दुनिया के पहले इंजीनियर का बर्थडे:दुनिया के पहले इंजीनियर भगवान विश्वकर्मा की मनाई जयंती

करनालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

घरौंडा में हर्षोल्लास से मनाई विश्वकर्मा जयंती घरौंडा | शहर में भगवान विश्वकर्मा की जयंती बड़े ही हर्षोल्लास व धूमधाम से मनाई गई। शुक्रवार को श्री विश्वकर्मा मंदिर में आयोजित जयंती कार्यक्रम में करनाल के सांसद संजय भाटिया व घरौंडा के विधायक हरविंद्र कल्याण बतौर मुख्यातिथि शामिल हुए। सांसद व विधायक ने भगवान विश्वकर्मा जी के चित्र पर पुष्प माला अर्पण की और फूल चढ़ाकर विश्वकर्मा जी का आशीर्वाद लिया। वही कार्यक्रम में पहुंचे भजन गायकों ने भगवान विश्वकर्मा जी का गुणगान किया। साथ ही भंडारे में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

सांसद संजय भाटिया ने समाज के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान विश्वकर्मा जी के निर्माण के देवता है। जिस जगह हम रह रहे हैं, उसका निर्माण भगवान विश्वकर्मा जी ने किया है। आज विश्वकर्मा जयंती है और कारीगर व समाज इनकी पूजा अर्चना करते है। हमे भगवान विश्वकर्मा जी की शिक्षाओं का अनुसरण करना चाहिए और उनके पदचिन्हों पर चलना चाहिए।

तरावड़ी में विश्वकर्मा जयंती पर लगाया भंडारा

तरावड़ी | विश्वकर्मा दिवस का कार्यक्रम शुक्रवार को शहर के नगरपालिका रोड पर बड़े धुमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर लगाए गए भंडारे में हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। कार्यक्रम सुबह दस बजें हवन के साथ शुरू किया। हवन का कार्यक्रम पुरोहित सतीश शर्मा ने सम्पन्न करवाया। जिसमें समाज के लोगों के साथ यज्ञमान सुरेंद्र जांगड़ा व उनकी पत्नी पूनम ने यज्ञ में आहुतियां डालकर समाज में सुख शांति की कामना की।

इस अवसर पर विश्व कर्मा सभा के अध्यक्ष अमरनाथ जांगड़ा एवं पूर्व जिला अध्यक्ष राजपाल जागड़ा ने कहा कि भगवान श्री विश्वकर्मा के बताए एकता व भाईचारें के रास्ते पर चलकर ही समाज आर्थिक व राजनीतिक रुप में तरक्की कर सकता है। उन्होंने कहा कि आज तक प्रदेश में बनी सभी सरकारों ने इस समाज का प्रयोग केवल वोट लेने के लिए किया। यही कारण है कि आज विश्वकर्मा समाज राजनैतिक रुप से पिछड़ता जा रहा है। इसके बाद समाज के कई अन्य लोगों ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

नीलोखेड़ी | बाबा विश्वकर्मा दिवस के उपलक्ष्य में विश्वकर्मा भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता रामगडिया सभा के अध्यक्ष महिंद्र सिंह बमरा ने की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जन-स्वास्थ्य विभाग के सेवानिवृत अधीक्षक अभियंता रमेश कुमार फुले व वरिष्ठ अतिथि के रूप में व समाजसेवी सतनाम सिंह अहूजा, गुरुद्वारा सिंह सभा के अध्यक्ष रजवंत सिंह जब्बल व नीलोखेड़ी विकास मंच के अध्यक्ष मुलख राज आहूजा ने शिरकत की।

मंच का संचालन बलदेव सिंह जब्बल ने किया। मुख्य अतिथि रमेश कुमार ने कहा कि बाबा विश्वकर्मा जहां सृष्टि के रचयिता थे, वहीं उन्होंने मानवता को एक सूत्र में बांधने का कार्य भी किया। सभा के अध्यक्ष ने कहा कि हमें बाबा जी के दिखाए मार्ग पर चलना चाहिए। इस अवसर पर सुखदेव सिंह भट्ठी, करतार सिंह, कुलविंद्र सिंह जब्बल, पार्षद गुरनाम सिंह, साधा सिंह, मदन धवन, अरविंद्र सिंह जब्बल, देवा सिंह, सुबे सिंह, जगजीत सिंह, सतनाम सिंह मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...