शिक्षा-दीक्षा:आयुष यूनिवर्सिटी ने एमडी और एमएस में दाखिले के लिए 78 सीट की अलॉट, कल से लगेंगी कक्षाएं

कुरुक्षेत्र15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

27 जनवरी से 2 फरवरी तक ऑनलाइन फीस जमा और दस्तावेजों का सत्यापन होगा

डॉक्टर ऑफ मेडिसिन (एमडी) व मास्टर ऑफ सर्जरी (एमएस) में दाखिले के लिए पहले दौर की काउंसलिंग में 78 सीट आवेदकों को आवंटित की गई। चयनित आवेदकों को संबंधित शिक्षण संस्थान में 27 जनवरी से 2 फरवरी तक उपस्थिति दर्ज करानी होगी।

इसी दौरान ऑनलाइन फीस जमा करने और दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा। इसके साथ ही ऑल इंडिया कोटे के तहत आने वाली 12 सीट पर अलॉटमेंट के बाद अभी तक 6 आवेदकों ने उपस्थिति दर्ज कराई है।

ड्राफ्ट एंड काउंसलिंग कमेटी के संयोजक एवं शैक्षणिक मामलों के अधिष्ठाता प्रो. शंभू दयाल शर्मा ने बताया कि आयुष विभाग की गाइडलाइन के अनुसार आयुष विश्वविद्यालय द्वारा एमडी व एमएस में दाखिले के लिए 11 जनवरी से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू की गई थी जिसमें 190 आवेदकों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था।

उन्होंने बताया कि पहले दौर की काउंसलिंग में श्रीकृष्णा राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय एवं अस्पताल की 70 सीटों के लिए आवेदन मांगे गए थे जिसमें 62 सीटों पर विद्यार्थियों को अलॉटमेंट दी गई है।

वहीं चंडीगढ़ धन्वंतरी कॉलेज की 23 सीटों में से 16 पर अलॉटमेंट हुई है। 12 सीट ऑल इंडिया कोटे के अंतर्गत आती हैं, सभी सीटों पर अलॉटमेंट के बाद 6 विद्यार्थियों ने उपस्थिति दर्ज कराई है। काउंसलिंग का दूसरा दौर 6 फरवरी से शुरू होगा। आवेदक आयुष विवि की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन माध्यम से रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

बीएएमएस और बीएचएमएस में दाखिले का तीसरे दौर का शेड्यूल जारी
दूसरे दौर की काउंसलिंग के बाद बीएएमएस और बीएचएमएस में प्रवेश के इच्छुक आवेदक 27 से 31 जनवरी तक ऑनलाइन माध्यम से रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। पीडब्ल्यूडी कैंडिडेट जिनके पास दिव्यांगता का प्रमाण पत्र नहीं है, ऐसे सभी विद्यार्थियों के लिए 30 जनवरी सुबह 10 से एक बजे तक पीजीआईएमएस रोहतक में मेडिकल बोर्ड बैठेगा। जहां से विद्यार्थी अपना दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। सीटों का अंतिम आवंटन 4 फरवरी को होगा। इसके बाद चयनित विद्यार्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन, ऑनलाइन फीस जमा करने और संबंधित शिक्षण संस्थान में 5 से 8 फरवरी तक उपस्थिति दर्ज करानी होगी।

खबरें और भी हैं...