हरियाणा ITI एडमिशन के लिए शेड्यूल जारी:20 नवंबर तक 4 मेरिट सूची लगेंगी; पहली 11 अक्टूबर को जारी होगी; 80 हजार सीटों पर होने हैं दाखिले

करनाल17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ITI (कौशल विकास एवं प्रशिक्षण विभाग) की ओर से हरियाणा के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में दाखिले का पूरा शेड्यूल जारी कर दिया गया है। आवेदन की अंतिम तिथि 7 अक्टूबर रहेगी। 80 हजार सीटों पर दाखिले किए जाने हैं। आईटीआई के करनाल जिला नोडल अधिकारी सतीश मच्छाल ने बताया कि विद्यार्थियों ने ऑनलाइन आवेदन के दौरान जो दस्तावेज जमा कराए थे, वे ही दाखिले के समय संस्थानों में सत्यापन के लिए लेकर आएं। फार्म भरते समय उन्हीं व्यवसायों का चयन करें, जिनमें वे दाखिला लेना चाहते हैं। अन्यथा दूसरी काउंसिलिंग में जाने के लिए आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा। 20 नवंबर तक 4 काउंसिलिंग में दाखिले होंगे।

प्रत्येक कोर्स की जानकारी पोर्टल पर उपलब्ध
प्रदेश में 414 ITI हैं, 172 राजकीय और 242 प्राइवेट। सभी में दाखिले से संबंधित जानकारियों के लिए हेल्प डेस्क भी स्थापित किए गए हैं। इस बार प्रदेश के कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग ने हाईटेक होने का परिचय देते हुए ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल पर प्रत्येक कोर्स से जुड़ी वीडियो मुहैया कराई हैं। विद्यार्थी कोर्स का चयन करने से पूर्व वीडियो देखकर उस कोर्स की क्षमताओं व महता के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।

लड़कियों के लिए सरकार की विशेष योजना
कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग ने ITI में लड़कियों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में लाने के लिए एक नई योजना शुरू की है। इसके तहत अगर लड़कियां निर्धारित 27 कोर्स में दाखिला लेती हैं तो उन्हें 500 रुपए प्रतिमाह प्रोत्साहन राशि मिलेगी। सरकार ने यह कदम इन ट्रेड में महिला प्रशिक्षणार्थियों के दाखिले को बढ़ाने के लिए उठाया है, ताकि इंडस्ट्री में ज्यादा से ज्यादा महिला कर्मचारियों को काम करने के मौके मिल सकें।

कुल 84 ट्रेड में मिलता है आईटीआई में दाखिला
बता दें कि हरियाणा राज्य में सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 84 ट्रेड चलाई जा रही हैं। महिलाएं इनमें से करीब 25 से 30 ट्रेड में ही ज्यादा दाखिला लेती हैं, जबकि दूसरी ट्रेड में भी रोजगार के अवसर होते हैं। ITI कर चुकी महिला कर्मचारियों की दूसरी ट्रेड में भी मांग रहती है। इंडस्ट्री से जुड़ी इस मांग को पूरा करने के लिए विशिष्ट ITI इंजीनियरिंग ट्रेड में दाखिला लेने पर महिला प्रशिक्षणार्थियों को सरकार ने 500 रुपए प्रोत्साहन राशि देने का फैसला लिया है।

पत्र मिला, योजना लागू है
ITI के जिला कैथल के नोडल अधिकारी सतीश मच्छाल ने बताया कि इस बारे में विभाग ने सत्र 2020-21 और 2021-22 के लिए सभी राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में नियमानुसार प्रोत्साहन राशि की अदायगी तिमाही आधार पर किए जाने के निर्देश दे दिए हैं। इस इस संबंध में पत्र पहुंच चुका है और नए सत्र से उसे लागू भी कर दिया गया है।

इन शर्तों को पूरा करने वाले योग्य पात्र
500 रुपए की प्रोत्साहन राशि उन महिला प्रशिक्षणार्थियों को मिलेगी, जो हरियाणा राज्य की स्थाई निवासी हो। प्रत्येक तिमाही में उसकी कक्षा में हाजिरी कम से कम 80 प्रतिशत हो। यह लाभ परियोजना की समापन तिथि 30 नवंबर 2022 तक ही दिया जाएगा। यह लाभ महिला प्रशिक्षणार्थियों को सभी वर्तमान लाभों के अतिरिक्त होगा।

राजकीय ITI पर रहेगा फोकस
हर साल की तरह इस बार भी विद्यार्थियों के दाखिले का मुख्य फोकस राजकीय ITI और महिला ITI रहेंगे। राजकीय ITI में केवल 45 रुपए प्रतिमाह की फीस पर विद्यार्थियों को विभिन्न तरह के आधुनिक इंजीनियरिंग व नॉन इंजीनियरिंग कोर्स करवाए जाते हैं, जबकि इन्हीं कोर्सों के लिए प्राइवेट ITI संचालक मोटी फीस वसूलते हैं।

कम समय में मिलता है रोजगार व स्वरोजगार
ITI के कोर्स एक तथा दो साल में पूरा हो जाता है। सरकारी ITI में फीस नाममात्र है, जबकि लड़कियों की फीस पूरी तरह माफ है। रेलवे ने सभी पदों के लिए ITI को अनिवार्य किया है। इसके अलावा सेना में विभिन्न सरकारी पदों पर ITI कोर्सों की मांग होती है।

12वीं के लिए देनी होगी मात्र एक विषय की परीक्षा
10वीं के बाद दो साल की ITI करने के बाद विद्यार्थी को हिंदी या अंग्रेजी विषय में से किसी एक विषय की परीक्षा देनी होगी। जिसे पास करने पर हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा विद्यार्थी को 12वीं पास का प्रमाण पत्र मुहैया करवाया जाता है।

खबरें और भी हैं...