महेंद्रगढ़ में हैफेड केंद्र पर गुजारी रात:खाद के लिए रात 12 बजे ही आग जलाकर बैठे किसान; फसल बचाने की चिंता

महेंद्रगढ़2 महीने पहले

हरियाणा के महेंद्रगढ़ मे रेलवे रोड पर स्थित हैफेड गोदाम के बाहर यूरिया खाद लेने के लिए महिला व पुरुषों की लंबी-लंबी लाइनें लगी रही। इनमें से कुछ किसान तो रात्रि 12 बजे तो कुछ 2 बजे आकर लाइन में लगे। सर्दी होने के कारण आग के सहारे बैठ कर रात्रि बिताई। शनिवार को भी हमें खाद नई मिला, इस वजह से आज जल्दी आना पड़ा। उन्होंने सरकार से मांग की है कि किसानों को समय पर खाद उपलब्ध कराए जाए।

यूरिया खाद लेने आए महिला व पुरुषों ने बताया कि जब सरसों की बिजाई हुई थी तब डीएपी खाद की कमी थी और अब दोबारा जब सरसों में यूरिया खाद डालने का समय आया तब फिर दोबारा यही परेशानी हो गई। वहीं खाद लेने आए किसान मक्खन लाल खातोद ने बताया कि वह रात्रि 2 बजे खाद बिक्री केंद्र के बाहर सर्दी में लाई लगाकर आग जलाकर उसके सारे बैठा था। क्योंकि शनिवार को भी वह आया था लेकिन उसे खाद नहीं मिला। अगर खाद नहीं मिलता है तो हमारी फसल को बहुत नुकसान होगा।

महेंद्रगढ़ में किसान सुबह 4 बजे ही लाइन लगाकर बैठ गए थे।
महेंद्रगढ़ में किसान सुबह 4 बजे ही लाइन लगाकर बैठ गए थे।

वहीं गांव बुडीन निवासी याद राम ने बताया कि वह रात्रि 12 बजे हैफेड गोदाम के बाहर रात्रि में सोया था। जिसे उसको सुबह जल्दी खाद मिल सके। शनिवार को भी लंबी लाइन होने के कारण उसको खाद नहीं मिला था। उसे खाली हाथ घर लौट ना पढ़ा था।

खाद लेने आई महिलाओं का कहना है कि हम सुबह से ही अपना घर का कामकाज छोड़ कर बिना कुछ खाए पीए ही यहां खाद लेने के लिए लाइन में लगी हुई है। घर में छोटे छोटे बच्चे छोड़कर आई हैं वह कैसे स्कूल जाएंगे। अभी यह भी कुछ नहीं कहा जा सकता कि आज हमें खाद मिलेगा कि नहीं। उन्होंने सरकार से मांग की किसानों को समय पर खाद उपलब्ध कराया जाएगा, जिसे वह अपनी रोटी रोजी चला सके। उनका केवल कृषि से जीवन यापन होता है।

खबरें और भी हैं...