नप में गैर हाजिर टिपर हेल्पर को दिखाया हाजिर:आरोपी सुपरवाइजर को विजिलेंस ने लिया एक दिन के रिमांड पर

कुरुक्षेत्र12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र विजिलेंस की गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र विजिलेंस की गिरफ्त में आरोपी।

स्टेट विजिलेंस अम्बाला की टीम ने नगर परिषद के हेल्पर्स की हाजिरी मेंटेन करने की एवज में दो हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़े आरोपी टिपर हेल्पर सुपरवाइजर राजकुमार को रविवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे एक दिन के रिमांड पर लेकर विजिलेंस उससे पूछताछ कर रही है। पुलिस रिमांड पर अन्य किसी का नाम भी इस खेल में आ सकता है। इधर पैसे लेकर गैर हाजिर को हाजिर दिखाने का खेल नगर परिषद के टिपर हेल्पर्स में कब से चल रहा था। इस खेल पर नकेल कसने के लिए नगर परिषद के आलाधिकारियों को भी जागने की जरूरत है।

सूत्रों के अनुसार न केवल टिपर चालकों-हेल्पर्स बल्कि पैरोल व ठेकेदार के जरिए लगे सफाई कर्मचारियों की गहनता से जांच हो तो वहां भी यह खेल खेलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। नप की तरफ से सुपरवाइजर व दारोगाओं के हाथ में ही हाजिर या गैर हाजिरी रस्टिर में दिखाने की पावर होती है। जिसके चलते इस तरह के खेल खेलने की संभावना रहती है। इधर नगर परिषद में भ्रष्टाचार का शनिवार को मामला सामने आने के बाद विपक्ष और हमलावर हो गया।

कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा ने कहा नप में भ्रष्टाचार को कुरेदने के लिए छोटी मछलियों की बजाए बड़े मगरमच्छों को हाथ डाला जाए, तो इससे भी बड़े-बड़े भ्रष्टाचार सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि नप इस कदर भ्रष्टाचार में डूबी है कि कोई भी काम बिना पैसे के नहीं होता। एनडीसी लेने के लिए तो कई-कई माह लोग धक्के खाते रहते हैं और फिर उन्हें मजबूर होकर दलालों को मोटी रिश्वत देकर काम करवाना पड़ता है।

शनिवार को टिपर हेल्परों की हाजिरी लेने के नाम पर रिश्वत लेते सुपरवाइजर को काबू किया था। स्टेट विजिलेंस इंस्पेक्टर बिमला देवी ने बताया कि आरोपी राजकुमार को रविवार को कोर्ट में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है, ताकि मामले की तह तक जाया जा सके।

खबरें और भी हैं...