पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Two Real Brothers Who Were Bathing In The Bhakra Canal Near Jatpura Village Drowned, The Big One Got Trapped In The Strong Current To Save The Younger One.

मौत का स्नान:जटपुरा गांव के पास भाखड़ा नहर में नहा रहे दो सगे भाइयों की डूबकर मौत, छोटे को बचाने में बड़ा तेज बहाव में फंसा

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जटपुरा गांव के पास नहर मेें दो भाईयों के डूबने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस। - Dainik Bhaskar
जटपुरा गांव के पास नहर मेें दो भाईयों के डूबने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस।
  • नहर में नहाने दौरान एक और दर्दनाक हादसा, एक परिवार दो बेटों की मौत, जून से अबतक आधा दर्जन घटनाएं
  • दो घंटे बाद देर शाम तक गोताखोरों ने दोनों का शव किया बरामद, परिवार और गांव में पसरा मातम
  • झंझाड़ी से पांच किमी. दूर अपने 5-6 दोस्तों के साथ आए थे नहाने

जटपुरा गांव के पास मंगलवार शाम को दोस्तों के साथ नहाने आई दो सगे भाई की भाखड़ा नहर में डूब गए। सूचना पर गांव वाले और पुलिस की टीम पहुंची। गोताखोरों को बुलाकर तलाश कराई गई। रात तक उनके शव बरामद कर लिए गए हैं। घर के दोनों चिराग बुझने से परिवार वालों का रो रो कर बुरा हाल है। अब परिवार में दो बेटियां ही बची हैं।

मंगलवार को शाम को झंझाड़ी गांव निवासी रामकुमार के दो बेटे 20 वर्षीय सावन और 18 वर्षीय आदेश अपने पांच छह दोस्तों के साथ करीब 5 किमी दूर जटपुरा गांव के पास भाखड़ा नहर में नहाने आए थे। दोस्तों ने नहर में नहाना शुरू किया। आदेश ने भी नहर में छलांग लगा दी है।

लेकिन गहरे पानी में चला गया और डूबने लगा तो यह देखकर अन्य दोस्तों के साथ बड़े भाई सावन ने छलांग लगा दी। लेकिन छोटे भाई के पास पहुंचने में वह तेज बहाव में फंस गया और डूब गया। दोनों भाइयों के नहर में डूबने की खबर गांव में पहुंची तो परिजन पश्चिमी यमुना नहर पर पहुंचे, लेकिन वहां पर उनके साथ गए बच्चों में से कोई नहीं मिला।

इसी दौरान उनको पता चला कि दोनों लड़के इस नहर में नहीं जटपुरा गांव के पास भाखड़ा नहर में डूबे हैं। इसके बाद बड़ी संख्या में झंझाड़ी गांव के लोग भी जटपुरा के पास नहर पर पहुंचे। सदर थाना एसएचओ बलजीत सिंह भी पुलिस टीम के साथ पहुंच गए।

पुलिस ने गोतोखोरों की टीम को बुलाया। गोताखोरों के साथ- साथ दोनों गांव के तैरने वाले अन्य लोगों ने भी नहर में उनको खोजा। देर शाम तक गोताखोरों ने दोनों भाइयों की डेडबॉडी बरामद कर ली।

देर रात होते-होते दोनों भाइयों की डेडबॉडी बरामद

सदर थाना प्रभारी बलजीत सिंह ने बताया कि गोताखोरों ने दोनों लड़कों को ढूंढने के लिए जटपुरा पूल के पास सर्च अभियान शुरू कर दिया था। सदर थाना ईएसआई कर्मवीर ने बताया कि गोताखोरों ने देर शाम तक दोनों भाइयों की डेडबॉडी को नहर से बरामद कर लिया। दोनों डेडबॉडी को कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम के लिए पहुंचाया गया।

घर के दोनों चिराग बुझे, परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल, गांव वालों की भी आंखें नम

दोनों सगे भाइयों की नहर में डूबने से मौत होने पर घर के दोनों चिराग बुझ गए। झंझाड़ी गांव के रामकुमार को दो बेटे व दो बेटी हैं। दोनों बेटे नहर में डूबने से सदा-सदा के लिए उनको अकेला छोड़ गए। माता-पिता दोनों को जैसे विश्वास नहीं हो रहा है कि उनके दोनों लाडले अब इस दुनिया में नहीं रहे।

आंखों से अविरल आंसू बह रहे है। बहनों का भी रो-रो कर बुरा हाल हो रहा है। परिजनों का करुण क्रंदन से ग्रामीणों की आंखों में भी पानी भरा है। एक बहन शादीशुदा है और एक बहन फिलहाल पढ़ाई कर रही है। गांव वालों ने बताया कि बड़ा भाई मजदूरी कर परिवार का गुजारता चलाता था, दूसरा फिलहाल बेरोजगार था।

जून माह में भी डूबने कई युवाओं की हो चुकी है मौत, फिर सजगता नही

21 जून को गंगा दशहरे पर यमुना में नहाने गए दो युवकों की मौत हो गई थी। शेरगढ़ टापू गांव के रणजीत 30 और नलीपार के सुनील 26 की डूबने से हो गई थी। इसके अलावा नरूखेड़ी के प्रवीण 23 की डूबने से मौत हो चुकी है।

इसके अलावा अप्रैल माह में घरौंडा क्षेत्र में डूबने से एक युवक की मौत हो गई थी। मंगलवार को झंझाड़ी गांव के दो सगे भाइयों की डूबने से मौत हो गई। प्रशासन को ऐसे हादसों को रोकने के लिए कदम उठाने की जरूरत है। हर बार गर्मियों में नहरों में डूबने युवाओं की मौत हो रही हैं।

अभिभावक नहीं रखते ध्यान, कैथल पुल के पास होते हैं ज्यादा हादसे

गर्मियों के दिनों में अभिभावक बच्चों का ध्यान नहीं रखते। कैथल पुल के पास भाखड़ा और डब्ल्यूजेसी में नहर में सबसे ज्यादा बच्चे नहाने आते हैं। यहां बच्चों की डूबने की कई घटना हो चुकी है। कर्ण लेक के पास भी डब्ल्यूजेसी नहर और पक्के पुल के पास बच्चे नहाने के लिए जाते हैं।

गोताखोर प्रगट सिंह का कहना है कि जहां पर ज्यादा युवक बच्चे नहाने आते हैं, वहां पुलिस गश्त बढ़ानी चाहिए। जिन बच्चों को तैरना नहीं आता, वे भी नहाने के लिए नहर में छलांग लगा देते हैं और डूब जाते हैं।

खबरें और भी हैं...