आराेप:दाखिले के नाम पर कोचिंग सेंटर के निदेशक पर 9 लाख रुपए हड़पने का आराेप, केस दर्ज

महेंद्रगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर काेचिंग सेंटर के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी

शहर के एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत देकर जयपुर के एक काेचिंग सेंटर के निदेशक पर 9 लाख रुपए ऐंठने व अपनी बच्ची का एक साल खराब हाेने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर काेचिंग सेंटर के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। शहर के वार्ड-11 गर्वमेंट कॉलेज रोड़ नजदीक मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेण्डरी स्कूल के पास रहने वाले कर्ण कपूर पुत्र रामचन्द्र पाल कपूर ने पुलिस में दी शिकायत में बताया है कि उसने अपनी पुत्री का राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय (एनएलयू) की प्रवेश परीक्षा सीएलएटी की तैयारी के लिए जून 2019 में कलेट प्री एजुकेशन जयपुर में एडमिशन करवाया था।

इस काेचिंग सेंटर के निदेशक अभिषेक चतुर्वेदी व प्रणव मिश्रा है। मेरी लगातार निदेशक प्रणव से बेटी की पढ़ाई के लिए बातचीत होती रहती थी। मार्च में कोरोना की वजह से लॉकडाउन लगने से बच्ची घर से तैयारी करनी लगी। बेटी ने 28 सितंबर 2020 को सीएलएटी की परीक्षा दी। जिसका परिणाम 04 अक्टूबर 2020 को आया। जिसमें बेटी का अच्छा रैंक ना आने पर मैंने प्रणव मिश्रा से राय मांगी तो उन्होंने कहा की कोई दिक्कत नहीं है वाे एनयूएल जोधपुर में एनआरआई कोर्ट में एडमिशन करवा देगा। मैंने पूछा की कैसे होगा? तो उन्होंने बताया कि तीन लिस्ट आने के बाद एनआरआई कोर्ट की सीट जनरल में कन्वर्ट कर देते हैं। कॉलेज की पावर होती है। एनआरआई वाली फीस लेकर 1 नम्बर में एडमिशन करते हैं। मैने उनकी सारी बात मान ली। इस पर मैंने मेरी पत्नी सीमा कपूर के अकाउंट से 50,000 रुपए यूनाे एप से व 750000 रुपए (सात लाख पचास के हजार रुपए) यूटीआर के तहत प्रणव मिश्रा के अकाउंट में डाल दिए। पीड़ित ने बताया कि उसके बाद मेरी बेटी का दाखिला नहीं करवाया। जब प्रणव मिश्रा से वापस पैसे मांगे तो उसने पैसे देने से मना कर दिया। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर आराेपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं...