नारनौल में ठंड से खराब फसलों का मांगा मुआवजा:किसान महासभा ने CTM को सौंपा मांगपत्र; पाले से सरसों-सब्जियां हुई तबाह

नारनौल10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीटीएम को ज्ञापन देते अखिल भारतीय किसान महासभा के सदस्य - Dainik Bhaskar
सीटीएम को ज्ञापन देते अखिल भारतीय किसान महासभा के सदस्य

हरियाणा के नारनौल में अखिल भारतीय किसान महासभा के आह्वान पर जिला महेंद्रगढ़ के किसानों ने मास्टर धर्मेंद्र यादव के नेतृत्व में सीटीएम को ज्ञापन देकर सर्दी के कारण हुए फसलों में नुकसान की भरपाई की मांग की है। इस मौके पर अनेक गांव के किसान उपस्थित रहे।

सीटीएम को दिए ज्ञापन में अखिल भारतीय किसान सभा के धर्मेंद्र यादव ने बताया कि गत दिनों पड़ी जबरदस्त ठंड के कारण सरसों की फसल में 70 से 80% तक नुकसान हुआ है। वही सब्जियों में भी 70% तक नुकसान हुआ है। ज्ञापन में कहा गया है कि किसान अपनी आजीविका चलाने के लिए बड़ी कठिनाइयों का सामना करते हैं।

सर्दी के अंदर फसलों को पानी देकर किसान फसल उगाते हैं तथा इसी सरसों की फसल से भी अपनी सामाजिक दायित्वों की पूर्ति भी करते हैं। लेकिन इस बार पड़े पाले के कारण किसानों को भारी नुकसान हुआ है।

भावांतर के भी पैसे नहीं मिले

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों बाजरा की खरीद पर सरकार ने भावांतर भरपाई योजना के अंतर्गत पैसे किसानों के खाते में डालने के लिए कहा था, परंतु कुछ किसानों को ही यह पैसा अभी मिला है, बाकी किसानों को पैसा नहीं मिला है। पिछले 2 वर्ष के कपास के खराबे का भुगतान भी किसानों को नहीं मिला है।

इसलिए सरकार से मांग करते हैं कि किसानों की सरसों की फसल की अविलंब गिरदावरी करवाकर कम से कम 50 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा दिया जाए। इसके अलावा किसानों को जो पिछले बकाया है वह भी दिए जाएं। इस मौके पर महेंद्र सिंह, रामेश्वर दयाल, शेर सिंह, सोहनलाल, भूप सिंह, कालूराम और हवा सिंह सहित अनेक किसान उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...