर साथ ले गए।

इसकी वीडियो भी वायरल हो गई जिसमें लड़की यह कहते हुए साफ सुनाई दे रही है कि उनके खिलाफ मामला दर्ज है, इस मामले में वह एसपी साहब से बात करने आए थे, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही। पुलिस की क्रूरता का मामला जब एसपी गंगाराम पुनिया के समक्ष पहुंचा तो उन्होंने इस तरह गिरफ्तार करने का कारण समेत अन्य पहलुओं पर डीएसपी को जांच के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि यदि कोई मिलने आया था तो उनको पक्ष रखने के बाद भी गिरफ्तार किया जा सकता है। जांच के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि कुरुक्षेत्र के आदर्श नगर निवासी रणबीर की बेटी आरजू की करनाल के जुंडला के शाहपुर में शादी हुई है। कुरुक्षेत्र पुलिस में आरजू की शिकायत पर ससुराल पक्ष के लोगों पर 13 जुलाई 2021 को दहेज प्रताड़ना का केस किया था। आरोप है कि इसके बाद 7 सितंबर को रणबीर, इसकी बेटी आरजु व अन्य लोग शाहपुर आए और ससुराल पक्ष के लोगों के मारपीट करके चले गए।

इस आरोप में 13 सितंबर 2021 में सदर थाना पुलिस ने मारपीट का केस दर्ज किया। इस मामले में रणबीर और इसकी बेटी बुधवार दोपहर को एसपी के पास अपना पक्ष रखने आए। इस दौरान करनाल पुलिस के करीब छह जवान पिता और बेटी को लघु सचिवालय की सीढ़ियाें से जबरन घसीटते हुए नीचे लेकर आए। जबरदस्ती उनको एक निजी गाड़ी में बैठाकर ले गए।

जांच रिपोर्ट के आधार पर लिया जाएगा एक्शन

इस तरह गिरफ्तार करने के मामले में डीएसपी को जांच के आदेश दे दिए हैं। यदि कोई मिलने आया था तो उनको मिलने देना चाहिए था। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगामी एक्शन लिया जाएगा।

-गंगाराम पुनिया, एसपी करनाल।

जांच में शामिल नहीं हो रहे थे : चौकी इंचार्ज

इस मामले में जुंडला चौकी के इंचार्ज मुकेश कुमार ने बताया कि मारपीट समेत अन्य धाराओं में इन पर केस दर्ज है, इनको जांच में शामिल होने के लिए कई बार नोटिस दे चुके हैं, लेकिन जांच में शामिल नहीं होते थे। पुलिस के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं। इसलिए इस तरह गिरफ्तार करना पड़ा।

पिता-बेटी को न्यायिक हिरासत में भेजा

गिरफ्तार किए गए रणबीर और इसकी बेटी आरजु को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। जहां से कोर्ट के आदेश पर दोनों को 14 दिन के न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अब सवाल उठता है कि 13 सितंबर को पुलिस ने केस दर्ज किया था। केवल मारपीट के मामले में 16 दिन के अंतराल में पुलिस ने इस तरीके से गिरफ्तार करना पड़ा। इस तरह की कार्रवाई से पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगा है।

खबरें और भी हैं...