विज का पंजाब कांग्रेस पर निशाना:बोले- गायकों को बना रहे हैं नेता; इससे पार्टी की ही नैया डूबेगी, किसान आंदोलन अब समाप्ति की ओर

करनाल10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्रकारों से बातचीत करते हुए मंत्री अनिल विज। - Dainik Bhaskar
पत्रकारों से बातचीत करते हुए मंत्री अनिल विज।

हरियाणा के करनाल में पहुंचे गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि किसान आंदोलन खत्म होने की दिशा में बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस दिन कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान किया था उसी दिन किसानों को ‌वापस घर चले जाना चाहिए था। चलो अब छोटे-मोटे मुद्दे हैं जो हल हो जाएंगे। इसके साथ उन्होंने पंजाब कांग्रेस पर भी निशान साधा। उन्होंने कहा कि चुनावों में कांग्रेस की नैया पक्की डूबेगी। जिस ढंग से नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस में सिंगरों को नेता बनाकर जोड़ रहे हैं। इससे कांग्रेस की नैया तो डूबेगी। कैसे डूबेगी ये मैं अभी नहीं बता सकता।

विज से सवाल

सवाल : किसान आंदोलन पर सरकार की तैयारी क्या है?

विज : आंदोलन खत्म होने की दिशा में बढ़ रहा है। सबसे बड़ी बात थी, जो ये जोर-जोर से बोल रहे थे कि जब तक 3 कानून रद्द नहीं होंगे हम घर नहीं जाएंगे। प्रधानमंत्री ने तीन कृषि कानून रद्द करने का ऐलान कर दिया। कायदे से उसी दिन घर जाना चाहिए थे। चलो अब भी छोटे-मोटे मुद्दे हैं, हो जाएंगे हल।

सवाल : कल बैठक विफल रही। इसे किस तरह से देखते हैं

विज : इसको सफल व विफल नहीं कहा जा सकता। पहली बार बैठें हैं। दोनों किस लेवल पर सोच रहे हैं। क्या-क्या सोच रहे हैं। इसी लिए फाइनल नहीं हो पाया। आंदोलन जल्द खत्म होगा।

सवाल : आंदोलन के पीछे कौन है?

विज : किसान आंदोलन की आड़ में राजनीति हो रही है। ये नहीं चाहते हैं देश में शांति हो। देश में कुछ दुश्मन बैठे हैं। अब किसान ने आंदोलन खत्म करने का मन बना लिया है। सरकार भी तैयार है।

सवाल : ओमिक्रॉन को लेकर सरकार कितनी अलर्ट है?

विज : ओमिक्रॉन को लेकर अस्पताल व स्टाफ को अलर्ट कर दिया है। सभी साधन देख लिए। 100 बैड से ज्यादा के अस्पताल में वेंटिलेटर शुरू करवाए हैं। ताकि आईसीयू बन सके। इसके अलावा रोहतक पीजीआई में लैब को शुरू कर दिया है।

सवाल : अजय चौटाला बोल रहे हैं कि राजनीति में कुछ भी संभव है, इनेलो से समझौते का इशारा है ?

विज : पता नहीं किस संदर्भ में वो ऐसा कह गए। राजनीति ज्ञान बांट रहे हैं या अनुभव बांटे रहे हैं। अब सही तो वो ही जानें।

सवाल : निगम के कार्यक्रम का निमंत्रण था, नहीं पहुंचने की कोई खास वजह ?

मंत्री : ऐसा कुछ नहीं है। इशारे से कहा उसको (सीएम मनोहर लाल) आगे दिल्ली जाना था। मैं अभी पहुंचा हूं।

खबरें और भी हैं...