अब गांवों में भी चलाया जाएगा स्वच्छता अभियान:मानकों पर खरा उतरने वाली ग्राम पंचायत को भारत सरकार द्वारा सम्मानित किया जाएगा

करनाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी कंचन लता की अध्यक्षता में गुरुवार को खंड कार्यालय करनाल के सभागार में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण को सफल किर्यावन करने के लिए खंड स्तर के सभी विभागों के अधिकारियों की मीटिंग ली गई। मीटिंग में बीडीपीओ कंचन लता ने सभी विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए कि पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय भारत सरकार स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए एक एसएसजी 2021 एप लांच की गई है। इसमें भारत सरकार द्वारा गांव की स्वच्छता के स्वच्छता के मानक निश्चित किए गए हैं जिसमें जो भी जिला इन सभी मानकों पर खरा उतरता है तो उस जिले की ग्राम पंचायत को भारत सरकार द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

मीटिंग में उन्होंने कहा कि जो भी आपके अधीनस्थ कर्मचारी है उन सभी को अपने-अपने भवन की साफ-सफाई कि व शौचालय की सफाई की जिम्मेदारी उन्हीं के विभाग की रहेगी। उन्होंने बताया कि इसके लिए सभी अपने अपने कार्य स्थलों पर जैसे कि आंगनवाड़ी भवन स्कूल पंचायत भवन सामुदायिक भवन सामुदायिक शौचालय चौपाल गांव की गलियां में साफ सफाई करवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा की आंगनवाड़ी सुपरवाइजर, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर, खंड शिक्षा अधिकारी, शिक्षकों, स्वच्छता ग्राहीयों, ग्राम सचिवों, स्वयं सहायता समूह, गैर सरकारी संगठनों, स्थानीय नेताओं व सक्षम युवाओं को स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में शामिल करना है ताकि हम स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में नंबर वन आ सकें।

इस अवसर पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक राजकुमार संधू स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण ने ग्रामीण क्षेत्र पर काम करने वाले स्वच्छता ग्राहीयों, आशा वर्कर, सक्षम युवाओं को जानकारी देते हुए बताया कि हमारे ग्रामीण क्षेत्र में व्यक्तिगत स्वच्छता पर ध्यान नहीं देते। उन्होंने बताया कि आजकल बच्चों को डायपर लगाने का फैशन बन गया है जोकि बच्चों के स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा असर डालता है।

खबरें और भी हैं...