नारनौल में विवाहिता की संदिग्ध हालत में मौत:लहरोदा गांव में फंदे पर लटकी मिली; पति व अन्य पर दहेज हत्या का केस

नारनौल6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

हरियाणा में नारनौल के गांव लहरोदा में एक विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। विवाहिता के ससुराल पक्ष का कहना है कि उसने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली, जबकि मायके पक्ष ने आरोप लगाया है कि ससुराल पक्ष के लोगों ने उसको जान से मारा है। फिलहाल पुलिस ने ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी है।

पुलिस में दी शिकायत में गांव जाटवास के बसंत लाल ने बताया कि उसकी लड़की पूनम की शादी 14 मई 2014 को लहरोदा के प्रदीप से हुई थी। प्रदीप व उसके माता पिता और बहन गाड़ी व सोने की चेन की मांग लगातार कर रहे थे। शादी के समय काफी दान दहेज दिया गया था।

शादी के 6 महीने बाद ही उसकी बेटी पूनम को उसका पति प्रदीप, ससुर बाबूलाल, सास पिस्ता, प्रदीप का भाई संदीप, प्रदीप की बहन ममता और ममता का पति मिलकर रुपयों के लिए परेशान करने लग गए थे तथा गाड़ी की मांग करते थे व मारपीट भी करते थे। गत 17 सितंबर को उसकी बेटी का फोन आया था कि यह सब मुझे परेशान कर रहे हैं तथा मायके से पैसे लाने की कह रहे हैं। तब मैंने उसको समझा दिया थ।

शाम को पूनम के ससुर बाबूलाल का फोन आया और उसने कहा कि उसकी बेटी ने फांसी का फंदा लगा आत्महत्या कर ली है। पुलिस में दी शिकायत में बसंत लाल ने बताया कि उसकी बेटी को उसके पति प्रदीप, ससुर बाबूलाल, सास पिस्ता, देवर संदीप, ननंद ममता व ननदोई ने मिलकर मारा है।